Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > मुख्यमंत्री ने बांटे नियुक्ति पत्र, कहा- उप्र देश की दूसरी अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर

मुख्यमंत्री ने बांटे नियुक्ति पत्र, कहा- उप्र देश की दूसरी अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर

मुख्यमंत्री ने बांटे नियुक्ति पत्र, कहा- उप्र देश की दूसरी अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर
X

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन एवं राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के सेवायोजित प्रशिक्षणार्थियों को बुधवार को नियुक्ति पत्र वितरित करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि युवा हिम्मत से काम करें। धैर्य रखें। तकनीकी ज्ञान लें। अवसरों की कमी नहीं है। सरकार हर तरह से युवाओं का सहयोग करने को तैयार है। योगी ने कहा कि वर्ष 2016 तक देश की छठवीं अर्थव्यवस्था के रूप में पहचान रखने वाला उत्तर प्रदेश अब देश की दूसरी अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है। यह उपलब्धि भी प्रदेश के युवाओं, उद्यमियों और कामगारों के बल पर ही संभव हो रहा है। इन्हीं के बल पर देश को पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए उत्तर प्रदेश सहयोग दे रहा है।

वृहद् रोजगार मेले के शुभारम्भ के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि नए भारत का नया उत्तर प्रदेश अब अपना स्तंभ खड़ा कर रहा है। य़ह रोज़गार मेला उसी का उदहारण है। पीएम की बागडोर सम्भालने के बाद ही नरेन्द्र मोदी ने अलग-अलग प्रकार के कार्यक्रमों की शुरुआत की। पीएम स्टैंडअप, कौशल विकास, पीएम मुद्रा योजना, हस्तशिल्प के क्षेत्र में बनी योजनायें सबके सामने हैं। पीएम के नेतृत्व मे पिछले पांच साल में पांच लाख को नौकरियां, एक करोड़ 37 लाख रोज़गार, 60 लाख हस्तशिल्पियों और स्वरोज़गार से युवाओं को जोड़ा गया है। इतना ही नहीं उत्तर प्रदेश में पूर्ववर्ती सरकारों में रहने वाली बेरोज़गारी भी अब घटकर सिर्फ 02.70 प्रतिशत पर आ पहुंची है।

स्वरोज़गार को बढावा

गोरखपुर स्थित मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय में आयोजित रोज़गार मेले को संबोधित करते हुए आदित्यनाथ ने कहा कि नियुक्ति पत्र पाने वाले युवा अब अपनी राह बनाने की कोशिश में हैं। प्रदेश के हर क्षेत्र के कामगार और हुनरबाज लगातार ऐसे ही आगे बढ़ रहे हैं। उन्हें मौका मिल रहा है। यही वज़ह कि उत्तर प्रदेश में सरकार बनते ही हमने 80 हजार करोड़ की योजनाओं को धरातल पर उतारा। स्वरोज़गार को बढावा दिया जा रहा है। सस्ते दर पर लोन उपलब्ध कराया जा रहा है।

एक जिला एक उत्पाद

उन्होंने कहा कि वे एक जिला एक उत्पाद के अंतर्गत हमने टेराकोटा को देखा। मदन मोहन मालवीय विवि के ड्रोन को भी देखने का अवसर मिला। य़ह एक बड़ी उपलब्धि है। इस विवि को ग्रेडिंग मिली। इसके लिए यहां के कुलपति और विवि प्रशासन को बहुत बहुत बधाई। उन्होंने ड्रोन को किसानों के लिए वरदान बताया। उन्होंने कहा कि ड्रोन से कीटनाशकों और दवाओं के छिड़काव से किसानों का स्वास्थ अब प्रभावित नहीं होगा। एक एकड़ क्षेत्रफल में छिड़काव भी करना आसान होगा। अब पूरे दिन का काम सिर्फ 10 मिनट में हो जाएगा।

दस हजार नौजवानों को मिला रोज़गार

बुधवार को आयोजित रोज़गार मेले में पूर्वांचल के 10 हजार युवा और युवतियों को रोज़गार मिला। सेवा योजन, कौशल विकास और लघु, सूक्ष्म और मध्यम उद्यम विभाग द्वारा आयोजित इस रोज़गार मेले में देश-विदेश की 136 कंपनियों ने भागीदारी की। इन्होंने 1800 रिक्तियों के लिए युवाओं की परीक्षा ली। इनमें पूर्वांचल के अधिकांश जिलों के युवाओं ने शिरकत की। इन्होंने प्रदेश की 304 राजकीय आईटीआई और 3000 प्राइवेट सेक्टर के आईटीआई से प्रशिक्षण ले रखा था।

नियुक्ति पत्र वितरित

मुख्यमंत्री ने विभिन्न कंपनियों में नौकरियां पाने वाले युवक और युवतियों को नियुक्ति पत्र भी बांटे। इनमें कुमारी पूजा, नूरजहां, शिवहरी, गौतम तिवारी, दिव्या पाठक, सुनील कन्नौजिया, गीतांजलि शर्मा, अंकित कुमार शर्मा, विवेक त्रिपाठी, नूर आलम, आदित्य मद्देशिया, सुमित कुमार दूबे, सूरज यादव, सूरज कुमार आधी शामिल रहे। मुख्यमंत्री ने चयनित युवाओं को स्वरोज़गार के लिए लोन के चेक भी बांटे। मुख्यमंत्री के हाथों ऋण चेक प्राप्त करने वालों में ऋषिकेश यादव, मुहम्मद जमशेद खान, सनी शर्मा, अभिषेक कुमार जायसवाल, आदित्य कुमार जायसवाल, नईम अहमद, सरोज अली, राका दीपा जोसेफ, राशिद जफर शामिल रहे।

Updated : 3 Aug 2022 11:13 AM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top