Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > नई नीतियों से उत्तर प्रदेश को उद्यम प्रदेश बनाने के लिए योगी सरकार अग्रसर

नई नीतियों से उत्तर प्रदेश को 'उद्यम प्रदेश' बनाने के लिए योगी सरकार अग्रसर

नई नीतियों से उत्तर प्रदेश को उद्यम प्रदेश बनाने के लिए योगी सरकार अग्रसर
X

लखनऊ। यूपी में योगी सरकार उद्योग को बढ़ावा देने के लिए नए-नए प्रयोग कर रही है। नई नीतियों से उत्तर प्रदेश को 'उद्यम प्रदेश' बनाने के लिए लगातार काम हो रहा है। इन नीतियों का उद्योगपति भी समर्थन और सराहना कर रहे हैं।

बीते दिन जर्मनी की फुटवियर कंपनी वॉन वेलेक्स ने चीन से अपना कारोबार समेट कर यूपी के आगरा में नई यूनिट शुरू की। इस पर 'महिंद्रा समूह' के मुखिया आनंद महिंद्रा ने इसे बूंद-बूंद एकत्र होकर 'अच्छी बाढ़' के रूप में तब्दील होने का संकेत बताया।

महिन्द्रा ने ट्वीट कर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जर्मन कम्पनी का चीन से आगरा आना, ताजे पानी की छोटी-छोटी बूंदों जैसा है। धीरे-धीरे ये बूंदे पतली धार का रूप लेगी और फिर एक तेज धार वाले विकास के रूप से होते हुए बाढ़ में परिवर्तित होंगी। निवेश और विकास की इस 'अच्छी बाढ़' को ऐसे ही आने देना चाहिए। इन्वेस्ट इंडिया इस काम में उत्प्रेरक हो सकता है।

आपको बता दें कि, कोरोना वायरस महामारी के बीच जर्मनी की फुटवियर कंपनी वॉन वेलेक्स ने उत्तर प्रदेश के आगरा में अपनी जूता बनाने की दो यूनिट शुरू की हैं। अभी तक कुल 2000 लोगों को इन यूनिट में रोजगार मिला है। वॉन वेलेक्स कंपनी अभी यूपी की तीन परियोजनाओं में लगभग 300 करोड़ रुपए का निवेश करेगी।

कंपनी का दावा है कि इससे 10 हजार लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। जबकि यूनिट्स सालाना 50 लाख जोड़े जूते का उत्पादन करेंगी। इन यूनिट की स्थापना एक्सपोर्ट प्रमोशन इंडस्ट्रियल पार्क आगरा में भारत के इआट्रिक इंडस्ट्रीज ग्रुप के साथ साझेदारी में की गई है। इन दोनों यूनिट में कुल 2,000 रोजगार के अवसर सृजित हुए हैं तथा 50 लाख जोड़ी जूतों की सलाना उत्पादन क्षमता है।

कोविड-19 के बाद के कालखंड में यूपी के लिए यह एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है, जिसमें मात्र पांच माह के अल्प समय में निवेश-प्रस्ताव क्रियान्वित होकर उत्पादन भी प्रारम्भ हो गया है। वॉन वेलेक्स द्वारा 10,000 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में जेवर (यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण) में दिसंबर 2020 तक एक नई उत्पादन इकाई स्थापित किए जाने की संभावना है, जबकि कोसी-कोटवान, मथुरा में 7.5 एकड़ में एक और विनिर्माण यूनिट प्रस्तावित है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की निवेश फ्रेंडली बनीतियों के चलते राज्य और संघ शासित प्रदेशों की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (ईओडीबी) रैंकिंग में इस बार उत्‍तर प्रदेश ने लंबी छलांग लगाई है। वह रैंकिंग में 10 पायदान उछलकर दूसरे नंबर पर पहुंच गया है। ऐसा करने में उसने महाराष्‍ट्र, गुजरात, तेलंगाना और राजस्‍थान जैसे कई प्रमुख राज्‍यों को पीछे छोड़ा है। इस रैंकिंग में यूपी अब केवल आंध्र प्रदेश से पीछे है। औद्योगिक जगत की जरूरत के अनुसार जरूरी बदलावों के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रतिबद्धता जगजाहिर है।

Updated : 6 Nov 2020 7:25 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top