Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > बांदा जेल पहुंचते ही ठीक हो गया मुख्तार अंसारी, 'व्हीलचेयर' की नही पड़ी जरूरत

बांदा जेल पहुंचते ही ठीक हो गया मुख्तार अंसारी, 'व्हीलचेयर' की नही पड़ी जरूरत

रोपड़ जेल से मोहाली कोर्ट तक व्हील चेयर पर बैठकर जाने वाला मुख्तार अंसारी जैसे ही बांदा जेल पंहुचा वो बैरक के अंदर खुद चल कर गया.

बांदा जेल पहुंचते ही ठीक हो गया मुख्तार अंसारी, व्हीलचेयर की नही पड़ी जरूरत
X

बाँदा: उत्तर प्रदेश आते ही बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी लगता है तबीयत सही हो गई है. रोपड़ जेल से मोहाली कोर्ट तक व्हील चेयर पर बैठकर जाने वाला मुख्तार अंसारी जैसे ही बांदा जेल पंहुचा वो बैरक के अंदर खुद चल कर गया. कल तक व्हील चेयर और बीमारी की बात करने वाला मुख्तार अंसारी आज सुबह चलकर बैरक में गया.

बांदा जेल में पहुंचते ही जेलर ने मुख़्तार अंसारी को व्हीलचेयर ऑफर किया. मुख़्तार ने व्हीलचेयर की तरफ़ देखा भी नहीं और अपने साथ लाए हुए दोनों बैग को उठाकर सीधे अंदर चला गया. सूत्रों के मुताबिक, मुख़्तार की मेडिकल रिपोर्ट में भी उसे गंभीर बीमार होने की रिपोर्ट नहीं है, रिपोर्ट के अनुसार मुख़्तार का स्वास्थय ठीक है.

इस बीच यूपी पुलिस की ओर से एक प्रेस रिलीज जारी की गई है, जिसमें कहा गया, 'पुलिस की स्पेशल सुरक्षा टीम के द्वारा पंजाब की रोपड़ जेल से विचाराधीन बंदी मुख्तार अंसारी को आज सुबह लगभग 4:50 बजे बांदा जिला जेल के गेट पर लाया गया और लगभग 05 बजे तड़के उसे कारागार के अंदर दाखिल कर लिया गया.'

यूपी पुलिस ने कहा, 'लाने वाली पुलिस की स्पेशल टीम तथा जेल अधिकारियों की उपस्थिति में सुरक्षाकर्मियों द्वारा सभी सामानों की जांच की गई, सामानों के साथ-साथ खुद मुख्तार अंसारी को भी अत्याधुनिक डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर, पोल मेटल डिटेक्टर, हैंड हेल्ड मेटल डिटेकटर आदि उपकरणों के द्वारा तलाशी की गई जिसमें कोई भी अवैध सामग्री प्राप्त नहीं हुई.'

यूपी पुलिस के मुताबिक, 'मेडिकल कॉलेज बांदा के चिकित्सकों की टीम ने मुख्तार अंसारी का स्वास्थ्य परीक्षण किया, टीम द्वारा तात्कालिक तौर पर उन्हें स्वास्थ्य की समस्या नहीं बताई गई. कोर्ट से संबंधित उनके अभिलेखों का परीक्षण भी किया गया. मुख्तार अंसारी की सुरक्षा के लिए जेल प्रशासन ने पर्याप्त इंतजाम किए हैं.'

यूपी पुलिस ने कहा, 'मुख्तार अंसारी को बैरक नंबर 16 में रखा गया है जो 24 घंटे कैमरे की निगरानी में है, पूरी जेल सीसीटीवी कैमरों से कवर है और जेल मुख्यालय लखनऊ के कमांड सेंटर रूम से इसकी लगातार मॉनिटरिंग उच्चाधिकारियों द्वारा की जा रही है. कारागार की बाहरी सुरक्षा के लिए डेढ़ सेक्शन पीएसी के अतिरिक्त एक प्लाटून पीएसी तैनात है.'

इस बीच बांदा जेल में दो नए डिप्टी जेलर तैनात किए गए हैं. हेड जेल वार्डर और जेल वार्डर भी पर्याप्त संख्या में उपलब्ध करा दिए गए हैं. रोपड़ जेल में मुख्तार अंसारी की करोना जांच किए जाने की कोई रिपोर्ट नहीं मिली. इस वजह से मुख्तार अंसारी का आज सुबह कोरोना टेस्ट कराया गया.

Updated : 8 April 2021 5:31 AM GMT
Tags:    

Swadesh Lucknow

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top