Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > न हों परेशान, सरकार सभी बाढ़ प्रभावितों को देगी भरपूर मदद : योगी

न हों परेशान, सरकार सभी बाढ़ प्रभावितों को देगी भरपूर मदद : योगी

हवाई सर्वेक्षण कर महराजगंज में बाढ़ की स्थिति का मुख्यमंत्री ने लिया जायजा

न हों परेशान, सरकार सभी बाढ़ प्रभावितों को देगी भरपूर मदद : योगी
X

लखनऊ। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लोगों तक राहत सामग्री तथा अन्य सभी प्रकार की सहायता सुनिश्चित कराने के लिए बुधवार से ही ग्राउंड जीरो पर उतरे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को महाराजगंज व गोरखपुर का हवाई सर्वेक्षण किया। बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात की और उनके दुख दर्द को साझा किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। बाढ़ से प्रभावित हर परिवार की सहायता करने में सरकारें तत्पर हैं।

सीएम योगी ने कहा कि बाढ़ प्रभावित परिवारों को युद्ध स्तर पर राहत सामग्री वितरित करने का निर्देश प्रशासन को दिया गया है। किसी को भी परेशान नहीं होना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को बाढ़ से जनहानि पर पीड़ित परिवार को चार लाख रुपये का मुआवजा तत्काल उपलब्ध कराने को निर्देशित किया गया है। अंग भंग होने पर 2.5 लाख रुपये तक की सहायता और गंभीर रूप से घायलों को भी आर्थिक मदद दी जाएगी। बाढ़ से क्षतिग्रस्त हुए मकान के मालिकों को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत आवास दिया जाएगा। मकान बनवाने के लिए 1.20 लाख रुपये देने का प्रावधान है। आंशिक क्षतिग्रस्त मकानों के लिए भी आपदा राहत कोष से मदद होगी। बाढ़ के कारण फसलों के नुकसान की भरपाई के लिए भी प्रशासन को निर्देश दिया गया है। हर ग्राम पंचायत में सर्वे कराकर जल्द से जल्द फसलों की क्षतिपूर्ति की धनराशि किसानों के खातों में भेजी जाएगी। सीएम योगी ने कहा कि पहले सूखा और अब असमय बाढ़ से आई स्थिति पर राज्य सरकार की पूरी नजर है। इसे देखते हुए किसानों को दलहन व सब्जी के बीज नि:शुल्क उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

पशुपालकों के नुकसान की भी होगी भरपाई -

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बाढ़ के चलते पशुओं की हानि पर भी मुआवजा दिया जाएगा। दुधारू पशु गाय, भैंस आदि के मरने पर 37 हजार 500, बकरी, भेड़, सूअर के मरने पर 4 हजार, गैर दुधारू पशु ऊंट, घोड़ा आदि के मरने पर 32 हजार, बछड़ा, गधा, टट्टू आदि के मरने पर 20 हजार रुपये की दर से पशुपालकों को सहायता दी जाएगी।

युद्ध स्तर पर शुरू होगा स्वच्छता अभियान

सीएम योगी ने प्रशासन के अधिकारियों को अगले दो-तीन दिन में बाढ़ का पानी कम होने पर स्वच्छता का अभियान चलाने को कहा। उन्होंने कहा कि लोगों को संक्रामक बीमारियों से बचाने के लिए स्वच्छता, सैनेटाइजेशन और छिड़काव का अभियान युद्ध स्तर पर शुरू करें। यह कार्य तब तक जारी रहे, जब तक जमीन पूरी तरह सूख न जाए। गांव में किसी तरह की गंदगी न रहे, इसके लिए ग्राम पंचायत अभी से तैयारी करें और प्रशासन इसमें सहयोग करे। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही दीपावली से पूर्व अविलंब क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत व बिजली आपूर्ति बहाली की व्यवस्था सुनिश्चित करें। दीपावली आने तक हर गांव में बेहतर आवागमन की सुविधा तथा सभी गांव बिज़ली से जगमग होने चाहिए।

बुजुर्ग महिलाओं और बच्चों से मिल भाव-विह्वल हुए सीएम

बाढ़ पीड़ितों के बीच राहत सामग्री का वितरण करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुजुर्ग महिलाओं व बच्चों से मिल भाव विह्वल हो गए। उन्होंने बुजुर्ग महिलाओं को ''माई'' के आत्मीय सम्बोधन से बुलाया। उनकी तकलीफ की जानकारी ली और आश्वस्त किया कि उनके रहते किसी प्रकार की चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि कोई राहत सामग्री खुद लेकर जाने की स्थिति में नहीं होगा तो प्रशासन उनके घर तक पहुंचाएगा। बच्चों के प्रति सीएम योगी का स्नेह जगजाहिर है। बाढ़ पीड़ितों के बच्चों के बीच मुख्यमंत्री ने खूब प्यार-दुलार लुटाया। उन्हें चॉकलेट गिफ्ट किया। उनसे बात की और माथे पर हाथ फेरते हुए खूब स्वस्थ रहने, खूब पढ़ने और आगे बढ़ने का आशीर्वाद भी दिया।

Updated : 2022-11-01T22:55:12+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top