Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > गिफ्ट लौटाए, कहा तुम हो धोखेबाज! और फिर कर दी हत्या, लखनऊ के होटल में मिले प्रेमी युगल के शव

गिफ्ट लौटाए, कहा तुम हो धोखेबाज! और फिर कर दी हत्या, लखनऊ के होटल में मिले प्रेमी युगल के शव

प्रेमी ने पहले प्रेमिका की हत्या की, फिर खुद पंखे पर दुपट्टे का फंदा गले में डाल कर फांसी लगा ली।

गिफ्ट लौटाए, कहा तुम हो धोखेबाज! और फिर कर दी हत्या, लखनऊ के होटल में मिले प्रेमी युगल के शव
X

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के पीजीआई थाना इलाके में स्थित होटम में युवक युवती का शव के मिलने से सनसनी फैल गई। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पीजीआई पुलिस ने जांच पड़ताल कर बताया कि प्रेमी ने पहले प्रेमिका की हत्या की, फिर खुद पंखे पर दुपट्टे का फंदा गले में डाल कर फांसी लगा ली। पुलिस ने परिजनों को सूचना के बाद दोनों शवों को पोस्ट मार्टम के लिए भेज दिया गया है। इससे पहले, युवक ने अपनी मां को फोन करके बोला था कि मां मैंने दिव्‍या को मार दिया है।

दोस्त के साथ स्कूटी से होटल आए थे प्रेमी प्रेमिका

घटना पीजीआई थाना क्षेत्र के वृंदावन कालोनी सेक्टर दस स्थित स्क्वायर ओयो होटल की है। मानक नगर की रहने वाली दिव्या 21 जो की वहीं पर ब्यूटी पार्लर चालाती थी व रजनी खंड के रहने वाले शुभम वर्मा 24 थे। पिता के देहांत के बाद मां रीता भाई संजव व तीन बहनों के साथ यहां रहता था। दोनों एक दूसरे को पिछले डेढ़ वर्ष से जानते थे। मंगलवार शाम चार बजे शुभम अपने दोस्त दउवा के साथ स्कूटी में प्रेमिका दिव्या के सथ बैठ कर होटल पहुंचे थे। दउवा उन्‍हें होटल के बाहर छोड़ चला गया। जब होटल के तीसरी मंजिल में शुभम पहुंचा तो वहां के मैनेजर गौरव सिंह ने 106 नम्बर कमरे को बुक कराया। इस बीच शुभम ने अपनी व अपने प्रेमिका की आईडी जमा की जब कमरा बुक हो गया तो शुभम प्रेमिका दिव्या कनौजिया को बुलाया और कमरे में चले गए। लगभग 11 बजे जब कमरे से कोई आहट नहीं हुई तो इसकी सूचना मैनेजर ने पुलिस को दी। खिड़की से देखने पर दोनों शव कमरे में थे। पुलिस ने तुरंत परिजनों को सूचना के बाद शव को पोस्ट मार्टम के लिए भेज दिया।



नहीं खुला दरवाजा तो किया पुलिस को फोन

होटल के मैनेजर गौरव ने बताया कि बुधवार शाम चार तीस पर शुभम दिव्या को लेकर आया और एक कमरा बुक कराया। शुभम ने कहा कि हम लगभग रात नौ बजे तक रूकेंगे, अगर काम नहीं हो पाया तो सुबह तक जाएंगे। खाने पीने के लिए अगर चाहिए होगा तो फोन करूंगा। मैनेजर ने रात नौ बजे खाने के लिए कमरे का दरवाजा खटखटाया पर कोई आवाज नहीं आई। इसके बाद फोन भी किया लेकिन नहीं उठा। जब उन्‍हें अनहोनी की आशंका हुई तो इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी। मौके पर पुसिल ने होटल के कमरे की खिड़की से झांक कर देखा तो शुभम फांसी के फंदे से झूल रहा था। वहीं उसकी प्रेमिका बेड पर मृत अवस्था में पड़ी थी। पुलिस ने तुरंत घर वालों को सूचना देने के बाद शवों को पोस्ट मार्टम के लिए भेज दिया ।

थोड़ी देर में पता चल जाएगा, कहां हूं मैं

शाम सात बजे शुभम वर्मा ने रजनी खंड अपने घर मां रीता को फोन किया। उसने कहा कि मां मैंने दिव्‍या को मार दिया और अब खुद अपने को मारने जा रहा हूं और मैं कहा हूं थोड़ी देर में पता चल जाएगा। यह सुनते ही घर वाले सन्‍न रह गए पर शुभम वर्मा ने ये नहीं बताया कि वो इस समय कहा है और फोन काट दिया। घर वाले शुभम को इधर उधर खोजते रहे लगभग 11 बजकर 30 मिनट पर पुलिस ने शुभम के भाई को फोन कर होटल में बुलाया और शव की शिनाख्त की।

होटल साथ ले गया था प्रमिका के दिए गिफ्ट

मृतक शुभम की बहन ने बताया कि भाई जब शाम लगभग चार बजे निकले तो बैग में दिव्या के दिए जो गिफ्ट घर पर रखे थे ले गया था। मैं उस समय कुछ समझ नहीं पाई थी की ये भी घटना हो जाएगी।

14 मार्च को मनाया था प्रेमिका दिव्या का बर्थडे

शुभम के दोस्तो ने बताया कि हम लोग को विश्वास नहीं हो रहा कि मेरे बीच मेरा दोस्त अब नहीं है अभी 14 मार्च को उसने अपनी प्रेमिका दिव्या का बर्थ डे मनाया था जिसके बारे में हम सभी को बताया।

होटल संचालक ने बिना जांच के दिया कमरा

होटल के मैनेजर ने चंद पैसों के लिए होटल से मात्र दो किलोमीटर की दूरी पर रहने वाले शुभम वर्मा का पता देख कर भी उसे प्रेमिका के साथ कमरा दे दिया। उस मैनेजर ने एक बार भी नहीं पूछा कि आप लोकल दो किलोमीटर की दूरी पर रहने के बाद भी यहां पर रहना क्यों चाहते हैं।

Updated : 24 March 2021 11:00 AM GMT
Tags:    

Swadesh Lucknow

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top