Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > बजट के माध्यम से प्रदेश के विकास को आगे बढ़ाने का कार्य किया : मुख्यमंत्री

बजट के माध्यम से प्रदेश के विकास को आगे बढ़ाने का कार्य किया : मुख्यमंत्री

बजट के माध्यम से प्रदेश के विकास को आगे बढ़ाने का कार्य किया : मुख्यमंत्री
X

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के बजट 2021-22 पर चर्चा के दौरान विधानसभा में बुधवार को कहा कि इसके माध्यम से प्रदेश के विकास को आगे बढ़ाने का कार्य किया गया है। विजन के साथ विकास का रोडमैप तैयार किया गया है। वहीं उन्होंने प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी पर कटाक्ष करते हुए कहा ​कि उनके बजट में प्रदेश के विकास, दूरदर्शिता की कोई भावना नहीं होती थी। मुख्यमंत्री ने चार्वाक सिद्धान्त का जिक्र करते हुए कहा कि सपा का हमेशा तात्कालिक रूप से कुछ हासिल करने का भाव रहता था। उन्होंने कहा वहीं वर्तमान सरकार के बजट की प्रदेश ही नहीं देश स्तर पर भी सराहना की गई है।

मुख्यमंत्री ने रामधारी दिनकर की कविता की पंक्तियां सुनाते हुए कहा, 'विपत्ति जब आती है, कायर को ही दहलाती है। सूरमा नहीं विचलित होते, क्षण एक नहीं धीरज खोते। विघ्नों को गले लगाते हैं, कांटों में राह बनाते हैं मुंह से न कभी उफ कहते हैं।' उन्होंने कहा कि ये कविता बजट के परिवेश में देश और प्रदेश के बजट के परिप्रेक्ष्य में अक्षरश: सही बैठती है। उन्होंने कहा कि हम लोगों ने बिना विचलित हुए इसका अनुसरण किया।

समाजवादी पार्टी के बजट में इस तरह का नहीं होता था दृष्टिकोण -

मुख्यमंत्री ने नेता विरोधी दल राम गोविन्द चौधरी की ओर इशारा करते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी के बजट में भारतीय परिपेक्ष्य में इस तरह का दृष्टिकोण नहीं होता था, जो सर्वसमावेशी, सर्व कल्याणकारी व प्रदेश के विकास को एक नई ऊंचाइयों पर पहुंचाने वाला हो। उन्होंने कहा कि सपा केवल चार्वाक सिद्धान्त यावत् जीवेत् सुखम् जीवेत्। ऋणं कृत्वा घृतं पिबेत् (जब तक जीओ सुख से जीओ, उधार लो और घी पीयो।) पर विश्वास करती थी। इनका एक भाव होता था तात्कालिक रूप से मिल जाए।

सपा के बजट में विकास की नहीं होती थी भावना -

मुख्यमंत्री ने कहा कि ना उसमें प्रदेश की भावना होती थी, ना विकास का एजेंडा होता था और ना ही कोई प्रदेश के लिए कोई दूरदृष्टि का एजेंडा ही उसके अंदर छिपा होता था। उन्होंने कहा कि इसलिए हर एक तबका नाराज होता था और हर एक तबके ने उसका जवाब भी दिया है।

सभी ने की बजट की सराहना -

मुख्यमंत्री ने कहा कि बजट पर विभिन्न विशेषज्ञों की ओर से मिली सकारात्मक प्रतिक्रिया भी सदन में जिक्र किया। उन्होंने कहा कि सभी ने इसकी सराहना की है। उन्होंने कहा कि तात्कालिक आवश्यकता के लिए बनाई जाने वाली योजनाएं ना पार्टी और ना प्रदेश का हित कर सकती हैं। हमने विजन के साथ विकास का रोडमैप तैयार किया है और उस रोड मैप के अनुसार हम लोग ने विकास के एजेंडे को लागू किया है। यही हमारी पार्टी को और प्रदेश को एक नई ऊंचाई दे रहा है। इससे पार्टी को लम्बे समय तक शासन करने के लिए और प्रदेश को विकास की नई व्यवस्था से जुड़ने में मदद मिलेगी।

सरकार की कार्य योजना सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ रही -

मुख्यमंत्री ने यह वह लोग हैं जिनका राजनीति से लेना-देना नहीं है। विभिन्न तबके के अलग-अलग लोगों ने बजट पर अपनी सकारात्मक प्रतिक्रिया व्यक्त की है। यह प्रतिक्रिया इस बात को बताती है कि सरकार की कार्य योजना एक सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ रही है और सकारात्मक माहौल में कार्य कर रही है। ऐसे में इसके परिणाम भी स्वभाविक रूप से सकारात्मक ही होंगे।

पहला बजट किसानों को था समर्पित -

उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्षों के दौरान जो कार्य किए गए हम सब जानते हैं प्रदेश के अंदर ये कार्य सालों में नहीं हो पाए। अब रास्ते पर आते हुए दिखाई दिए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने जब अपना पहला बजट 2017-18 में पेश किया था, तब इसे किसानों को समर्पित किया गया था। इसके बाद 2018-19 का बजट हम लोगों ने प्रदेश के औद्योगिक विकास को समर्पित किया। एक जिला एक उत्पाद योजना, जो देश के लोकप्रिय योजना बन गई है, वह उसी समय हम लोगों ने फरवरी 2018 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कर कमलों से प्रदेश के अंदर लागू की थी। आज इसके बेहतर परिणाम आए हैं। प्रदेश का निर्यात बढ़ा है। परम्परागत उद्योग एक बार फिर से पुनर्जीवित होते हुए दिखाई दिए हैं।

2019-20 का बजट मातृ शक्ति को था समर्पित -

इसके जरिए रोजगार और विकास की एक नई सम्भावना प्रदेश के अन्दर देखने को मिली है। उन्होंने वहीं 2019-20 का बजट हम लोगों ने प्रदेश की मातृशक्ति को समर्पित किया था। इसके बाद 2020-21 का बजट युवाओं की शिक्षा उनके कौशल विकास, रोजगार, मूलभूत-आधारभूत इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़े हुए जो कार्य थे, उनको नई गति देने के लिए समर्पित किया गया। वहीं अब 2021-22 के बजट की थीम में प्रदेश सरकार ने स्पष्ट भाव रखा। प्रदेश के समग्र और समावेशी विकास को ध्यान में रखकर यह बजट प्रदेश के विभिन्न तबके के स्वावलम्बन और सशक्तीकरण को समर्पित है और इस बजट को इसी रूप में पूरे प्रदेश तथा देश ने लिया है।

Updated : 2021-10-12T16:23:36+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top