Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > लखनऊ में 15 साल पुराना मकान गिरा, मलबे से 12 घंटे में 13 लोगों को जिंदा निकाला

लखनऊ में 15 साल पुराना मकान गिरा, मलबे से 12 घंटे में 13 लोगों को जिंदा निकाला

सपा नेता की मां, पत्नी व बच्चे दबे, डेढ़ घंटे बाद शुरू हुआ रेस्क्यू

लखनऊ में 15 साल पुराना मकान गिरा, मलबे से 12 घंटे में 13 लोगों को जिंदा निकाला
X

लखनऊ/वेब डेस्क। लखनऊ। हजरतगंज क्षेत्र के वजीर हसन रोड पर स्थित एक इमारत के गिरने से बड़ा हादसा हो गया है। इमारत का नाम अलाया अपार्टमेंट है। बताया जा है कि यह एक पुरानी बिल्डिंग थी। मंगलवार शाम को आए भूकंप के बाद इमारत में दरारें आ गई थीं। लेकिन किसी ने इस पर गौर नहीं किया। सूचना मिलने के बाद मौके पर पुलिस व राहत टीमें बचाव कार्य में जुटी हुई हैं। बताया जा रहा है कि इसमें करीब 30 से 40 लोग दबे हो सकते हैं।

मुख्यमंत्री के सलाहकार अवनीश अवस्थी, लखनऊ के नगर आयुक्त इंद्रजीत सिंह और एके शर्मा घटनास्थल पर पहुंचे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इमारत गिरने की दुर्घटना का संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ही एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमों को मौके पर जाकर राहत कार्य संचालित करने के निर्देश दिए। उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने मौके पर पहुंचकर मुआयना किया। डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने जानकारी दी कि फिलहाल सात लोगों को रेस्क्यू कर अस्पताल भेजा गया है। ये सभी बेहोश थे। रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। उन्होंने बताया कि मौके पर एसडीआरएफ व एनजीआरएफ की टीम मौके पर मौजूद है। तीन शव बरामद हुए हैं। लोगों को बचाने की पूरी कोशिश की जा रही है।

वहीं, लोग कह रहे हैं कि इमारत में 30-35 परिवार रह रहे थे। हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़ गई है। बचाव दल द्वारा मलबे से बाहर निकाले गए दो लोगों ने सिविल अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है। आलिया अपार्टमेंट याजदान बिल्डर ने बनाया था। यहां संकरे रास्ते होने के कारण एम्बुलेंस व फायर की गाड़ियों को जाने में दिक्कत हो रही है। मौके पर पहुंचे नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक बचाव एवं राहत कार्य युद्ध स्तर पर करने के निर्देश दिए। उन्होंने दुर्घटना में घायलों का समुचित व शीघ्र इलाज करवाने तथा उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की। मौके पर एसडीआरएफ, एनडीआरएफ और नगर निगम की टीम राहत एवं बचाव कार्य में लगी हुई है। मुख्यमंत्री के सलाहकार अवनीश अवस्थी और लखनऊ के नगर आयुक्त इंद्रजीत सिंह मौजूद रहे।


सपा नेता की मां, पत्नी व बच्चे दबे : सपा प्रवक्ता हैदर अब्बास की मां, पत्नी और बच्चे के दबे होने की सूचना है। बताया जा रहा है कि हादसे के वक्त हैदर घर पर नहीं थे। पड़ोस के अपार्टमेंट की दीवार काटकर रेस्क्यू किया जा रह है।

डेढ़ घंटे बाद शुरू हुआ रेस्क्यू : प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक इमारत में कोई रिपेयर वर्क चल रहा था। ड्रिलिंग की आवाज आ रही थी। तभी बिल्डिंग गिरी। लोगों के मुताबिक बेसमेंट सहित पांच मंजिला बिल्डिंग पूरी तरह ढह गई। फिलहाल इसमें कितने परिवार दबे हैं इसकी जानकारी नहीं है। राम कुमार माली ने बताया कि करीब 6:30 बजे अचानक तेज धमाके के साथ बिल्डिंग गिर गई। इसके करीब डेढ़ घंटे बाद रेस्क्यू शुरू हुआ।

15 साल पुरानी थी बिल्डिंग : बचाव दल ने दो लोगों को सुरक्षित निकाला है। इन्हें सिविल अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती किया गया। बताया जा रहा है कि यह इमारत 15 साल पहले बनी थी। मौके पर पुलिस कमिश्नर एस. बी. शिरडकर पहुंच चुके हैं।

मुख्यमंत्री ने राहत एवं बचाव कार्य कराए जाने के दिए निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में एक पुरानी बिल्डिंग गिरने का संज्ञान लिया। घायलों को तत्काल अस्पताल पहुंचाकर जिला प्रशासन के अधिकारियों को उनके समुचित उपचार के निर्देश दिए हैं। साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की भी कामना की है। इसके साथ ही जिलाधिकारी और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ साथ एसडीआरएफ, एनडीआरएफ की टीमों को मौके पर जाकर राहत कार्य पर कराने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ कई अस्पतालों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए। बिल्डिंग के बेसमेंट में कई दिनों से चल रहा था कार्य, इलाक़े के लोगों ने बताया कई बार धमक कि आवाज़ भी आती थी, कई परिवार रह रहे थे बिल्डिंग में, एक भी व्यक्ति घटना के बाद बाहर नहीं निकल पाया हैं-पड़ोस के लोगों ने बताया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफ़सरों से फ़ोन पर वार्ता कर ली पूरी जानकारी ली है।

Updated : 25 Jan 2023 9:59 AM GMT
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top