Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > उप्र के कई जिलों में रेल रोको अभियान बेअसर, सुरक्षाबलों ने रखी कड़ी नजर

उप्र के कई जिलों में रेल रोको अभियान बेअसर, सुरक्षाबलों ने रखी कड़ी नजर

उप्र के कई जिलों में रेल रोको अभियान बेअसर, सुरक्षाबलों ने रखी कड़ी नजर
X

लखनऊ /आगरा। किसान संगठनों का सोमवार को रेल रोको आंदोलन बेअसर नजर आया। सुबह से ही आगरा, कानपुर समेत कई जिलों के सभी स्टेशनों पर भारी पुलिस बल की तैनाती रही। आरपीएफ, जीआरपी ने संयुक्त रुप से सुरक्षा व्यवस्था को संभाले रखा, ताकि लोगों को आंदोलन की वजह से किसी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।किसान नेताओं के आह्वान पर आंदोलन को लेकर प्रशासन हाई अलर्ट नजर आया।

इसके बावजूद किसानों ने प्रदेश के कई स्थानों पर ट्रेन रोकने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस की सख्ती के कारण असफल रहे। प्रदर्शनकारी लखीमपुर खीरी घटना को लेकर केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी को बर्खास्त करने की मांग पर अड़े हुए हैं।

लखनऊ में नहीं दिखा असर -

उत्तर प्रदेश की लखनऊ पुलिस भी रेल रोको आन्दोलन को लेकर अलर्ट है। किसानों के आंदोलन को देखते हुए लखनऊ के उतरेठिया रेलवे स्टेशन पर पुलिस फोर्स तैनात है। पुलिस अधिकारी स्टेशन पर पेट्रोलिंग कर रहे हैं। लखनऊ पुलिस ने कहा है कि जो कोई भी रेल रोको आंदोलन में भाग लेकर रेल संचालन में बांधा पहुंचाने का प्रयास करेगा, उसके विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी। साथ ही लखनऊ में धारा 144 लागू और हालात बिगाड़ने वालों पर एनएसए के तहत कार्रवाई की जायेगी।

बाराबंकी में किसान गिरफ्तार -

बाराबंकी में भी रेलवे ट्रैक पर धरना देने जा रहे भारतीय किसान यूनियन के दर्जनों कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफतार किया है। वहीं प्रयागराज में भी किसानों ने ट्रेन रोकने का प्रयास किया। मेरठ में कई जगहों पर रेल पटरी बाधित की गई है। कंकरखेड़ा में फ्लाईओवर के नीचे सैकड़ों किसान बैठे हैं। सकोती गांव में भी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी को हटाने को लेकर रेल ट्रैक रोककर धरना जारी है।लखीमपुर खीरी में एहतियात के तौर पर चार ट्रेनों को निरस्त किया गया। मंगलवार को से ट्रेनों का संचालन होगा। लखीमपुर जिला इस समय संवेदनशील है।

टिकैत की चेतावनी -

भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि आम आदमी 02 साल से परेशान है। सरकार उसकी रोटी छीन रही है। सरकार को चाहिए कि किसानों से बातचीत करें। टिकैत ने कहा कि खीरी घटना में केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी नहीं हुई। उसी को लेकर धरना जारी है।संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा है कि रेल रोको अभियान के दौरान किसी भी अपातकालीन सेवाओं को बाधित नहीं किया जायेगा। इसके अलावा किसी भी प्रकार की हिंसा या तोड़फोड़ का कार्य नहीं किया जायेगा।

Updated : 2021-10-20T20:19:38+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top