Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > मायावती का गठंबंधन से इंकार, कहा- अपने दम पर लड़ेगी बसपा

मायावती का गठंबंधन से इंकार, कहा- अपने दम पर लड़ेगी बसपा

मायावती का गठंबंधन से इंकार, कहा- अपने दम पर लड़ेगी बसपा
X

लखनऊ।बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि मैंने पहले भी कहा है और फिर कह रही हूं कि विधानसभा चुनाव 2022 में बसपा अपने दम पर यूपी में चुनाव लड़ेगी। बसपा किसी दूसरे दल के साथ गठबंधन नहीं करेगी।

बसपा अध्यक्ष ने कहा कि ये चुनाव मेरे नेतृत्व में लड़ा जा रहा है। और सर्वसमाज की इच्छा है कि बहनजी को पांचवी बार मुख्यमंत्री बनाया जाये। जो लोग बसपा से जा रहे है, ये निकाले हुए लोग हैं। और मैं बता देना चाहती हूं कि जो लोग बसपा से निकाले जाते है, वह अकेले ही कही जाते हैं। उनके साथ बसपा का कार्यकर्ता नहीं जाता है।

युवाओं को आगे आना चाहिए-

उन्होंने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि युवाओं को आगे आना चाहिए। जब बसपा की टिकट की सूची जारी होगी, उसमें बड़ी संख्या में युवाओं का नाम होगा। कहा कि भाजपा ने हार के डर से कुछ दाम पेटोल डीजल के दाम में की है। इसी तरह विधानसभा चुनाव नजदीक आने पर गरीबों को मुफ्त राशन बांटा जा रहा है। ये प्रलोभन चुनाव बाद नजर नहीं आयेंगे।

साम्प्रदायिक मुद्दे उठाने का प्रयास -

मायावती ने कहा कि अयोध्या, जिन्ना सहित गड़े हुए साम्प्रदायिक मुद्दे उठाने का सपा और भाजपा का प्रयास कर रही है। जिससे साम्प्रदायिक माहौल हो जाये और इन्हें फायदा हो। उन्होंने पत्रकार वार्ता में कहा कि अब प्रदेश की जनता इनके किसी षड़यंत्र में फंसने वाली नहीं है। जब सपा सत्ता में होती है, तो भाजपा मजबूत होती है। जब बसपा सत्ता में होती है तो भाजपा कमजोर होती है। उत्तर प्रदेश में विधानसभा में 403 सीटों में तीन सौ सीटें भाजपा और चार सौ सीटें सपा के जीतने का दावा हवाहवायी है। चुनावी दावे और वायदों पर यूपी में कोई टैक्स नहीं लगता है। निष्पक्ष चुनाव बतायेगा कि किसमें कितना दम है। कोरोना पीड़ितों को मदद करने के मामले में बसपा के लोगों ने बिना धिंधोरा पीटे हुए लगातार मदद की है।

सरकार राष्टधर्म नहीं निभा पायी

उन्होंने कहा कि ये सरकार राष्टधर्म नहीं निभा पायी है। कोविड के वक्त भी अपनी जेब ही भरने का काम किया है। इनती जातिवादी, पूंजीवादी, गलत नीतियों के कारण उत्तर प्रदेश सहित देश में दलित, शोषित, मुस्लिम सहित अन्य वर्ग बूरी तरह से दुखी है। मैने पिछले महीने नौ अक्टूबर को कांशीराम कार्यक्रम में पोलिंग बूथ कमेटियों की समीक्षा के लिए कहा था, ये कार्य पूरे प्रदेश में युद्ध स्तर पर चल रहा हैं। बसपा प्रदेश स्तर का बड़ा कार्यक्रम करती है। जिले में जाकर सरकारी कर्मचारियों को जुटाकर वर्तमान मुख्यमंत्री की तरह कार्यक्रम नहीं करते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस सहित अन्य एक्सप्रेस की रुपरेखा बसपा की सरकार में ही बन गयी थी। यूपी के मुख्यमंत्री को बता देना चाहती हूं कि उनका मूल परिवार आरएसएस है। हमनें गरीब शोषित करे लिए कार्य किया है, वही मेरा परिवार है। बधाई और शुभकामनाएं देते हुए उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के स्थापना दिवस पर हार्दिक बधाई देती हूं। छठ पूजा पर मान्यता रखने वाले लोगों को शुभकामनाएं देती हूं। एससी मिश्रा जी का जन्मदिन भी है, उन्हें भी जन्मदिवस की हार्दिक बधाई देती हूं।

Updated : 2021-11-10T14:49:31+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top