Home > टेक अपडेट > ट्विटर पर ट्रोलिंग को लेकर सख्त नियम

ट्विटर पर ट्रोलिंग को लेकर सख्त नियम

ट्विटर पर ट्रोलिंग को लेकर सख्त नियम
X

नई दिल्ली।twitter-will-take-action-on-trolling ट्विटर ने ट्रोलिंग के खिलाफ सख्त रुख अपनाने का संकेत दिया है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्रोल करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के सवाल पर ट्विटर ने कहा कि हम ऐसी किसी हरकत को बर्दाश्त नहीं करेंगे, जो पब्लिक पॉलिसी का उल्लंघन करती हो। 'हिन्दुस्तान' ने जब ट्विटर के एक प्रवक्ता से पूछा कि क्या विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्रोल करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी तो उन्होंने कहा कि सुरक्षा कारणों से किसी एक अकाउंट पर प्रतिक्रिया नहीं दे सकते, लेकिन हम ऐसी किसी हरकत को बर्दाश्त नहीं करेंगे, जो पब्लिक पॉलिसी का उल्लंघन करती है।

ट्विटर के एक प्रवक्ता के अनुसार, अगर कोई परेशान करके या डरा-धमकाकर किसी व्यक्ति की आवाज को दबाने की कोशिश करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सुप्रीम कोर्ट में एडवोकेट अपार गुप्ता कहते हैं कि सोशल मीडिया पर कुछ भी लिखने से पहले या जान लें कि जो बात आप किसी के मुंह पर नहीं बोल सकते हैं वो यहां कैसे लिख सकते हैं। संयम और अनुशासन के साथ आलोचना होनी चाहिए। ट्रोलिंग की घटनाएं बढ़ने के बाद ट्विटर ने अपनी पब्लिक पॉलिसी में कई बदलाव किए हैं। उसने यूजरों से कहा है कि वे जाति, वर्ग, श्रेणी, वंश, पीढ़ी, नस्ल, देश, लैंगिक पहचान, धर्म, उम्र, दिव्यांगता या फिर गंभीर बीमारी के नाम या हवाला देकर किसी पर हमला न करें।

-विशेष ट्वीट के बारे में शिकायत प्राप्त होने ट्वीट की विजिबिलटी सीमित कर दी जाती है और वह ट्वीट सर्च में आसानी से नहीं दिखता। अगर अकाउंटधारक ट्वीट नहीं हटाता है तो ट्विटर उसे छिपा देता है।

-अगर कोई ट्विटर पर डायरेक्ट मैसेज की बातचीत में नियमों का उल्लंघन होता है तो ट्विटर की तरफ से उस अकाउंट से डायरेक्ट मैसेज भेजने पर पाबंदी लगा दी जाती है।

-ट्विटर को अकाउंट को सस्पेंड करने की कार्रवाई तब करता है जब उसे लगता कि कोई उपयोगकर्ता ने लगातार ट्विटर नियमों की अनदेखी करता है।

Updated : 2018-07-08T15:16:24+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top