Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > गौरव भाटिया का सपा पर तंज, कहा- जेल और बेल वाले उप्र के विकास को कराना चाहते है बेपटरी

गौरव भाटिया का सपा पर तंज, कहा- जेल और बेल वाले उप्र के विकास को कराना चाहते है बेपटरी

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता का विपक्ष पर हमला

गौरव भाटिया का सपा पर तंज, कहा- जेल और बेल वाले उप्र के विकास को कराना चाहते है बेपटरी
X

लखनऊ। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने शुक्रवार को कहा कि उत्तर प्रदेश वह प्रदेश है जो भारत की दिशा और दशा तय करता है। प्रदेश में कभी भ्रष्टाचार एवं अपराधियों का बोलबाला हो गया था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अथक प्रयास से प्रदेश को संवारा है। भाजपा शिक्षकों, अधिवक्ताओं, समाजसेवियों को टिकट दे रही है। दूसरी तरफ सपा अपराधियों को टिकट दे रही है। हम गन्ना की बात करते हैं और सपा जिन्ना की बात कर रही है। मुठ्ठी बांधकर अन्न लेकर संकल्प का ढोंग रचा जाता है। जेल में बंद और जमानत (बेल) पर चल रहे लोग उत्तर प्रदेश के विकास को बेपटरी करना चाहते हैं।

भाटिया ने कहा कि किसान सवाल पूछ रहे हैं। उनके दोषियों को सपा टिकट दे रही है। आजम खान पर 165 मुकदमें हैं। दो साल से जेल में हैं। न्यायालय ने बेल नहीं दी। उनके बेटे अब्दुल्ला आजम बेल पर हैं। सपा उन्हें चुनाव लड़ा रही है। ऐसे अपराधी को चुनाव में आगे कर रहे हैं कि आप लड़ो हम तुम्हारे साथ हैं। अखिलेश ने किसानों के लिए जो वादा किया था, उसे पूरा नहीं किया। योगी सरकार ने 36 हजार करोड़ का कर्जमाफी किया। 86 लाख किसान को लाभ हुआ। इनका तीसरा वादा बीमा का था। वह भी पूरा नहीं किया। सपा बताए कि आपने वादा पूरा क्यों नहीं किया। हमने जो वादा किया, उसे पूरा किया।

बोटी-बोटी कर देंगे कहने वाले को भी टिकट -

उन्होंने कानून व्यवस्था के मामले पर भी सपा को घेरा। सपा शासन में अपराध का राज था। वर्दी आजम की भैंस खोजने जा सकती थी, लेकिन महिलाओं की अस्मिता बचाने के लिए नहीं जाती थी। दाऊद अहमद की 100 करोड़ की अवैध सम्पत्ति योगी सरकार में ढहाई गयी। सपा ने उन्हें भी टिकट दिया। बोटी-बोटी कर देंगे कहने वाले को भी टिकट दिया। कैराना से पलायन कराने वाले को भी सपा ने टिकट दिया है। दंगा कराकर उत्तर प्रदेश की पावन भूमि पर दाग लगाए गए।

दंगा कराने वालों का सम्मान

भाटिया ने कहा कि दंगा कराने वालों के सम्मान में पूर्ववर्ती सरकार खड़ी रहती थी। मौलाना नजीर को चार्टर प्लेन से बुलाया गया। पांच कालिदास मार्ग पर बुलाकर तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश ने मुलाकात की थी। आज वर्दी का रसूख है। मुजफ्फरनगर दंगे में 65 हजार टेंट के नीचे थे। उनकी कोई सुध लेने वाला नहीं था। विपत्ति में ही किसी सरकार की असल परीक्षा होती है। कोरोना काल मे मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने प्रदेशवासियों की सेवा करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। सबको मुफ्त टीका दिया जा रहा है। आज उत्तर प्रदेश विकास की राह पर है।

Updated : 2022-02-04T14:45:09+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top