Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > कार्य में शिथिलता एवं लापरवाही के लिए एके शर्मा की आंख लाल

कार्य में शिथिलता एवं लापरवाही के लिए एके शर्मा की आंख लाल

वरिष्ठ अधिकारियों पर गिरी गाज, तीन सस्पेंड, एक की सेवा

कार्य में शिथिलता एवं लापरवाही के लिए एके शर्मा की आंख लाल
X

- ऊर्जा मंत्री एके शर्मा के निर्देश पर संभव पोर्टल की व्यवस्थानुसार आज जिलों व सर्किल स्तर पर की गई जनसुनवाई

लखनऊ। ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री ए.के. शर्मा के निर्देश पर विद्युत उपभोक्ताओं की विभिन्न शिकायतों व समस्याओं के निराकरण के लिए सोमवार को प्रत्येक डिस्काम के जिला एवं सर्किल स्तर पर संभव पोर्टल की व्यवस्थानुसार जनसुनवाई की गई। इसमें उपभोक्ताओं की समस्याओं का मौके पर ही निस्तारण किया गया। इस दौरान उपभोक्ताओं की बिलिंग, मीटर खराब, विद्युत आपूर्ति, लोबोल्टेज, ज्यादा बिल आने तथा कनेक्शन आदि से संबंधित शिकायतों की सुनवाई की गई।

मध्यांचल डिस्काम के अन्तर्गत जनसुनवाई में बिलिंग संबंधी 658 शिकायतें प्राप्त हुईं, जिसमें से 355 शिकायतों का मौके पर ही निस्तारण कर दिया गया। इसी प्रकार विद्युत आपूर्ति के 445 शिकायतें प्राप्त हुईं, जिन्हें निस्तारित करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए गए। ऊर्जा एवं नगर विकास मंत्री ए.के. शर्मा ने कहा कि उपभोक्ताओं की समस्याओं का जड़ से निस्तारण करने के लिए संभव पोर्टल की व्यवस्था की गई है, अब प्रत्येक समस्या का गहन विश्लेषण कर समाधान किया जायेगा, जिससे कि भविष्य में उसी प्रकार की समस्या अन्य उपभोक्ताओं को न हो। उन्होंने कहा कि संभव पोर्टल की व्यवस्था अनुसार प्रत्येक सोमवार को जिला स्तर पर अधिसाशी अभियन्ता द्वारा सुबह 10 बजे से 12 तक एवं सर्किल स्तर पर अधीक्षण अभियन्ता द्वारा अपराह्न 3 से 5 बजे तक जनसुनवाई की जा रही। साथ ही प्रत्येक डिस्काम के समस्त मुख्य अभियन्ता, निदेशक एवं प्रबंध निदेशक को जनसुनवाई कार्यक्रम का मौके पर जाकर निरीक्षण करने के भी निर्देश दिए गए हैं, जिससे कि इस संवेदनशील कार्य को बेहतर ढंग से किया जा सके।

ए.के. शर्मा ने निर्देशित किया है कि डिस्काम स्तर पर प्रबंध निदेशक कल मंगलवार को प्रातः 10 बजे से 12 बजे तक लोगों की समस्याएं सुनेंगे और मौके पर निस्तारण करने के निर्देश देंगे। साथ ही जिले व सर्किल स्तर पर की गई जनसुनवाई की गुणवत्ता का संभव पोर्टल के माध्यम से मॉनीटरिंग भी करेंगे। उन्होंने निर्देशित किया है कि सभी प्रबंध निदेशक समस्याओं के निस्तारण में पूर्ण संवेदनशीलता, निष्ठा व पारदर्शिता का पालन करेंगे। कहीं से भी भेदभाव की शिकायत न आये। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि जिला, सर्किल और डिस्काम स्तर पर आयी जिन शिकायतों का निस्तारण नहीं हो पायेगा। ऐसी समस्याओं के समाधान के लिए माह के तीसरे बुधवार को दोपहर 12 बजे से स्वयं ऊर्जा मंत्री और विभाग के उच्चाधिकारियों द्वारा सुनवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि सम्भव पोर्टल की टेक्नॉलोजी आधारित व्यवस्था से शिकायतों का निस्तारण मूल स्थान पर ही गुणवत्तापूर्ण ढंग से किये जाने के प्रयास किये जायेंगे और इसमें अधिकारियों व कर्मचारियों की जिम्मेदारी भी तय की जायेगी। दो स्थानीय स्तरों के कार्य की निगरानी हो सके और बचे हुए मामलों का निस्तारण हो सके इसलिए कल मंगलवार को विद्युत वितरण कम्पनी के स्तर पर मैनेजिंग डिरेक्टर द्वारा स्वयं 10 बजे सुनवाई की जाएगी। यह क्रम अनवरत चलता रहेगा। जन शिकायतें इकट्ठी ना होने पाएँ, और हों तो उनका निस्तारण करते हुए ज़िम्मेवारी तय हो सके। ऐसी व्यवस्था की गई है।

ऊर्जा मंत्री को पावर कारपोरेषन के अधिकारियों द्वारा बताया गया कि आज आंधी तूफान के समय ट्रांसमिषन उपखण्ड मार्टिनपुरवा की लाइन ट्रिप कर गयी थी, जिससे राजधानी लखनऊ की विद्युत व्यवस्था प्रभावित हुई। इस लापरवाही के लिए ट्रांसमिषन के अधिषासी अभियन्ता (वि.प्र.खं.-प्रथम, लखनऊ) संजय पासवान, उपखण्ड अधिकारी पुश्पेष गिरी तथा अवर अभियन्ता अमर राज को निलम्बित कर दिया गया है तथा उपकेन्द्र परिचालक (संविदाकर्मी) दीपक षर्मा की सेवायें समाप्त कर दी गयी है।

Updated : 23 May 2022 5:51 PM GMT

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top