Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > निगरानी समितियों को यूपी सरकार ने दी बड़ी जिम्मेदारी

निगरानी समितियों को यूपी सरकार ने दी बड़ी जिम्मेदारी

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि वर्तमान परिस्थितियों में निगरानी समितियों की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है।

निगरानी समितियों को यूपी सरकार ने दी बड़ी जिम्मेदारी
X

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कोविड प्रबंधन के संबंध में सभी मंडलायुक्तों, जिलाधिकारियों, सीएमओ और टीम-11 के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने निगरानी समितियों को और अधिक सक्रीय रूप से कार्य करने के निर्देश जारी किये।

उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की दर में बढ़ोतरी हो रही है। थोड़ी सी लापरवाही भी इस समय भारी पड़ सकती है। ऐसे में पब्लिक एड्रेस सिस्टम का भरपूर उपयोग करते हुए लोगों को जागरूक किया जाए।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि वर्तमान परिस्थितियों में निगरानी समितियों की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है। जागरूकता के लिए प्रचार-प्रसार संबंधी सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के साथ ही सार्वजनिक स्थानों पर कोविड हेल्प डेस्क पूरी सक्रीय रहे इसकी भी जिम्मेदारी निगरानी समिति की है। उन्होंने जोर देते हुए कहा है कि सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य कराया जाए और आवश्यकतानुसार इंफोर्समेंट की कार्रवाई भी की जाए।

गली-मोहल्लों और गांव-गांव में निगरानी समितियां पल-पल की जानकारी दें

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए गली-मुहल्लों में लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए निगरानी समिति का गठन पहले ही कर दिया है। वर्तमान परिस्थितियों में उन्होंने पल-पल की जानकारी शासन को उपलब्ध कराने के निर्देश जारी किये हैं जिससे निगरानी समितियों की जिम्मेदारी बढ़ गई है। शासन के निर्देश पर शहरी क्षेत्र के अलावा गांव-गांव निगरानी समिति का गठन किया गया ताकि हर जगह से कोरोना से जुड़ी सूचनाएं आसानी से शासन स्तर तक पहुंच सकें।

गांव में प्रधानों को बनाया गया है समिति का अध्यक्ष

योगी सरकार ने ग्रामीण क्षेत्र में निगरानी समिति का अध्यक्ष प्रधान को बनाया है बाकी सचिव और स्वास्थ्य विभाग से जुड़े लोगों को इसमें शामिल किया गया है। इन समितियों क माध्यम से गांव देहात से सूचनाएं भी संबंधित अधिकारियों तक समय से पहुंच पहुंचने लगीं हैं। शहरों में वार्ड के पार्षदों, मोहल्लें में सक्रीय रहने वाले लोगों, सामाजिक महिला संगठनों के सदस्यों को समितियों में शामिल किया गया है।

मुख्यमंत्री कार्यालय से की जा रही निगरानी समितियों की समीक्षा

सरकार की ओर से बनाई गई निगरानी समितियां बाहर से आने वाले प्रवासियों को क्वारंटाइन सेंटर पर रखने का जिम्मा उठा रही हैं। संक्रमण से बचाने के लिए जागरूकता अभियान चला रही हैं। जो लोग होम क्वारंटाइन हैं उनकी निगरानी हर वक्त करने के साथ ही उच्चाधिकारियों को समय-समय पर रिपोर्ट भी भेज रही हैं। निगरानी समिति के कार्य की समीक्षा सीधा मुख्यमंत्री कार्यालय से की जा रही है। वहां से समिति के सदस्यों को फोन कर जानकारी ली जा रही है कि उनके गांव में कोरोना की क्या स्थिति है।

गांव पर सरकार का विशेष जोर, नोडल अफसर भी किये गये नियुक्त

उत्तर प्रदेश की सरकार ने कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में और बेहतर इंतजाम कर दिये हैं। निगरानी समिति का गठन सरकार पहले ही कर चुकी है अब गांवों में नोडल अफसर भी नियुक्त किए जा रहे हैं, ताकि गांव में होने वाली व्यवस्थाओं की मॉनीटरिंग बेहतर तरीके से हो सके।

Updated : 17 April 2021 2:54 AM GMT
Tags:    

Swadesh Lucknow

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top