Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > आगरा > सपा नेता ने लगवाए थे लखनऊ में मुख्यमंत्री के आपत्तिजनक पोस्टर

सपा नेता ने लगवाए थे लखनऊ में मुख्यमंत्री के आपत्तिजनक पोस्टर

संजय प्लेस स्थित इंडियन प्रिंटिंग वक्र्स प्रेस में छपते थे

आगरा। मुख्यमंत्री के आपत्तिजनक पोस्टर लगवाने के आरोप में पुलिस ने आगरा के सपा नेता को लखनऊ से गिरफ्तार किया है। पूछताछ में आगरा के संजय प्लेस में इंडियन प्रिंटिंग वर्क्स प्रेस में पोस्टर छपने की बात सामने आई। इस पर शनिवार को पुलिस यहां आई। प्रिंटिंग प्रेस के मैनेजर और डिजायनर को गिरफ्तार कर लिया। थाना हरीपर्वत में जीडी एंट्री कराने के बाद ले गई।

बता दें कि लखनऊ में मुख्यमंत्री कार्यालय के बाहर और अन्य प्रमुख स्थानों पर 26 अगस्त को पोस्टर लगे मिले थे। इन पर अखिलेश यादव को ब्राह्मणों का रक्षक दिखाया गया था। ब्राह्मणों पर अत्याचार की बात लिखी थी। मुख्यमंत्री के हाथ में हंसिया दिखाया गया था। इस पर मुद्रक का नाम और पता नहीं था। भड़काऊ नारे लिखे थे। एक जगह पर विकास यादव प्रदेश सचिव सपा छात्र सभा लिखा था। इसी स्थान पर एक फोटो भी लगा था। इस पोस्टर से लोगों में भय व्याप्त हो गया। जाति विशेष के लोगों में शांति भंग की आशंका बन गई।

इस मामले में लखनऊ के हजरतगंज थाने में एसआई कृष्णकांत सिंह ने मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस की विवेचना में पता चला कि विकारस यादव आगरा के सिकंदरा स्थित गांव ककरैठा का रहने वाला है। पुलिस ने शुक्रवार देर रात विकास यादव को लखनऊ में गिरफ्तार कर लिया। उससे पूछताछ में जानकारी हुई कि लखनऊ में चिपकाए गए पोस्टर उसने संजय प्लेस की इंडियन प्रिंटिंग वर्क्स प्रेस में छपवाए थे। लखनऊ पुलिस की एक टीम शनिवार को यहां आई। लखनऊ क्राइम ब्रांच के निरीक्षक प्रमोद कुमार मिश्रा और उनकी टीम ने हरीपर्वत पुलिस को साथ लेकर दोपहर में तीन बजे प्रिंटिंग प्रेस पर छापा मारा। विजय नगर कालोनी निवासी राजेंद्र उर्फ बॉबी और न्यू आगरा के करबला निवासी आसिफ को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने पूछताछ में पुलिस को पोस्टर छापने की बात कही। बॉबी प्रेस का मैनेजर है, जबकि मालिक अनवर खान हैं। आसिफ डिजायनिंग करता है।

निरीक्षक प्रमोद कुमार मिश्रा ने बताया कि विकास यादव और बॉबी एकदूसरे को पहले से जानते थे। इसलिए विकास ने उनसे पोस्टर छापने को कहा था। मालिक की जानकारी के बिना 24 और 25 अगस्त को 1600 रुपये में 12 पोस्टर छपवाए थे। इन पर मुद्रक का नाम नहीं डाला था। इनको डिजाइन आसिफ ने किया था। पुलिस टीम दोनों को गिरफ्तार कर अपने साथ लेकर लखनऊ को रवाना हो गई। विकास को जेल भेज दिया गया है। अब आरोपी बाबी और आसिफ को रविवार को कोर्ट में पेश किया गया जाएगा।

Updated : 5 Sep 2020 3:54 PM GMT

स्वदेश आगरा

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top