Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 1710 करोड़ की 180 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 1710 करोड़ की 180 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 1710 करोड़ की 180 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया
X

लखनऊ। राजधानी समेत उत्तर प्रदेश के लिए 31 अगस्त की तिथि इतिहास में दर्ज हो गयी जब रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 1710 करोड़ की 180 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। चौक के ज्योतिबा फुले मल्टीलेवल पार्किंग पार्क में आयोजित परियोजनाओं के शिलान्यास एवं लोकार्पण कार्यक्रम में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने लखनऊ को बड़ी सौगात देते हुए विकास की नयी नींव रखी। कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक ने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का पुष्प भेंटकर स्वागत किया।

लखनऊ के सांसद और देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि आपके बीच मैं भाषण देने नहीं खड़ा हुआ हूं। मैं लखनऊ के सांसद के रूप में जो करना चाहता हूं, वो सेवक की भूमिका है। राजधानी का तेजी से विकास कैसे हो, नम्बर वन शहर कैसे बने, ये मेरी चिंता रहती है। प्रदेश में अगर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नहीं होते तो मैं लखनऊ के विकास का इतना कार्य नहीं कर सकता था। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी समय-समय पर पूरी लगन दिखायी है। उन्होंने कहा कि संसदीय निर्वाचन क्षेत्र में होर्डिंग पर श्रद्धेय अटल बिहारी बाजपेयी का एक चित्र नजर आना चाहिए। दुनिया के दूसरे देशों में भी अटल जी के प्रति जो आदर भाव आज भी है, वो बता नहीं सकता हूं।

कोचिंग क्लासेज चलाने का कार्य -

उत्तर प्रदेश में विकास कार्यों को जिस तरह मुख्यमंत्री ने तेजी दी है, उसकी जितनी तारीफ की जाये कम है। कोरोना के वक्त जैसे कार्य हुए वो सबकुछ लोगों ने देखा। अनाथ बच्चों की जिस प्रकार मुख्यमंत्री ने जिम्मेदारी ली ये वही मुख्यमंत्री कर सकता है, जो संवेदनशील होगा। ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले नौजवानों की शिक्षा की चिंता करते हुए कोचिंग क्लासेज चलाने का कार्य उत्तर प्रदेश की सरकार ने कराया। सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति के तहत अपराध में भारी कमी आई है। उन्होंने कहा कि हम उत्तर प्रदेश में शासनराज चाहते है तो अपराध पर नकेल कसना जरूरी है। अपराध नहीं होगा, तभी विकास होगा। केंद्र में मोदी और उत्तर प्रदेश में योगी, दो अक्षर यहां भी और दो अक्षर वहां भी। देश का 90 प्रतिशत लोग किसी न किसी सरकारी योजना से लाभांवित हुआ है।

पांच हजार लोगों को रोजगार -

उन्होंने कहा कि लखनऊ के विकास कार्यों के लिए अगर रात में भी मेरा फोन मुख्यमंत्री जी को गया तो उन्होंने अधिकारियों को तत्काल समीक्षा करने को कहा। लखनऊ में लोगों की आबादी और वाहनों की तेजी से बढ़ रही संख्या के हिसाब से लोगों को आवागमन की सुविधा देने के लिए हम प्रयास कर रहे हैं। ब्रह्मोस के लिए जमीन मांगने की बात रखते हुए रक्षामंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री से जमीन मांगी थी और एक माह में जमीन मुहैया हो गयी। इससे पांच हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। उत्तर प्रदेश इसी तरह आगे बढ़ता रहे, इसी कामना के साथ कार्य होता रहेगा।


Updated : 2021-10-12T16:04:36+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top