Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > मथुरा > बच्चे स्कूल गए ही नहीं तो फिर फीस किस बात की, अभिभावकों के तर्क से सहमत है जनप्रतिनिधि

बच्चे स्कूल गए ही नहीं तो फिर फीस किस बात की, अभिभावकों के तर्क से सहमत है जनप्रतिनिधि

बच्चे स्कूल गए ही नहीं तो फिर फीस किस बात की, अभिभावकों के तर्क से सहमत है जनप्रतिनिधि


मथुरा। छात्र अभिभावक कल्याण संघ द्वारा प्रदेश में प्राइवेट स्कूलों को लेकर परेशान अभिभावकों ने प्राइवेट स्कूलों के प्रबंधको द्वारा अभिभावकों पर फीस को लेकर दबाव बनाने को लेकर निरंतर परेशान किया जा रहा है। इस विषय को लेकर संघ के एक प्रतिनिधि मंडल ने उत्तर प्रदेश सरकार में व्यापार कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष रविकांत गर्ग व बलदेव क्षेत्र के विधायक पूरन प्रकाश से मिलकर एक ज्ञापन सौंपा गया। सभी ने अपनी अपनी समस्या बताते हुए कहा कि जब हमारे बच्चे स्कूल गए ही नहीं फिर फीस किस बात की दी जाए। वहीं व्यापार कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष रविकांत गर्ग व बल्देव क्षेत्र के विधायक पूरन प्रकाश ने अभिभावकों को आश्वासन दिया कि आप की बात जायज है और हम भी प्रयासरत है कि जब जनता के पास पैसा ही नहीं है फिर वह फीस कहा से दें। इस बात को लेकर वह प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व उप मुख्यमंत्री दिनेश चंद शर्मा व शिक्षा मंत्री से बात कर समस्या का समाधान कराएंगे। इस अवसर पर संघ के संस्थापक शशि भानु गर्ग, हेमेंद्र गर्ग ने बताया कि आज भारत में तीन माह से महामारी के कारण अभिभावक व व्यापारी वर्ग इतना परेशान है कि अपने बच्चो को कैसे-कैसे पाल रहा है और स्कूल प्रबंधन अपनी हठधर्मिता पर अड़ा हुआ है। मौके पर मौजूद लोगों में जगत बहादुर अग्रवाल, अंकुर बंसल, अनिल बंसल, अशोक वाष्र्णेय, महेश वाष्र्णेय, राजीव मित्तल, विजय प्रकाश, विनीत प्रकाश, तीरथ राज उमेश गर्ग, चतुर्भुज गौतम, राजू राजपूत, नन्दलाल, रवि यादव, कुश अग्रवाल, चंदन सैनी, धीरज यादव, अनिल ठाकुर, राज आर्यन आदि उपस्थित रहे।

Updated : 2020-06-28T20:07:14+05:30

स्वदेश मथुरा

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top