Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > शिक्षा के क्षेत्र में योगी सरकार के उठाए गए कदम सराहनीय : राष्ट्रपति

शिक्षा के क्षेत्र में योगी सरकार के उठाए गए कदम सराहनीय : राष्ट्रपति

राष्ट्रपति ने डॉ भीमराव आम्बेडकर विश्वविद्यालय के 9वें दीक्षांत को किया सम्बोधित

शिक्षा के क्षेत्र में योगी सरकार के उठाए गए कदम सराहनीय : राष्ट्रपति
X

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की अपनी यात्रा के दौरान यहां शिक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे विशेष प्रयासों के बारे में और अधिक जानने का मौका मिला। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुरूप प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए जो कदम उठाए जा रहे हैं, वे बहुत ही सराहनीय हैं।

यह बात राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को डॉ भीमराव आम्बेडकर विश्वविद्यालय के 9वें दीक्षांत समारोह को सम्बोधित करते हुए कही। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शिक्षा समेत प्रदेश की जनता के हित में उठाए गए कार्यो की जमकर तारीफ की। कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रपति ने सावित्रीबाई फुले महिला छात्रावास का शिलान्यास भी किया। दीक्षांत समारोह में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उपस्थित रहे।

दीक्षांत समारोह को सम्बोधित करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि सांस्कृतिक और नैतिक मूल्यों से प्रेरणा प्राप्त करते हुए आधुनिक विज्ञान और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में उत्कृष्टता हासिल करने का हमारा लक्ष्य तभी सिद्ध होगा जब सभी छात्र और शिक्षक पूरी निष्ठा के साथ कार्य करें। उन्होंने कहा कि अपनी यूपी यात्रा के दौरान मुझे प्रदेश में शिक्षा के क्षेत्र में उठाए जा रहे प्रयासों को करीब से जानने का मौका मिला। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुरूप यहां बेहतर काम किया जा रहा है। सामाजिक न्याय और व्यक्तिगत उन्नति के लिए शिक्षा ही सबसे प्रभावी माध्यम है। शिक्षा के क्षेत्र में योगी सरकार ने अलख जगाई है। उसकी जितनी भी सराहाना की जाए, वह कम है। इसलिए मैं यहां की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत उनके अधिकारियों और कर्मचारियों की भूरी-भूरी प्रशंसा करता हूं।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि आज सावित्रीबाई फुले महिला छात्रावास का शिलान्यास करके मैं गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि सावित्रीबाई फुले ने 175 वर्ष पहले बेटियों की शिक्षा के लिए जो क्रांतिकारी कदम उठाए, वे आज भी प्रासांगिक हैं। खासकर तत्कालीन समाज में महिलाओं की स्थिति के विषय में अध्ययन करने पर पता चलता है कि आज हमारी बेटियां समाज और देश का गौरव पूरे विश्व में बढ़ा रही हैं।

ओलंपिक में बेटियों के प्रदर्शन ने बढ़ाया गौरव -

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक में देश की बेटियों के प्रदर्शन से संपूर्ण देश में गर्व की भावना का संचार हुआ है। प्रत्येक क्षेत्र में हमारी बेटियों ने अपनी प्रभावशाली उपस्थिति दर्ज करा रही है। उन्होंने कहा समान अवसर मिलने पर हमारी बेटियां बेटों से भी आगे निकल जाती हैं। दीक्षांत समारोह में पदक पाने वाले होनहारों में बेटियों की संख्या बेटो से अधिक है। विजेताओं में भी बेटियों की संख्या अधिक है, इस परिवर्तन को एक स्वस्थ समाज और उन्नत राज्य राष्ट्र की दिशा में बढ़ते कदम के रूप में देखा जाना चाहिए। यही बाबा साहब का मूल सपना था जो सच होता दिखाई दे रहा है।

दीक्षांत समारोह में कुल 132 मेधावी छात्र-छात्राओं को मिले स्वर्ण पदक -

डॉ भीमराव आम्बेडकर विश्वविद्यालय के 9वें दीक्षांत समारोह कुल 132 मेधावी छात्र-छात्राओं को स्वर्ण पदक दिए गए। इनमें से सात मेधावियों को राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने अपने हाथों से स्वर्ण पदक देकर सम्मानित किया।राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द गुरुवार से उत्तर प्रदेश के चार दिवसीय दौरे पर हैं। वह राजधानी लखनऊ में शुक्रवार को भी रहेंगे। इसके बाद शनिवार को गोरखपुर व रविवार को अयोध्या में उनका कार्यक्रम है।दो महीने के भीतर देश के राष्ट्रपति उत्तर प्रदेश के दूसरे दौरे पर आये हैं। इससे पहले उन्होंने जून में पांच दिन का कानपुर, कानपुर देहात तथा लखनऊ का दौरा किया था।

Updated : 2021-10-12T16:05:04+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top