Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > लखनऊ: एटीएस ने 3 और आतंकियों को किया गिरफ्तार, बम धमाकों की साजिश में थे शामिल

लखनऊ: एटीएस ने 3 और आतंकियों को किया गिरफ्तार, बम धमाकों की साजिश में थे शामिल

तीनों ने स्वीकार कर लिया कि वो आतंकी साजिश में शामिल थे। इसके बाद तीनों को एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया।

लखनऊ: एटीएस ने 3 और आतंकियों को किया गिरफ्तार, बम धमाकों की साजिश में थे शामिल
X

लखनऊ। उत्तर प्रदेश आतंक निरोधी दस्ता (यूपी एटीएस) ने रविवार को राजधानी लखनऊ से अलकायदा के अंसार गजवातुल हिंद माड्यूल के दो आतंकी मिनहाज अहमद एवं मसीरुद्दीन उर्फ मुशीर को गिरफ्तार करने के बाद बुधवार को तीन और गिरफ्तारियां की हैं। पुलिस रिमांड के दौरान दोनों से पूछताछ में लखनऊ के ही रहने वाले शकील, मोहम्मद मुस्तकीन और मोहम्मद मईद के नाम सामने आए। इनको हिरासत में लेकर पूछताछ के लिए एटीएस मुख्यालय बुलाया गया। इस दौरान तीनों ने स्वीकार कर लिया कि वो आतंकी साजिश में शामिल थे। इसके बाद तीनों को एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया।

आतंकी संगठन अलकायदा समर्थित अंसार गजवातुल हिंद से जुड़े दो आतंकियों मिनहाज अहमद एवं मसीरुद्दीन लखनऊ से दबोचने के बाद एटीएस ने इनके तीन और साथी शकील, मोहम्मद मुस्तकीन और मोहम्मद मईद को भी गिरफ्तार किया है। शकील लखनऊ के बांसमंडी एलाके का रहने वाला है। मोहम्मद मईद लखनऊ के ही न्यू हैदरगंज कैंपल रोड का निवासी है। वहीं मोहम्मद मुस्तकीन मूल रूप से मुजफ्फरनगर का रहने वाला है और लखनऊ में सीतपुर रोड स्थित मदेय गंज में रह रहा है। दुर्दांत आतंकी संगठन अलकायदा उत्तर प्रदेश को दहलाने की बड़ी साजिश रच रहा था। आतंकी मंसूबे स्वतंत्रता दिवस से पहले कई शहरों में धमाकों के थे। इतना ही नहीं, अयोध्या, मथुरा व काशी में भी आतंकी घटनाओं का षड्यंत्र था। एटीएस ने मुस्तैदी से इस बड़ी साजिश को नाकाम किया है। रविवार को आतंकी संगठन अलकायदा समर्थित अंसार गजवातुल हिंद से जुड़े दो आतंकियों मिनहाज अहमद व मसीरुद्दीन लखनऊ से गिरफ्तार किए गए हैं। उस दौरान उनके दो साथी भाग निकले थे। अब एटीएस इनसे जुड़े अन्य आतंकियों को भी बेनकाब कर रही है।

उत्तर प्रदेश के कई युवक अलकायदा के इस माड्यूल से जुड़े हैं और उनके बारे में भी छानबीन की जा रही है। कई युवकों को मानव बम बनाए जाने की बात भी सामने आई है, जिसके बाद आइबी समेत अन्य खुफिया एजेंसियां और अधिक सक्रिय हो गई हैं। एटीएस ने कानपुर समेत कई शहरों में छापे मारे हैं और संदिग्धों को हिरासत में लेकर गहनता से पूछताछ की जा रही है। पूरे प्रदेश में अलर्ट कर दिया गया है। सीमा भी सील कर दी गई है। सूत्रों का कहना है कि आतंकियों के निशाने पर भाजपा नेता भी थे। विधान सभा चुनाव से पहले प्रदेश में आतंकी साजिश के सामने आने के बाद जांच एजेंसियां कई बिंदुओं पर छानबीन कर रही हैं। यह भी पता लगाया जा रहा है कि कहीं उत्तर प्रदेश में बड़े नेताओं को भी निशाना बनाने का कोई कुचक्र तो नहीं रचा जा चुका था। आतंकी मिनहाज का घर केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर के घर से कुछ दूरी पर ही है।

Updated : 14 July 2021 1:31 PM GMT
Tags:    

Swadesh Lucknow

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top