Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > चाचा -भतीजे में बढ़ने लगी नजदीकियां, सपा-प्रसपा का हो सकता है विलय

चाचा -भतीजे में बढ़ने लगी नजदीकियां, सपा-प्रसपा का हो सकता है विलय

चाचा -भतीजे में बढ़ने लगी नजदीकियां, सपा-प्रसपा का हो सकता है विलय
X

File Photo

लखनऊ। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का विलय जल्द ही समाजवादी पार्टी में हो सकता है। इसकी तैयारी शुरू हो गयी है। विलय किस समय किया जाय, इस पर मंथन चल रहा है। दोनों के विलय के पूर्व शिवपाल यादव के नजदीकी लोगों को समाजवादी पार्टी में प्रवेश दिलाया जा रहा है। अभी हाल में ही बलिया के अंबिका चौधरी और मुख्तार अंसारी के भाई सिबतुल्लाह अंसारी का समाजवादी पार्टी में प्रवेश भी इसी की झलक है।

पार्टी सूत्रों के अनुसार अखिलेश यादव और शिव पाल सिंह यादव के बीच गोपनीय बैठक हो चुकी है। अब इंतजार किया जा रहा है कि चुनाव और नजदीक आ जाय, तब विलय की घोषणा की जाय। इससे पार्टी के पक्ष में माहौल बनेगा। अभी शिवपाल यादव के नजदीकी लोगों को सपा में प्रवेश दिलाया जा रहा है, जिससे उन्हें टिकट मिल सके।

ऐसे बढ़ी नजदीकियां -

इसी के तहत बलिया के अंबिका चौधरी और सिबतुल्लाह को पार्टी में प्रवेश दिया गया है। ये दोनों नेता शिवपाल यादव के ही नजदीकी माने जाते हैं। अंसारी बंधुओं को समाजवादी पार्टी में प्रवेश दिलाने के कारण ही अखिलेश ने पिछली बार शिवपाल यादव से किनारा कर लिया था। अब अंसारी बंधु प्रिय हो गये हैं। इस तरह कई नेता शिवपाल यादव के नजदीकी हैं और सपा से बाहर निकाले गये थे लेकिन अब धीरे-धीरे उन्हें सपा में प्रवेश दिलाया जा रहा है। कुछ लोगों का कहना है कि यह भी संभव है कि सपा में विलय न होकर बाद में दोनों का समझौता हो। कुछ सीटें प्रसपा के लिए छोड़ दी जाय। बहुतेरे शिवपाल के नजदीकी नेताओं को सपा से टिकट दे दिया जाय।

Updated : 2021-10-12T16:01:10+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top