Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > आगरा > 4 बजे 'निकाह' 6 बजे शौहर ने बोला.. तलाक..तलाक.. तलाक ..

4 बजे 'निकाह' 6 बजे शौहर ने बोला.. तलाक..तलाक.. तलाक ..

मोहब्बत की नगरी बताने वाले ही दहेज के तराजू में तौल रहे हैं मोहब्बतें

4 बजे निकाह 6 बजे शौहर ने बोला.. तलाक..तलाक.. तलाक ..
X

आगरा। ताजमहल को मोहब्बत की निशानी बताने वाले वांशिदें ही गुरूवार को मोहब्बत की नगरी ताज में मोहब्बत को दहेज के तराजू में तौलते दिखे। जहां एक शौहर ने अपनी बेगम से सुबह 4 बजे निकाह किया और दहेज के लिए सुबह 6 बजे बेगम को तलाक..तलाक..तलाक बोलकर चला गया। इस दौरान दूल्हे के परिजन भी उसका साथ देते रहे। वहीं लड़की के घर वाले मिन्नते मांगते रहे, लेकिन लालची पत्थर दिल परिवार का दिल नही पसीजा। करीब 2 घंटे तक ये विवाद चलता रहा। इसके बाद दूल्हा तीन तलाक बोलकर चला गया। लड़की पक्ष ने ताजगंज थाने में दूल्हा सहित 7 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

मंटोला स्थित ढोलीखार निवासी दुल्हन के भाई कामरान वारसी ने बताया बुधवार रात को ताजनगरी के प्रियांशु गार्डन में 2 बहनों की शादी थी। बहन गौरी का निकाह हो गया था। वह विदा हो गई। इसके बाद दूसरी बहन डौली का निकाह आसिफ के साथ तड़के 4 बजे के करीब हुआ। शादी में बहनों को गृहस्थी का सामान, जेवरात और कैश दिया गया। साथ ही दावत पर करीब 30 लाख रुपए खर्च किए गए। गुरुवार सुबह करीब 6 बजे जब विदाई का समय आया तो आसिफ और उसके परिवार के लोग अड़ गए। आसिफ की मां मुन्नी देवी ने कहा, इतने पैसे में क्या होगा। हमारे यहां करोड़ों में शादी होती है। हमें लग्जरी कार चाहिए। दूल्हे ने कहाए जब तक ये डिमांड पूरी नहीं होंगी, तब तक दुल्हन को नहीं ले जाऊंगा। हमने दूल्हे और उनके परिवारजनों के सामने हाथ जोड़े और काफी मिन्नतें की, लेकिन ससुराल वाले नहीं माने। हमने अपने रिश्तेदारों से मदद मांगी। कुछ देर में कुछ रुपए इकट्ठा हो गए। तो कार की डिमांड पूरी कर दी गई। मगर वो ज्यादा जेवर भी मांग रहे थे, जोकि हमारे लिए बहुत मुश्किल हो गया। हमने साफ मना कर दिया कि कार दे रहे हैं। इतना काफी है। इस पर दूल्हे की ओर से आएं लोगों ने गाली-गलौज व अभद्रता शुरू कर दी। कुछ देर में वो लोग मारपीट करने लगे। हमसे मिली नगदी और जेवरात लेकर चले गए। चंद रिश्तेदारों के साथ दूल्हा आसिफ रुका हुआ था। डिमांड पूरी नहीं होने पर वह भी सुबह 6 बजे जाने लगा। हमने पूछा तो उसने सबके सामने अपनी नई नवेली बेगम डौली को तीन तलाक दे दिया।

दूल्हे आसिफ की नाई की मंडी में जूते की फैक्ट्री है। तीन माह पहले बिचैलिए के माध्यम से रिश्ता पक्का हुआ था। लड़का पढ़ा लिखा नहीं था। निकाह के समय तक सब कुछ सामान्य था, लेकिन निकाह के बाद से सबके मिजाज बदल गए। लड़की पक्ष ने परेशान होकर पुलिस को फोन किया। पुलिस के आने पर दूल्हा आसिफ समेत लड़के पक्ष के खिलाफ तहरीर दी। पुलिस ने जांच के बाद नाला चून पचान, नाई की मंडी में रहने वाले दूल्हा आसिफ, मां मुन्नी, पिता परवेश, भाई सलमान, बहन रुखसार, नजराना और फहरीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। इस मामले में थाना ताजगंज के प्रभारी निरीक्षक देवेंद्र शंकर पांडेय का कहना है कि जांच चल रही है। जल्दी ही कार्रवाई का दायरा बढ़ाया जाएगा। डीसीपी सूरज राय ने बताया कि थाना ताजगंज से सूचना मिली कि दो बहनों की शादी थी। इसमें एक बहन को तीन तलाक देने का मामला सामने आया है। विवेचना के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

मटन और चिकिन बिरयानी को लेकर भी हुआ विवाद

दुल्हन के भाई ने बताया, निकाह के बाद से ही ससुरालीजनों ने दावत में बिरयानी को लेकर हंगामा किया था। उनका कहना था कि उनको मटन की बिरयानी चाहिए थी। जबकि उन्होंने चिकन बिरयानी बनवाई थी। ऐसे में रात को ही दोबारा मटन बिरयानी बनाई गई। इसके बाद दूल्हे की मां ने डाइट कोक की मांग कर दी। रात को डाइट कोक के लिए भागना पड़ा।

वर्जन.

एक परिवार के साथ यह हो सकता है, तो ना जाने कितने परिवारों के साथ भी ऐसी घटना हो सकती है। अगर ऐसा ही चलता रहा तो एक की सात बीबियां होंगी और तीन तलाक के चक्कर में घर बर्बाद होते रहेंगे। मेरी सरकार से मांग है कि समान आचार नागरिक संहिता को जल्द से लागू करें। अगर आज देश में यूजीसी होता तो, मेरी बहन के साथ ऐसा नहीं होता।

—कामरान वारसी, लड़की का भाई।

Updated : 14 July 2023 2:51 PM GMT
author-thhumb

स्वदेश आगरा

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Top