Home > टेक अपडेट > अब ट्विटर पर किसी के खिलाफ अपमानजनक और घृणास्पद सामग्री प्रयोग से पहले यह खबर जरूर पढ़ें

अब ट्विटर पर किसी के खिलाफ अपमानजनक और घृणास्पद सामग्री प्रयोग से पहले यह खबर जरूर पढ़ें

अब ट्विटर पर किसी के खिलाफ अपमानजनक और घृणास्पद सामग्री प्रयोग से पहले यह खबर जरूर पढ़ें
X

दिल्ली । ट्विटर इस समय उपयोगकर्ताओं को अपने ट्वीट्स और जवाबों को खुद एडिट करने का एक और मौका दे रहा है, ताकि उपयोगकर्ता हानिकारक, अपमानजनक और घृणास्पद सामग्री इस मंच पर रख रहा है तो वो दोबारा इस विषय में सोचे, वरना नीतियों का उल्लंघन करने के परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहे। ट्विटर ने कहा, अभी तक ट्विटर पर एडिट का बटन नहीं है, लेकिन अपने मंच पर बड़े पैमाने पर उत्पीड़न से निपटने के लिए उपयोगकर्ता को खुद एडिट करने का टूल दे रहे हैं।

ट्विटर सपोर्ट ने ट्वीट किया, "जब चीजें नियंत्रण से बाहर हो जाती हैं तो आप उन्हें कह सकते हैं कि इनका कोई मतलब नहीं है। आपको अपने रिप्लाई या जवाब पर पुनर्विचार करने के लिए हम आईओएस पर एक प्राम्प्ट्स के साथ सीमित प्रयोग ला रहे हैं जो आपको अपने उत्तर को संशोधित करने का विकल्प देता है। यदि भाषा हानिकारक है तो उसे प्रकाशित करने से पहले इसका उपयोग करें।"

ट्विटर इसे एक सीमित प्रयोग के रूप में वर्णित करता है, और वर्तमान में यह केवल आईओएस उपयोगकर्ताओं के लिए उपलब्ध है।

प्रॉम्प्ट उन ट्वीट्स पर पॉप-अप के रूप में आएगा जिन पर हानिकारक सामग्री है और ट्विटर एआई/एमएल उपकरण ऐसे घृणित शब्दों को पहले ही पकड़ने की कोशिश करेंगे।

ट्विटर उपयोगकर्ता एडिट बटन की मांग कर रहे हैं, ताकि वे पोस्ट किए गए ट्वीट्स को बेहतर कर सकें।

ट्विटर के सीईओ जैक डोरसे ने सुझावों के आधार पर ट्वीट के लिए एक एडिट फीचर जोड़ने की संभावना को पहली बार दिसंबर, 2016 में संबोधित किया था।

2018 में ट्विटर के चुनाव-पूर्व अभियान के लिए भारत आने के दौरान डोरसी ने बताया था कि ट्विटर के पास संपादन बटन क्यों नहीं है।

उन्होंने कहा था, "ट्विटर के पास 'एडिट' बटन नहीं है, क्योंकि लोग मूल ट्वीट को संपादित करके अपनी राय बदल सकते हैं और फिर जो लोग मूल विचार से सहमत नहीं हैं, वे शायद पहले ही ट्वीट को रीट्वीट कर सकते हैं, जिसे वे सही मानते हैं। इस तरह यह उसका सटीक प्रतिनिधित्व नहीं है।"

Updated : 6 May 2020 1:39 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top