Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > बयानबाजों की है सरकार, अपनी रक्षा स्वयं करें : रामगोविंद

बयानबाजों की है सरकार, अपनी रक्षा स्वयं करें : रामगोविंद

उन्होंने बताया कि ऐसे विकट समय में भाजपा की सरकारें आम आदमी को बचाने की जगह चुनाव में अपने उम्मीदवारों को जितवाने में लगी हुई हैं।

बयानबाजों की है सरकार, अपनी रक्षा स्वयं करें : रामगोविंद
X

लखनऊ/बलिया (भोला प्रसाद): उत्तर प्रदेश विधानमंडल में नेता प्रतिपक्ष एवं समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रामगोविंद चौधरी ने मंगलवार को प्रदेश की योगी सरकार पर बड़ा हमला बोला।

उन्होंने कहा है कि वर्तमान समय में पूरा उत्तर प्रदेश गिद्धों के हवाले है, जो आम आदमी को अपने-अपने हिसाब से नोच रहे हैं। कहीं मास्क को लेकर दस हजार रुपए का जुर्माना लगाकर तो कहीं जरूरी सामानों को ब्लैक कर। सूबे में सरकार केवल बयानों तक सीमित है।

उन्होंने कहा है कि ऐसी विकट स्थिति का सामना करने के लिए लोग डॉक्टरों की सलाह मानें। आपस में दो गज की दूरी और मुंह पर मास्क जरूरी का फार्मूला अपनाएं। अपनी तथा अपने परिवार की रक्षा खुद करें।

जगदीशपुर पानी टंकी स्थित निजी आवास पर नेता प्रतिपक्ष ने स्वदेश संवाददाता को बताया कि कर्फ्यू और लॉकडाउन हां और न के बीच उत्तर प्रदेश में आम आदमी का कोई पुरसाहाल नहीं है। कोविड को छोड़िए, अधिसंख्य सरकारी अस्पताल इस समय सामान्य रोगों का भी इलाज बंद कर दिए हैं। लोग मरीज को लेकर दर-दर भटक रहे हैं। लोगों की इस मजबूरी का आसामाजिक तत्व नाजायज लाभ उठा रहे हैं। जरूरी दवाएं बाजार से गायब हैं। कहीं मिल रही हैं तो मनमाने दाम पर। लोग मर रहे हैं। चारों तरफ केवल शोक की आवाज गूंज रही हैं। मरघट पर लकड़ी का रेट मनमाना हो गया है। अन्य जरूरी चीजों के दाम भी अचानक बढ़ गए हैं। इससे आम आदमी का जीना दूभर हो गया है। इसे लेकर उच्च न्यायालय ने गम्भीर चिंता जतायी है, फिर भी सरकार कान में तेल डालकर सो रही है।

उन्होंने बताया कि ऐसे विकट समय में भाजपा की सरकारें आम आदमी को बचाने की जगह चुनाव में अपने उम्मीदवारों को जितवाने में लगी हुई हैं। इसे लेकर देश के प्रधानमंत्री और गृहमंत्री ने तो नैतिकता की सभी हदें पार कर दी हैं। ये लोग सीधे-सीधे भाजपा के प्रचार मंत्री के रूप में काम कर रहे हैं।

चुनाव आयोग की भूमिका अब निष्पक्ष नहीं रही :

नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने स्वदेश को बताया कि चुनाव आयोग की भूमिका भी अब निष्पक्ष नहीं रह गई है। ऐसी स्थिति की शिकायत आम आदमी दो जगह करता है। सबसे पहले चुनाव आयोग से, जिसकी हालत किसी से छिपी नहीं है। इसके आला अफसर को रिटायर होने से पहले ही राज्यपाल पद का लालीपाप दे दिया गया है। यहां से न्याय नहीं मिलने पर आम आदमी कोर्ट जाता है, जिसके फैसले को सभी लोग मानते हैं। उन्होंने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उच्च न्यायालय के ही फैसले को मानने से इनकार कर दिया है। वह कोर्ट का आदेश मानकर स्थिति सुधारने की जगह उसे चुनौती देने में समय जाया कर रहे हैं।

मास्क नहीं लगाना गलत पर जुर्माना ठीक नहीं :

नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा है कि देश के हर नागरिक को मास्क लगाना चाहिए, जो लोग नहीं लगाएं, उनको चेक करिए। उन्हें मौके पर ही मास्क दीजिए और लगाने के बाद ही गंतव्य तक जाने दीजिए, पर इसे लेकर दस हजार रुपए का जुर्माना अंग्रेजी राज की याद दिलाने वाला है।

चौधरी ने कहा कि यह समय राजनीति का नहीं। चुनाव हारने जीतने का नहीं। यह समय आपदा का मुकाबला करने का है। लोगों का जीवन बचाने का है। इसलिए मैं मुख्यमंत्री से अपील कर रहा हूं कि वह इस आपदा के काल में भाजपा के मुख्यमंत्री के रूप में काम करने की जगह प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में काम करें।

Updated : 20 April 2021 1:31 PM GMT
Tags:    

Swadesh Lucknow

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top