Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > औरैया हादसे पर पक्ष और विपक्ष ने क्या कहा, जानें

औरैया हादसे पर पक्ष और विपक्ष ने क्या कहा, जानें

औरैया हादसे पर पक्ष और विपक्ष ने क्या कहा, जानें

लखनऊ। औरैया हादसे पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने सरकार पर निशाना साधा है। अखिलेश ने जहां हादसे में मारे गए मजदूरों की मौत पर दुख जताते हुए कहा है कि यह हादसा में मृत्यु नहीं बल्कि हत्या है। वहीं मायावती ने सीएम योगी आदित्यनाथ से दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्टीट करते हुए मजदूरों की मौत को अवर्णनीय दुख बताया है। उन्होंने ट्वीट किया, 'उत्तर प्रदेश के औरैया में सड़क हादसे में 24 से भी अधिक ग़रीब प्रवासी मज़दूरों की मौत पर अवर्णनीय दुख। घायलों के लिए दुआएं।

मजदूरों की मौत पर शोक जताने के अलावा अखिलेश ने सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने लिखा, 'सब कुछ जानकर... सब कुछ देखकर भी... मौन धारण करने वाले हृदयहीन लोग और उनके समर्थक देखें कब तक इस उपेक्षा को उचित ठहराते हैं। ऐसे हादसे मृत्यु नहीं हत्या हैं।'

मायावती ने कहा कि कल ही यूपी के सीएम ने बयान दिया था कि जो भी मजदूर यहां आएंगे या यहां से गुजरेंगे, अधिकारी उनके ठहरने, खाने, सुरक्षा की पूरी व्यवस्था करेंगे। लेकिन दुख की बात है कि सीएम के दिशानिर्देशों को अधिकारी गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। जिसकी वजह से आज औरैया में बहुत बड़ा हादसा हुआ। उन्होंने कहा, 'मैं मुख्यमंत्री से उन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करती हूं जिन्होंने अपनी जिम्मेदारियों को पूरा नहीं किया। इस दुर्घटना में मारे गए या घायल हुए लोगों के परिवारों को वित्तीय सहायता प्रदान की जानी चाहिए। मैं शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करती हूं।'

हादसे में मारे गए प्रवासी मज़दूरों के परिवारों के लिए अखिलेश यादव ने 1 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान किया है। अखिलेश ने कहा है कि

नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए निष्ठुर बीजेपी सरकार भी प्रति मृतक के परिवार को 10 लाख रु की राशि दे।

आपको बता दें कि अखिलेश यादव लगातार मजदूरों के पैदल, साइकल और कठिनाइयों का सामना करते हुए घऱ वापसी पर लगातार सरकार पर हमला कर रहे हैं। उन्होंने पंजाब से बिहार लौट रहे मजदूरों के साथ यूपी में हुए हादसे पर भी दुख जताया था। साथ ही उन्होंने सरकार पर सवाल उठाए थे। अखिलेश ने पूछा था कि गरीब मजदूरों की जिंदगी इतनी सस्ती क्यों है, उन्हें वंदे भारत मिशन से क्यों नहीं लाया जा सकता?

अखिलेश यादव लगातार केंद्र और राज्य सरकार पर निशाना साध रहे हैं। इससे पहले उन्होंने लिखा, 'पहले 15 लाख का झूठा वादा और अब 20 लाख करोड़ का दावा...अबकी बार लगभग 133 करोड़ लोगों को 133 गुना बड़े जुमले की मार...ऐ बाबू कोई भला कैसे करे एतबार...अब लोग यह नहीं पूछ रहे हैं कि 20 लाख करोड़ में कितने ज़ीरो होते हैं बल्कि यह पूछ रहे हैं उसमें कितनी गोल-गोल गोली होती हैं।'

Updated : 16 May 2020 4:54 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top