Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > डॉ. सरवन सिंह बघेल बने मुख्यमंत्री योगी के विशेष कार्याधिकारी

डॉ. सरवन सिंह बघेल बने मुख्यमंत्री योगी के विशेष कार्याधिकारी

आगरा निवासी श्रवण केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा के निजी सहायक के तौर पर थे कार्यरत, अंत्योदय और एकात्म मानववाद पर किया है शोध

डॉ. सरवन सिंह बघेल बने मुख्यमंत्री योगी के विशेष कार्याधिकारी
X

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नए विशेष कार्यअधिकारी (ओएसडी) की नियुक्ति हो गई है। मुख्यमंत्री के नए ओएसडी डॉ. सरवन सिंह बघेल उर्फ श्रवण बघेल होंगे। वह आगरा के रहने वाले हैं। यह सूचना गुरुवार को मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी की गई है। डॉ. सरवन बघेल अभी तक केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा के निजी सहायक का काम देख रहे हैं। पंडित दीनदयाल उपाध्याय के आर्थिक चिंतन 'अंत्योदय और एकात्म मानववाद' पर शोध उपाधि अर्जित करने वाले डॉ. बघेल स्वदेश समाचार पत्र के लिए पिछले कई वर्षों से आलेख लिखने का काम भी कर रहे हैं।

अभी तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विशेष कार्याधिकारी (ओएसडी) के रूप में अभिषेक कौशिक काम कर रहे थे। उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की 2017 में सरकार बनने के बाद अभिषेक कौशिक को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का विशेष कार्याधिकारी नियुक्त किया गया था। बीते 5 वर्ष के कार्यकाल के बाद नए विशेष कार्याधिकारी के रूप में डॉ. सरवन सिंह बघेल की नियुक्ति की गई है। इसके अलावा विशेष कार्याधिकारी के रूप में अभी तक किसी अन्य व्यक्ति की नियुक्ति नहीं की गई है। संजीव सिंह शाही सहित कई अन्य विशेष कार्याधिकारी पहले की तरह काम कर रहे हैं। आगरा के रहने वाले नवनियुक्त मुख्यमंत्री योगी के विशेष कार्याधिकारी डॉ. सरवन सिंह बघेल अभी तक केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्री अर्जुन मुंडा के निजी सहायक के रूप में कार्यरत थे।

सूत्रों का कहना है कि बीजेपी के नेतृत्व की सिफारिश पर उन्हें यह बड़ी जिम्मेदारी दी गई है। इससे पहले डॉ. सरवन सिंह बघेल भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री के निजी सहायक के रूप में भी काम कर चुके हैं। अब उन्हें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का विशेष कार्याधिकारी बनाया गया। नवनियुक्त विशेष कार्याधिकारी सरवन सिंह बघेल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से भी जुड़े हुए हैं। वह प्रचारक के रूप में भी काम कर चुके हैं। वह लेखन आदि के कार्य में भी रुचि रखते हैं। कई सामाजिक कार्यों से जुड़े होने के साथ मोटिवेशनल कार्यक्रमों का संचालन भी करते रहते हैं।

बघेल ने राजनीति में परास्नातक के बाद किया है शोध : आगरा निवासी डॉ. सरवन सिंह बघेल ने वाणिज्य वर्ग में स्नातक (बी.कॉम.) और परास्नातक (एम.कॉम.) आगरा विश्वविद्यालय से किया है। इसके बाद उन्होंने अरुणाचल यूनिवर्सिटी ऑफ स्टडीज से राजनीति विषय से परास्नातक किया। इसी विश्वविद्यालय से उन्होंने 'गरीब कल्याण में दीनदयालजी द्वारा सृजित अंत्योदय और एकात्म मानववाद की सामाजिक और राजनीतिक भूमिका' विषय पर शोध कार्य पूर्ण कर उपाधि अर्जित की है। अभी पिछले वर्ष ही 12 दिसंबर 2021 को हरियाणा की फरीदाबाद जनपद निवासी डॉ. रोहिणी बघेल के साथ उनका विवाह संपन्न हुआ है।

डॉ. बघेल ने किया है केंद्रित कई पुस्तकों का लेखन : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विशेष कार्याधिकारी बनाए गए आगरा निवासी डॉ. सरवन सिंह बघेल ने अल्पायु में ही लेखन में भी काफी सक्रिय रहे हैं। स्वदेश समाचार पत्र के लिए वह कई वर्षों से आलेख लिख रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने कई पुस्तकों का लेखन भी किया है। इसमें 'पंडित दीनदयाल उपाध्याय : जीवन दर्शन एवं एकात्म मानवदर्शन का रेखांकन', 'भारत की सर्वांगीण उन्नति का मंत्र अंत्योदय' और 'भारतीय मनीषियों की प्रेरक भूमिका' प्रमुख हैं।

Updated : 12 May 2022 7:17 PM GMT
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top