Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > आगरा > खंदौली के बदमाश ने मारी थी आंबेडकर विवि के असिस्टेंट प्रोफेसर को गोलियां

खंदौली के बदमाश ने मारी थी आंबेडकर विवि के असिस्टेंट प्रोफेसर को गोलियां

तीन लाख रुपये के लिए हुआ था विवाद, पुलिस ने हमलावरों को किया गिरफ्तार

खंदौली के बदमाश ने मारी थी आंबेडकर विवि के असिस्टेंट प्रोफेसर को गोलियां

आगरा। डॉक्टर भीमराव आंबेदकर विवि के समाज विज्ञान संस्थान के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. आरके भारती को तीन गोलियां मारने वाले हमलावरों को पुलिस ने दबोच लिया है। खंदौली के बदमाश ने अवैध पिस्टल से गोलियां चलाई थीं। वारदात में दिल्ली से चुराई बाइक का प्रयोग किया था। घटना के बाद दोनों हमलावर दिल्ली भाग गए थे। हत्या की मंशा से ही हमला बोला गया था। संयोग से डॉक्टर भारती की जान बच गई। पुलिस ने बताया कि वारदात में प्रयुक्त पिस्टल बरामद हो गई है। बाइक बरामद करने पुलिस टीम दिल्ली जाएगी।

बता दें कि 28 जून की सुबह पांच बजे कालिंदी विहार में सौ फुटा मार्ग पर टेढ़ी बगिया निवासी डॉ. आरके भारती पर कातिलाना हमला हुआ था। पहले दिन पुलिस ने हमले को जमीन की रंजिश से जुड़ा बताया था। डॉक्टर भारती के भाई हरीशंकर ने अज्ञात हमलावरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। डॉक्टर भारती के दो गोलियां पेट और एक जांघ में लगी थी। एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि खुलासे की जिम्मेदारी एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद को दी गई थी। सीओ छत्ता उदयराज और इंस्पेक्टर एत्मादुद्दौला उदयवीर मलिक ने इस केस में बहुत मेहनत की। सर्विलांस टीम को सुराग खोजने में कई दिन लग गए थे। जानते हुए भी डॉक्टर भारती के भाई ने मोंटू के नाम का जिक्र नहीं किया। जबकि उनका उससे विवाद हुआ था। मोंटू ने उन्हें धमकी भी दी थी। मोंटू यमुनापार इलाके में जगजीवन नगर का निवासी है। आवारा है। उसने हरीशंकर से तीन लाख रुपये उधार लिए थे। एक साल पहले रुपये उधार लेते समय एक चेक जमानत के तौर पर दिया था। रकम नहीं लौटाने पर हरीशंकर ने चेक अपने खाते में लगा दिया। वह बाउंस हो गया। उन्होंने मोंटू को हड़काया। कहा कि उसके भाई को जानते नहीं हो। उनकी पहुंच ऊपर तक है। तीन लाख रुपये तो वह निकाल लेगा। अब पुलिस ही इस मामले को देखेगी। कहीं भी छिप जाना पुलिस उठा लाएगी। धमकी मोंटू को नागवार गुजरी। उसने ठान लिया कि सबक सिखाएगा। उसने खंदौली के गांव नंदलालपुर निवासी अपने मित्र सुरेश से कहा कि एक काम करना है। बदले में वह उसे कुछ रुपये भी देगा। एक व्यक्ति को मारना है। वह उसे धमकी दे रहा है। सुरेश बदमाश है। उसके खिलाफ पहले से कई मुकदमे दर्ज हैं। तीन बार लोगों को गोली भी मार चुका है। वह पैसों के लालच में घटना करने को तैयार हो गया। 28 जून की सुबह दोनों ने डॉ. भारती पर हमला कर दिया।

पांच दिन मॉनिंग वॉक पर आए थे हमलावर

डॉक्टर भारती प्रतिदिन सुबह टहलने निकलते थे। वह कितने बजे घर से निकलते हैं। किस रास्ते पर टहलते हैं। ओम गार्डन के पास पहुंचने तक उन्हें कितना समय लगता है। हमलावरों को इसकी पूरी जानकारी थी। हमलावरों ने पांच दिन सुबह मॉर्निंग वॉक करके उनकी रेकी की थी। यह देखा था कि सुबह के समय सड़क पर कितनी भीड़ रहती है। किस रास्ते पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। किस रास्ते से भागना ठीक रहेगा। उसके बाद वे घटना करने आए थे।

गर्लफ्रेंड के घर ली थी शरण

पुलिस ने बताया कि सुरेश बदमाश है। दिल्ली में एक युवती से उसके संबंध हैं। आगरा में जब भी कोई घटना करता है दिल्ली चला जाता है। घटना से पहले सुरेश ने खंदौली में एक परिचित से 45 हजार रुपये उधार लिए थे। घटना के बाद मोंटू और सुरेश दोनों दिल्ली भाग गए थे। घटना के लिए सुरेश दिल्ली से एक बाइक चोरी करके लाया था। वह बाइक उसकी प्रेमिका के घर पर ही खड़ी है। पुलिस टीम उसे बरामद करने जाएगी। फोटो-आगरा-1


Updated : 1 Aug 2020 3:05 PM GMT

स्वदेश आगरा

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top