Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > बांदा जेल पहुंचते ही आजमगढ़ पुलिस करेगी मुख्तार अंसारी का वारंट से 'स्वागत"

बांदा जेल पहुंचते ही आजमगढ़ पुलिस करेगी मुख्तार अंसारी का वारंट से 'स्वागत"

मुख्तार के आजमगढ़ आते ही आजमगढ़ पुलिस उसे गैंगेस्टर कोर्ट में पेश करने के लिए वारंट-बी का तामिला कराएगी।

बांदा जेल पहुंचते ही आजमगढ़ पुलिस करेगी मुख्तार अंसारी का वारंट से स्वागत
X

  • बाहुबली मुख्तार अंसारी पर एक और आफत, बांदा जेल पहुंचते ही वारंट लेकर पहुंच जाएगी आजमगढ़ पुलिस
  • पिछले कई महीने से मुख्तार को गैंगेस्टर कोर्ट पेश करने की कोशिश में जुटी है आजमगढ़ पुलिस
  • दो बार पंजाब भी गयी थी पुलिस लेकिन मुख्तार को आजमगढ़ लाने में नहीं मिली थी सफलतार्

आजमगढ़: बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की मुश्किलें कम होने वाली नहीं हैं। सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद आठ अप्रैल को मुख्तार को यूपी की बांदा जेल में शिफ्ट करने की तैयारी चल रही है। मुख्तार के आजमगढ़ आते ही आजमगढ़ पुलिस उसे गैंगेस्टर कोर्ट में पेश करने के लिए वारंट-बी के जरिए उसे कोर्ट में लाने का प्रयास करेगी। आजमगढ़ पुलिस को उम्मीद है कि बांदा से वह मुख्तार को आजमगढ़ लाने में इस बार सफल होगी।

बता दें कि तरवां थाना क्षेत्र के ऐराखुर्द में सड़क निर्माण के दौरान वर्चश्व की लड़ाई में बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के लोगों द्वारा अंधाधुंध फायरिंग की गयी थी। जिसमें मजदूर की मौत हो गयी थी। जबकि एक मजदूर घायल हो गया था। ठेकेदार ने इस मामले में तरवां थाने में मुख्तार और उसके साथियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। इस मामले की विवेचना मेंहनगर थानाध्यक्ष प्रशांत कुमार को सौंपी गयी थी।

योगी सरकार ने अपराधियों के खिलाफ काार्रवाई शुरू किया तो मुख्तार को टाप टेन अपराधियों की सूची में शामिल किया गया। इसके बाद से ही मुख्तार और उसके करीबियों के खिलाफ कार्रवाई जारी है। तरवां कांड में पुलिस ने पिछले दिनों मुख्तार और उसके 10 सहयोगियों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई थी। उसी दौरान मुख्तार को पंजाब के रोपण जेल भेज दिया गया था।

पुलिस ने मुख्तार को कई बार गैंगेस्टर कोर्ट में पेश करने का प्रयास किया लेकिन पंजाब सरकार और प्रशासन से मदद नहीं मिली। मुकदमे के विवेचक तत्कालीन एसओ मेंहनगर व वर्तमान में स्वाट टीम प्रभारी प्रशांत श्रीवास्तव कई बार पंजाब के रोपण जेल वारंट बी ले कर गए थे, लेकिन हर बार मुख्तार द्वारा मेडिकल लगा कर पेशी से बचने का प्रयास किया गया।

अब सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद मुख्तार का यूपी के बादा जेल आना तय हो गया है। इसके बाद जिले की पुलिस एक बार फिर सक्रिय हो गयी है। मुख्तार के बांदा पहुंचते ही आजमगढ़ पुलिस वारंट बी का तामिला कराएगी। फिर उसे गैंगेस्टर कोर्ट में पेश किया जाएगा। स्वाट टीम प्रभारी प्रशांत श्रीवास्तव ने बताया कि मुख्तार के यूपी में आते ही उसकी पेशी के लिए वारंट बी तामील करा दिया जाएगा। हमारा प्रयास होगा कि उसे जल्द ही कोर्ट में पेश किया जाय।

Updated : 2021-04-05T17:33:53+05:30
Tags:    

Swadesh Lucknow

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top