Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > राष्ट्रवाद बनाम राष्ट्रविरोध, सुरक्षा बनाम आतंकवाद और विकास बनाम विनाश की लड़ाईः योगी

राष्ट्रवाद बनाम राष्ट्रविरोध, सुरक्षा बनाम आतंकवाद और विकास बनाम विनाश की लड़ाईः योगी

गुजराती बोल भावनाओं से जुड़े, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, सरदार वल्लभ भाई पटेल को किया याद

राष्ट्रवाद बनाम राष्ट्रविरोध, सुरक्षा बनाम आतंकवाद और विकास बनाम विनाश की लड़ाईः योगी
X

मोरबी/भरुच/सूरत,। हिमाचल विधानसभा चुनाव के बाद गुजरात में चुनावी दुंदुभी बज चुकी है। सत्तारुढ़ भारतीय जनता पार्टी ने 182 विधानसभा सीटों पर प्रत्याशी उतार दिए हैं। यहां 1 और 5 दिसंबर को मतदान होने हैं। भाजपा ने अपने स्टार प्रचारकों को गुजरात में भेजना शुरू कर दिया है। शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुजरात के चुनावी रण में उतरे। पहले दिन उन्होंने मोरबी, भरुच व सूरत में जनसभा की। मोरबी की घटना में जान गंवाने वाले लोगों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की। आम जनमानस की भावनाओं से खुद को जोड़ते हुए सीएम ने यहां फिर से कमल खिलाने का आह्वान किया। प्रधानमंत्री के गृह राज्य में लोगों ने योगी आदित्यनाथ का जमकर इस्तकबाल किया। कांग्रेस यहां भी योगी आदित्यनाथ के निशाने पर रही। उन्होंने विपक्ष की नाकामियों को उजागर कर कार्यों की बदौलत भाजपा के लिए फिर से जनसमर्थन मांगा। लोगों ने भी हाथ उठाकर यहां फिर से कमल खिलाने का वायदा किया।

गुजराती बोलकर योगी आदित्यनाथ ने किया लोगों का अभिवादन

मोरबी के वांकानेर में गुजराती बोलकर योगी आदित्यनाथ ने लोगों का अभिवादन किया। उनकी यह शैली सभी के दिल में उतर गई। यहां से भाजपा उम्मीदवार जीतू भाई सोमानी और मोरबी से प्रत्याशी कांति भाई के पक्ष में मतदान की अपील की। आमजन से मुखातिब सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह लड़ाई राष्ट्रवाद बनाम राष्ट्रविरोध, विकास बनाम विनाश, सुरक्षा बनाम आतंकवाद, देश के सम्मान व विरोध करने वालों के बीच की है। गुजरात से अधिक इसे कौन समझ सकता है। देश के विकास व सुरक्षा के लिए भाजपा आवश्यक है।

पूरा देश मोरबी के साथ खड़ा हुआ

सीएम ने कहा कि मोरबी की घटना में पूरा देश यहां की जनता के साथ खड़ा हुआ। पीएम मोदी ने मार्गदर्शन दिया। रात-दिन काम हुआ। कांति भाई जैसे कार्यकर्ताओं ने जान जोखिम में डालकर आमजन की जान बचाने का काफी प्रयास किया। 1979 में हुए दुर्घटना, साइक्लोन या भूकंप के समय भी मोरबी के सामने भी चुनौतियां आईं। इनका सामना करते हुए मोरबी को देश-दुनिया ने बढ़ते देखा। आपकी जीवंतता का अभिवादन व अभिनंदन।

राष्ट्रगान का सम्मान नहीं करती कांग्रेस

सीएम ने कहा कि कल कांग्रेस के मंच पर राष्ट्रगान के दौरान फिल्मी गीत बजने लग गया। यह उनकी राष्ट्रभक्ति है। वे राष्ट्रगान का भी सम्मान नहीं कर सकते। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने आजादी के बाद कहा था कि कांग्रेस को विसर्जित कर देना चाहिए। अब उस संकल्प को पूरा करने का समय आ गया। सीएम ने कहा कि भारत का सौभाग्य है कि पीएम मोदी का नेतृत्व देश को मिल रहा है। 3 दिन पहले इंडोनेशिया के बाली में पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत को अगले वर्ष तक सबसे शक्तिशाली 20 देशों का नेतृत्व करने का अवसर मिला। इन देशों का 80 प्रतिशत संसाधन पर अधिकार है।

देश-दुनिया में होती है गुजरात मॉडल की चर्चा

उन्होंने कहा कि गुजरात मॉडल की चर्चा देश व दुनिया में होती है। यह बतौर सीएम मोदी के कार्यकाल में हुए नवाचारों का उदाहरण है। लोककल्याण, सुरक्षा, विकास, शांति-सौहार्द, गरीब कल्याण, इज ऑफ लिविंग के मॉडल मोदी ने मुख्यमंत्री कार्यकाल के दौरान पूरे गुजरात व देशवासियों को दिया। इसे आज देश-दुनिया उदाहरण के रूप में ले रही है। गुजरात मॉडल ने कोरोना के दौरान भारत के 135 करोड़ लोगों को नया जीवन दिया। पीएम मोदी ने फ्री में टेस्ट, उपचार, वैक्सीन और 80 करोड़ जरूरतमंदों को फ्री में राशन की सुविधा दी। गरीब कल्याणकारी योजनाओं व सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के लिए भारत रोल मॉडल रहता है।

लौहपुरुष की दृढ़इच्छाशक्ति की बदौलत फेल हो गया अंग्रेजों का षडयंत्र

सीएम ने कहा कि गुजरातों के सपूतों ने आजादी की लड़ाई में बढ़चढ़कर भाग लिया। महात्मा गांधी आजादी के आंदोलन से जुड़े योद्धाओं को प्रेरणा देते हैं। जो देश आज भी आजादी के लिए कराह रहे हैं। उन देशों को राष्ट्रपिता का सत्य व अहिंसा का आंदोलन प्रेरणा व ऊर्जा देता है। अंग्रेजों ने कहा था भारत को स्वतंत्र नहीं होने देंगे, यदि भारत स्वतंत्र हुआ भी तो इसके इतने टुकड़े कर देंगे कि यह कभी खड़ा नहीं हो पाएगा। लौहपुरुष सरदार पटेल जी की दृढ़इच्छाशक्ति व दूरदृष्टिता की बदौलत अंग्रेजों के षडयंत्र फेल हो गए। 563 से अधिक रियासतें भारत गणराज्य का हिस्सा बनीं। भारत लोकतंत्र के रूप में खड़ा हो गया। लौहपुरुष वल्लभ भाई पटेल ने लौहभुजाओं से भारत को स्थापित किया था।


Updated : 19 Nov 2022 2:27 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top