Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > सामाजिक दूरी के बीच बम-बम भोले के उद्घोष से गूंज उठे शिवालय

सामाजिक दूरी के बीच बम-बम भोले के उद्घोष से गूंज उठे शिवालय

कई एतिहासिक मंदिरों में भी पांच-पांच की संख्या में लोगों ने की पूजा-अर्चना

सामाजिक दूरी के बीच बम-बम भोले के उद्घोष से गूंज उठे शिवालय

हमीरपुर। सावन मास के चौथे सोमवार को जनपद के ऐतिहासिक शिव मंदिर में बम-बम भोले के उद्घोष से गूंज उठे। कोरोना वायरस महामारी को लेकर लोग शिवालयों में पूजा अर्चना करने में काफी सावधानी बरती गयी। सामाजिक दूरी का पालन कराने के लिये महिला और पुरुष सिपाही मंदिरों के बाहर ड्यूटी पर मुस्तैद है।

हमीरपुर शहर से करीब छह किमी दूर मेरापुर गांव के बाहर यमुना नदी किनारे स्थित संगमेश्वर मंदिर में गांव और आसपास के लोगों ने दूध, दही और शहद से जलाभिषेक कर शिव लिंग की विधि विधान से पूजा की। इस मंदिर का इतिहास एक हजार साल पुराना है। यमुना नदी तट पर ये मंदिर अपनी भव्यता के लिये आसपास के तमाम इलाकों में विख्यात है।

कहते हैं कि हमीरपुर में सूखे की काली छाया पड़ने पर इस मंदिर में स्थानीय जनता ने यमुना नदी के जल से करीब पांच घंटे तक जलाभिषेक किया था जिसके कारण रात में बारिश हो गयी थी। आज सावन मास के चौथे सोमवार के दिन इस मंदिर में लोग बड़े ही श्रद्धा भाव से पूजा अर्चना कर रहे हैं। कोरोना के कारण मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ नहीं एकत्र हुयी है।

इधर हमीरपुर शहर के पतालेश्वर मंदिर में भी श्रद्धालुओं ने पांच-पांच की संख्या में शिवलिंग की पूजा की। लोगों में कोरोना का डर देखा जा रहा है। मंदिर के बाहर पूजन सामग्री की दुकानें भी नहीं लगी। यमुना पुल पार बीबीपुर गांव में गौरीशंकर मंदिर में भी गांव के तमाम लोगों ने सामाजिक दूरी का पालन करते हुये भगवान भोले नाथ की पूजा की है। जनपद के तमाम छोटे-बड़े मन्दिर और शिवालायों में सावधानी बरतते हुए श्रद्धालुओं ने पूजा-अर्चना की।

Updated : 27 July 2020 6:02 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top