Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > सीएम योगी ने बिना पास आने-जाने का फैसला डीएम पर छोड़ा

सीएम योगी ने बिना पास आने-जाने का फैसला डीएम पर छोड़ा

सीएम योगी ने बिना पास आने-जाने का फैसला डीएम पर छोड़ा
X

नोएडा। कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के चलते गौतमबुद्धनगर जिला एक बड़ा हॉटस्पॉट बना हुआ है। लॉकडाउन-5 में नोएडा-दिल्ली बॉर्डर पर बेरोक-टोक लोग आ-जा सकेंगे या नहीं इसको लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने रविवार को गाइडलाइंस जारी कर दी हैं।

यूपी सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन में नोएडा और गाजियाबाद जिला प्रशासन को इस बात फैसला लेना है कि दिल्ली बार्डर को खोला जाए या नहीं। वैसे बताया गया है कि दिल्ली के हॉटस्पाट से आने वालों को यूपी में इंट्री नहीं मिलेगी। इसके अलवा सोमवार 1 जून से प्रदेश के सभी सरकारी ऑफिस पूरी क्षमता के साथ खुल सकेंगे और बाजार रोटेशन बेसिस पर सुबह 9 से शाम 9 बजे तक खुलेंगे। साथ ही सुपर मार्केट, ब्यूटी पार्लर/सैलून भी खुल सकेंगे। इस दौरान टैक्सी, कैब, ऑटो रिक्शा निर्धारित सवारी क्षमता के अनुसार, सवारी बिठाकर चल चल सकेंगे। रोडवेज बसें चलेंगी। हर सीट पर सवारी बैठ सकेंगी। किसी को खड़ा होकर चलने की अनुमति नहीं होगी। सारे प्रतिबंध अब कैंटेनमेंट जोन तक ही सीमित होंगे।

नोएडा जिला प्रशासन ने 22 अप्रैल से दिल्ली बॉर्डर को सील कर रखा है और दिल्ली की ओर से सिर्फ उन्हीं लोगों को आने दिया जा रहा है, जिनके पास इसके लिए अधिकृत अनुमति है। इस बॉर्डर पर छूट देने की मांग नोएडा और दिल्ली दोनों ही ओर के लोग लंबे समय से उठा रहे हैं, लेकिन अभी तक छूट नहीं मिली है।

एनईए के अध्यक्ष विपिन मलहन तथा आईआईए के अध्यक्ष कुलमणि गुप्ता ने शनिवार को कहा था कि बॉर्डर को शीघ्र खोलने की छूट मिलनी चाहिए, जिसके न खुलने की वजह से यहां पर अभी तक इंडस्ट्री सही से शुरू नहीं हो सकी हैं। साथ ही माल की आवाजाही भी बाधित हो रही है और एक हजार से अधिक इंडस्ट्री के संचालक भी नहीं आ पा रहे हैं। जो दिल्ली और हरियाणा में रहते हैं।

Updated : 31 May 2020 1:46 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top