Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अयोध्या > पंचतत्व में विलीन हुए राजू श्रीवास्तव, नम आँखों से फैंस और परिवार ने दी विदाई

पंचतत्व में विलीन हुए राजू श्रीवास्तव, नम आँखों से फैंस और परिवार ने दी विदाई

पंचतत्व में विलीन हुए राजू श्रीवास्तव, नम आँखों से फैंस और परिवार ने दी विदाई
X

नईदिल्ली। 42 दिन तक जिंदगी से जंग लड़ने के बाद बुधवार को राजू श्रीवास्तव इस दुनिया को अलविदा कह गए। उनका अंतिम संस्कार गुरुवार को दिल्ली के निगम बोध घाट पर हुआ। राजू को अंतिम विदाई देने वालों में उनके साथी कलाकार कॉमेडियन सुनील पाल, एहसान कुरैशी समेत कई सेलेब्स शामिल हुए। वहीं उनके फैंस भी भारी संख्या में अपने प्रिय कलाकार के आखिरी दर्शन करने के लिए पहुंचे थे।

राजू श्रीवास्तव के भाई दीपू राजू श्रीवास्तव ने उन्हें मुखाग्नि दी। इससे पहले राजू श्रीवास्तव का पार्थिव शरीर उनके भाई के घर दशरथपुरी में रखा गया था। बता दें कि राजू के दो बच्चे हैं। बेटी का नाम अंतरा श्रीवास्तव और बेटे का नाम आयुष्मान श्रीवास्तव है।

हुआ वर्चुअल पोस्टमार्टम -

इससे पहले बुधवार को राजू श्रीवास्तव का वर्चुअल पोस्टमार्टम किया गया। इस प्रक्रिया में शरीर की चीर- फाड़ नहीं होती है। केवल मशीन की स्कैनिंग के जरिए शव का पोस्टमार्टम किया जाता है। इसमें बहुत कम समय में परिवार को पार्थिव शरीर सौंप दिया जाता है।

शोक में बॉलीवुड-

राजू श्रीवास्तव के इतनी जल्दी दुनिया से जाने से बॉलीवुड में भी शोक की लहर है। उनके निधन पर बॉलीवुड सेलेब्स ने उन्हें सोशल मीडिया के जरिए भावभीनी श्रद्धाजंलि दी तो वहीं सैंड आर्टिस्ट सुदर्शन पटनायक ने अपने खास अंदाज में बालू से राजू श्रीवास्तव की मूर्ति उकेर कर उन्हें श्रद्धांजलि दी है।उल्लेखनीय है कि राजू श्रीवास्तव को बीती 10 अगस्त को वर्कआउट करते दौरान हार्ट अटैक आया था इसके बाद उन्हें दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां उसी दिन उनकी एंजियोप्लास्टी हुई थी। एक-दो बार राजू श्रीवास्तव की तबीयत में थोड़ा सुधार हुआ था मगर उन्हें होश नहीं आ पाया था। 42 दिनों तक जिंदगी और मौत के बीच लड़ते-लड़ते आखिरकार राजू हार गए और इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह गए।

Updated : 2022-09-24T22:21:27+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top