Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > लूडो खेलते समय खांसने पर हुआ विवाद, गुस्साए युवक ने दोस्त को गोली मारी

लूडो खेलते समय खांसने पर हुआ विवाद, गुस्साए युवक ने दोस्त को गोली मारी

लूडो खेलते समय खांसने पर हुआ विवाद, गुस्साए युवक ने दोस्त को गोली मारी
X

ग्रेटर नोएडा। देश और दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस के खतरे के बीच ग्रेटर नोएडा में मंगलवार देर रात लूडो खेलने के दौरान खांसने को लेकर दो दोस्तों में हुआ झगड़ा इतना बढ़ गया कि दूर रहने को कहने पर एक युवक ने अपने दोस्त को तमंचे से गोली ही मार दी। घटना थाना जारचा क्षेत्र के दयानगर गांव की है।

पैर में गोली लगने के बाद घायल युवक प्रशांत लहूलुहान होकर जमीन पर गिर पड़ा। गोली चलने की आवाज सुनकर आसपास के आसपास के लोग मौके पर इकट्ठा हो गए, जिसके बाद घायल युवक प्रशांत को ग्रेटर नोएडा के कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना के बाद आरोपी युवक मौके से फरार हो गया।

घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची जारचा थाना पुलिस इस मामले की जांच में जुटी हुई है। घटना के बाद गांव में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

बता दें कि कोरोना वायरस एक गंभीर संक्रामक रोग है जो कि खांसने और छींकने से फैलता है इसलिए सरकार ने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की है। इसके साथ ही घर से निकलने पर लोगों को फेस मास्क लगाना भी अनिवार्य है ताकि इस बीमारी को फैलने से रोका जा सके। बिना मास्क लगाए घर से बाहर निकलने वाले व्यक्ति के खिलाफ कानूनी कार्रवाई का भी प्रावधान है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाने की मंगलवार को घोषणा करते हुए कहा कि इस महामारी को परास्त करने के लिए यह जरूरी है। प्रधानमंत्री ने राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा कि राज्यों एवं विशेषज्ञों से चर्चा और वैश्विक स्थिति को ध्यान में रखते हुए भारत में लॉकडाउन को अब 3 मई तक और बढ़ाने का फैसला किया गया है। गौरतलब है कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लागू 21 दिन के लॉकडाउन का वर्तमान चरण 14 अप्रैल को समाप्त हो गया है।

पीएम मोदी ने कहा कि अगले एक सप्ताह में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सख्ती और ज्यादा बढ़ाई जाएगी। 20 अप्रैल तक हर कस्बे, हर थाने, हर जिले, हर राज्य को परखा जाएगा कि वहां लॉकडाउन का कितना पालन हो रहा है, उस क्षेत्र ने कोरोना से खुद को कितना बचाया है। मोदी ने कहा कि जो क्षेत्र इस अग्नि परीक्षा में सफल होंगे, जो हॉटस्पॉट में नहीं होंगे और जिनके हॉटस्पॉट में बदलने की आशंका भी कम होगी, वहां पर 20 अप्रैल से कुछ जरूरी गतिविधियों की अनुमति दी जा सकती है। प्रधानमंत्री ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में इस संबंध में राज्यों के साथ हुई अपनी चर्चा का जिक्र करते हुए कहा कि सभी का यही सुझाव है कि लॉकडाउन को आगे बढ़ाया जाए। कई राज्य तो पहले से ही लॉकडाउन को बढ़ाने का फैसला भी कर चुके हैं।

मोदी ने कहा कि 3 मई तक हम सभी को, हर देशवासी को लॉकडाउन में ही रहना होगा। इस दौरान हमें अनुशासन का उसी तरह पालन करना है, जैसे हम करते आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें अधिक संवेदनशील स्थानों (हॉटस्पॉट) को लेकर बहुत ज्यादा सतर्कता बरतनी होगी। जिन स्थानों के हॉटस्पॉट में बदलने की आशंका है, उन पर भी हमें कड़ी नजर रखनी होगी। नए हॉटस्पॉट का बनना, हमारे लिए और चुनौती खड़ी करेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि हम धैर्य बनाकर रखेंगे, नियमों का पालन करेंगे तो कोरोना जैसी महामारी को भी परास्त कर पाएंगे। मोदी ने लोगों से 7 विषयों पर सहयोग भी मांगा जिसमें बुजुर्गों का ध्यान रखने, गरीबों के प्रति संवेदनशील नजरिया अपनाना आदि शामिल है।

Updated : 15 April 2020 8:36 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top