Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > अलीगढ़ शराब कांड: चौथे दिन भी जहरीली शराब का कहर जारी, 80 पहुंचा मौतों का आंकड़ा

अलीगढ़ शराब कांड: चौथे दिन भी जहरीली शराब का कहर जारी, 80 पहुंचा मौतों का आंकड़ा

अलीगढ़ में जहरीली शराब का कहर लगातार चौथे दिन भी जारी रहा। जिले में जहरीली पीने से अब तक 80 लोगों की मौत हो चुकी है। अलग-अलग स्थानों पर सोमवार को छह और लोगों ने शराब से दम तोड़ दिया।

अलीगढ़ शराब कांड: चौथे दिन भी जहरीली शराब का कहर जारी, 80 पहुंचा मौतों का आंकड़ा
X

लखनऊ: अलीगढ़ में जहरीली शराब का कहर लगातार चौथे दिन भी जारी रहा। जिले में जहरीली पीने से अब तक 80 लोगों की मौत हो चुकी है। अलग-अलग स्थानों पर सोमवार को छह और लोगों ने शराब से दम तोड़ दिया। सीएमओ ने अब तक 25 मौतों की पुष्टि करते हुए अन्य मौतों को संदिग्ध बताया। एक दर्जन से ज्यादा लोगों की हालत जहरीली शराब के सेवन गंभीर बनी हुई है। उधर, शासन ने शराब कांड में लापरवाही उजागर होने पर संयुक्त आबकारी आयुक्त आगरा व उप आबकारी आयुक्त अलीगढ़ मंडल को निलंबित करते हुए विभागीय जांच बैठा दी है।

शुक्रवार से जहरीली शराब के सेवन से मौत का खूनी खेल गांवों से निकलकर शहर आ गया। सुबह ही थाना क्वारसी के मोहल्ला चंदनिया में एक-एक कर तीन लोगों ने दम तोड़ दिया। पीड़ित परिजनों ने बताया कि शराब का ठेका बंद होने से क्षेत्र में ही अवैध शराब का काम करने वाली एक महिला से 70 का पउआ 150 रुपये में खरीदा था। दो मौतें थाना गांधीपार्क के धनीपुर क्षेत्र में हुईं। इसी थानाक्षेत्र के मोहल्ला शीशिया पाड़ा में एक व्यक्ति की मौत भी शराब पीने के बाद हो गई। यहां गुस्साएं परिजनों ने जाम लगाने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस द्वारा समझाए जाने पर लोग मान गए। तीन मौतें देहात क्षेत्र में टप्पल व जट्टारी क्षेत्रों में हुईं।

मौत बांटने वाली फैक्ट्री पकड़ी, 203 ड्रम एथाइल एल्कोहल बरामद

शराब कांड के आरोपी 50 हजारी विपिन यादव ने पुलिस को पूछताछ में जहरीली शराब तैयार करने को मिथाइल एल्कोहल की सप्लाई के संबंध में बड़े खुलासे किए। जिसके बाद पुलिस, प्रशासन, आबकारी की संयुक्त टीमों ने तालानगरी औद्योगिक क्षेत्र में वरदान इंक प्राइवेट लिमिटेड पर छापा मारा। जहां से 203 ड्रम एथाइल एल्कोहल, स्प्रिट व कई हानिकारक केमिकल बरामद किए गए हैं। पुलिस के अनुसार फैक्ट्री पर सेनेटाइजर निर्माण के लिए आर्येुवद विभाग से लाइसेंस है, लेकिन आबकारी विभाग से स्प्रिट रखने की परमिट व एल्कोहल रखने व बिक्री करने का कोई लाइसेंस नहीं मिला। पुलिस ने फैक्ट्री मालिक विजेन्द्र कपूर व एकाउंटेंट राकेश शर्मा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

भाजपा सांसद, मौत के सामान की फैक्ट्री के समर्थन में आए, प्रशासन की बताया चाल तालानगरी में जिस फैक्ट्री से पुलिस ने एथाइल एल्कोहल, स्प्रिट बरामद की है। भाजपा सांसद सतीश गौतम उस फैक्ट्री व उसके मालिक के सर्मथन में आ गए हैं। सांसद ने कहा कि पुलिस-प्रशासन माइंड डायवर्ट करने के लिए निर्दोष व्यापारी को फंसा रहा है। निर्दोष व्यापारी को नहीं फंसने दिया जाएगा।

शराब ठेकेदारों की 16 दुकानें निरस्त : सोमवार को प्रशासन ने बड़ी कार्यवाही करते जहरीली शराब कांड में लिप्त लाइसेंसी शराब ठेकेदारों की 16 दुकानों को निरस्त कर दिया। जिसमें जिलेभर की देशी, विदेशी शराब व बीयर की दुकानें शामिल हैं।

पहले दिन लिए शराब नमूनों में से एक फेल : शुक्रवार को जहरीली शराब के सेवन से शुरू मौत के खेल के दौरान लोधा थानाक्षेत्र के गांव करसुआ के देशी शराब ठेके से शराब के चार नमूने लेकर भेजे गए थे। स्थानीय लोगों ने गांव में हुई मौतों को लेकर कहा था कि अधिकांश मरने वालों ने इसी ठेके से शराब खरीदी थी। इन नमूनों में से एक नमूना मेरठ लैब से फेल होकर आया है। इस नमूने में मिथाइल एल्कोहल की मिलावट की पुष्टि की गई है।

जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह का कहना है कि जहरीली शराब कांड में लिप्त शराब ठेकेदारों की 16 दुकानों को निरस्त कर दिया गया है। इनकी अन्य दुकानों को भी चिन्हित कराया जा रहा है। अब तक 25 मौतों की पुष्टि हो सकी है। इसके अलावा जो अन्य मौतें हुई हैं, उनका बिसरा सुरक्षित रखवाते हुए नमूना आगरा लैब जांच को भेजा गया है।

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया, शराब कांड के आरोपी की निशानदेही पर हरदुआगंज व अकराबाद में दो जगह छापेमारी की गई थी। हरदुआगंज थानाक्षेत्र में एक फैक्ट्री से भारी मात्रा में एथाइल एल्कोहल, स्प्रिट व अन्य हानिकारक केमिकल बरामद किए गए हैं। यहां से जहरीली शराब तैयार करने के लिए केमिकल की सप्लाई किए जाने की बात सामने आई है।

Updated : 31 May 2021 3:43 PM GMT
Tags:    

Swadesh Lucknow

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top