Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > एंबुलेंस चालक ने दी गलत जानकारी, रास्ते में खत्म हुई ऑक्सीजन, कोरोना संक्रमित गर्भवती की मौत

एंबुलेंस चालक ने दी गलत जानकारी, रास्ते में खत्म हुई ऑक्सीजन, कोरोना संक्रमित गर्भवती की मौत

महिला को लखनऊ से गाेरखपुर के अस्पताल ले जाया जा रहा था। एंबुलेंस चालक ने परिवारीजनों को पर्याप्त ऑक्सीजन होने की गलत जानकारी दी जिसकी वजह से रास्ते में ऑक्सीजन खत्म होने से कोरोना संक्रमित गर्भवती की मौत हो गई।

एंबुलेंस चालक ने दी गलत जानकारी, रास्ते में खत्म हुई ऑक्सीजन, कोरोना संक्रमित गर्भवती की मौत
X

लखनऊ: लखनऊ के तेलीबाग की रहने वाली एक महिला ने अस्पतालों व निजी एंबुलेंस वालों की लापरवाही की वजह से जान गंवा दी। महिला को लखनऊ से गाेरखपुर के अस्पताल ले जाया जा रहा था। एंबुलेंस चालक ने परिवारीजनों को पर्याप्त ऑक्सीजन होने की गलत जानकारी दी जिसकी वजह से रास्ते में ऑक्सीजन खत्म होने से कोरोना संक्रमित गर्भवती की मौत हो गई।

यह है मामला :

रायबरेली रोड, तेलीबाग निवासी 32 वर्षीय पूनम, कोरोना संक्रमित हो गई, जो कि 4-5 महीने की गर्भवती महिला थी। हालत बिगड़ने पर घरवालों ने पहले उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया लेकिन इलाज के अभाव व ऑक्सीजन की कमी व धांधली को देखते हुए वहां से निकाल लिया।

इसके बाद 20 अप्रैल को परिवारीजनों ने उसे लोकबंधु हॉस्पिटल में रजिस्ट्रेशन कराके किसी तरह भर्ती कराया। पूनम के भाई संजय के मुताबिक वहां भी ऑक्सीजन की कमी से इलाज में अफरा-तफरी मची रही। वहां भी उसके इलाज में लापरवाही की गई। पूनम अपने गर्भवती होने की दुहाई देती रही, लेकिन किसी ने नहीं सुना।

पूनम के भाई संजय व उनके बहनोई ओम प्रकाश ने उसे गोरखपुर में भर्ती कराने की व्यवस्था की। 21 अप्रैल देर रात गोरखपुर जाने के लिए एक निजी एंबुलेंस बुक की। जहां उन्होंने ऑक्सीजन सिलिंडर की पर्याप्त व्यवस्था के बारे में पूछा तो एंबुलेंस वाले ने बताया कि उसके पास दो सिलिंडर है।

अनिल ने बताया कि गोरखपुर के लिए एंबुलेंस को 28 हजार रुपये में बुक किया था। वहीं बाराबंकी पहुंचते ही एक ऑक्सीजन सिलिंडर खत्म हो गया। जिसके बाद जब वे दूसरा सिलिंडर लगाने चले तो पता चला कि वे पहले से ही खाली था।

संजय ने बताया कि गर्भवती पूनम ने ऑक्सीजन के अभाव में दम तोड़ दिया। अनिल ने इसकी सूचना बाराबंकी के नजदीकी पुलिस चौकी में दी तो उन्होंने कार्यवाही से इन्कार करते हुए कहा कि इसका रिपोर्ट लखनऊ थाने में दर्ज होगी। इसके बाद अनिल व उनके बहनोई पूनम के कोविड पॉजिटिव की वजह से अंतिम संस्कार आदि में लग गए। गर्भवती पूनम के पति ओम प्रकाश ने एंबुलेंस मालिक छोटू शुक्ला निवासी ठाकुरगंज उसके चालक राजू पर लापरवाही के बारे में पुलिस को जानकारी दी।

Updated : 8 May 2021 6:28 PM GMT
Tags:    

Swadesh Lucknow

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top