Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > इलाहाबाद हाई कोर्ट एक मई को पूरी तरह रहेगा बंद, किया जाएगा सैनेटाइज

इलाहाबाद हाई कोर्ट एक मई को पूरी तरह रहेगा बंद, किया जाएगा सैनेटाइज

कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रकोप निरंतर बढ़ता जा रहा है। इसके मद्देनजर इलाहाबाद हाई कोर्ट एक मई को बंद रहेगा। प्रयागराज स्थित प्रधानपीठ और लखनऊ पीठ में कोर्ट नहीं बैठेगी और न ही केसों की सुनवाई की जाएगी। भवन और परिसर का सैनिटाइजेशन किया जाएगा।

इलाहाबाद हाई कोर्ट एक मई को पूरी तरह रहेगा बंद, किया जाएगा सैनेटाइज
X

लखनऊ: कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रकोप निरंतर बढ़ता जा रहा है। इसके मद्देनजर इलाहाबाद हाई कोर्ट एक मई को बंद रहेगा। प्रयागराज स्थित प्रधानपीठ और लखनऊ पीठ में कोर्ट नहीं बैठेगी और न ही केसों की सुनवाई की जाएगी। भवन और परिसर का सैनिटाइजेशन किया जाएगा। इसकी जानकारी निबंधक प्रोटोकॉल आशीष कुमार श्रीवास्तव ने दी है। प्रधानपीठ और लखनऊ पीठ के परिसर का सैनिटाइजेशन कराने के लिए इसके पहले भी कोर्ट को बंद किया गया है।

कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर इलाहाबाद हाई कोर्ट की प्रधान पीठ प्रयागराज में केसों की केवल वर्चुअल सुनवाई हो रही है। मुकदमों का दाखिला भी ऑनलाइन ही किया जा रहा है। शारीरिक रूप से उपस्थित होकर केसों का दाखिला नहीं होगा। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने प्रदेश की जिला अदालतों, अधिकरणों और पारिवार न्यायालयों के लिए भी नई गाइडलाइन जारी की है। इसके तहत मुकदमों की सुनवाई अब सिर्फ वर्चुअल तरीके से ही की जाएगी। भौतिक रूप से किसी मुकदमे की सुनवाई नहीं होगी। हाई कोर्ट ने वकीलों और वादकारियों, स्टांप वेंडर और एडवोकेट क्लर्क के अदालत परिसर में प्रवेश करने पर रोक लगा दी है।

बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर उत्तर प्रदेश में काफी तेज है। प्रदेश में बीते 24 घंटे में 332 लोगों की मृत्यु हो गई है, जबकि कोविड संक्रमण के 34,626 नए मामले सामने आए हैं। प्रदेश में अभी भी तीन लाख 10,783 एक्टिव केस हैं। इससे पहले नौ लाख 28971 लोग इसके संक्रमण से उबरे भी हैं। प्रदेश में अभी भी लखनऊ, कानपुर नगर, वाराणसी, प्रयागराज, मेरठ व बरेली में कुल संक्रमितों में से आधे हैं। सरकार इन शहरों पर फोकस टेस्टिंग भी करा रही है। अब यहां पर बड़े कंटेनमेंट जोन भी तैयार करने का प्रयास हो रहा है।

जस्टिस वीरेंद्र श्रीवास्तव का कोरोना संक्रमण से निधन : बता दें कि इलाहाबाद हाई कोर्ट के न्यायमूर्ति वीरेंद्र कुमार श्रीवास्तव का कोरोना संक्रमण के चलते बुधवार को निधन हो गया था। कुछ दिन पहले उन्हें एसजीपीजीआइ लखनऊ में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान उन्होंने अंतिम सांस ली। वह इलाहाबाद हाई कोर्ट के पहले ऐसे जस्टिस हैं, जिनका कोरोना से निधन हुआ है।

Updated : 30 April 2021 5:09 PM GMT
Tags:    

Swadesh Lucknow

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top