Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > उन्नाव केस : सरकारी खर्च पर होगा युवती का इलाज, जहरीला पदार्थ खाने से हुई मौत

उन्नाव केस : सरकारी खर्च पर होगा युवती का इलाज, जहरीला पदार्थ खाने से हुई मौत

उन्नाव केस : सरकारी खर्च पर होगा युवती का इलाज, जहरीला पदार्थ खाने से हुई मौत
X

उन्नाव। प्रदेश के उन्नाव जिले में हुई दर्दनाक घटना पर मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने संज्ञान लेते हुए डीजीपी को इस मामले में पूरी रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिये हैं। इसके साथ ही घायल युवती का इलाज सरकारी खर्चे पर कराये जाने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा की युवती के इलाज पर होने वाला सारा खर्च शासन उठाएगा।

उधर इस मामले को लेकर विपक्ष अपनी सियासी रोटियां सेंकने में लगा हुआ है। नेताओं की ओर से लगातार बयानबाजी की जा रही है। इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी मुहिम चलाने की कोशिश कर मामले को तूल देने का प्रयास किया जा रहा है। हाथरस की तरह एक बार फिर उन्नाव की घटना को भी दलित बनाम सवर्ण बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए सोशल मीडिया पर भीम आर्मी, ट्राइबल आर्मी, राष्ट्रीय जनता दल के साथ ही दिलीप मंडल, जिग्नेश मेवानी, चन्द्रशेखर रावण, प्रशांत कन्नौजिया भी बेहद सक्रिय हो गये हैं। इन लोगों ने 'सेव उन्नाव की बेटी' हैशटैग चलाकर इस मामले को तूल देने की कोशिश की। भाजपा की ओर से ऐसे लोगों की प्रतिक्रिया पर पलटवार किया गया है।

हाथ-पैर बंधे होने की भी अफवाह फैलाई -

वहीं मृतक लड़कियों के हाथ-पैर बंधे होने की भी अफवाह फैलायी गई। हालांकि पीड़ित की मां ने अपने बयान में बच्चियों के हाथ पैर बंधे होने की बात से इनकार किया है। उन्होंने कपड़े भी सामान्य तरीके से पहने होने की बात कही है। मां के अनुसार कपड़े खराब नहीं थे, हाथ पैर भी नहीं बंधे थे। दुप्पटा जैसे डाला जाता वैसे पड़ा था। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता शलभमणि त्रिपाठी ने ऐसे में माहौल खराब करने की कोशिश करने वालों को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि कुछ भी अफवाह फैलाने से पहले परिवार की भी बात एक बार सुन लेनी चाहिए। पुलिस को भी कुछ करने दे, ड्राइंग रूम से दिया ज्ञान खतरनाक होता है।

संदिग्ध अवस्था में खेत में मिली लाश -

बता दें की कल बुधवार को टोला गांव में 13, 16 और 17 की तीन लड़कियों की संदिग्ध हालत में खेत में मिलने की सूचना आई थी। तीनो लड़कियों को बेहोशी की हालत में अस्पताल लाया गया था। जहां दो को डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया। तीसरी लड़की को गंभीर हालत में कानपुर रैफर किया गया है। शुरुआत में बताया जा रहा था की तीनों बताया जा रहा था की तीनों लड़कियां एक ही दुपट्टे से बंधी थी।

जहर खाने से हुई मौत -

दोनों लड़कियों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ चुकी है। जिसमें स्पष्ट हो गया है की लड़कियों की मौत जहर खाने की वजह से हुई है। पोस्ट मार्टम करने वाले डॉक्टर्स का कहना है की जहरीला पदार्थ खाने से लड़कियों की मौत हुई है। दोनों के पेट में 80 से 100 ग्राम के बीच खाना मिला है। जिसमें जहर मिला हुआ है। लड़कियों के शरीर पर किसी प्रकार के चोट के निशान नहीं है। दुष्कर्म की आशंका पर स्लाइड बनवाई गईं हैं, जिन्हें जांच के लिए लखनऊ के विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा जाएगा। वहां से रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी। पोस्टमार्टम के पूर्व दोनों शवों का एक्सरे भी कराया गया है।

Updated : 2021-10-12T16:26:00+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top