Home > टेक अपडेट > आईएमसी-2019 : रिलायंस जियो सहित कई कं‍पनियों ने लिया हिस्‍सा

आईएमसी-2019 : रिलायंस जियो सहित कई कं‍पनियों ने लिया हिस्‍सा

आईएमसी-2019 : रिलायंस जियो सहित कई कं‍पनियों ने लिया हिस्‍सा
X

नई दिल्‍ली। इंडिया मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी-2019) की शुरुआत राजधानी दिल्‍ली की एयरोसिटी में सोमवार को हो गई है। केंद्रीय संचार, इलेक्‍ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर ने आईएमसी 2019 का उद्घाटन किया। तीन दिनों तक चलने वाला यह आईएमसी 2019 का तीसरा संस्करण है, जो 16 अक्टूबर तक चलेगा। इससे पहले भी 2 बार टेक्नोलॉजी के इस महाकुंभ का आयोजन किया जा चुका है।

दरअसल इंडिया मोबाइल कांग्रेस दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा टेक इवेंट है, जिसमें दुनियाभर की दिग्गज टेक कंपनियां हिस्सा लेती हैं। इस साल दुनिया के 30 देशों के 500 से ज्यादा कंपनियां हिस्सा लेने पहुंची है। 16 अक्टूबर तक चलने वाले इस टेक्नोलॉजी इंवेट में तीन दिन में 1 लाख लोगों के पहुंचने की उम्मीद की जा रही है। इस टेक इंवेट में रिलायंस जियो, एयरटेल, वोडाफोन-आइडिया, चीनी कंपनी हुवावे, एरिक्सन जैसी दिग्गज कंपनी समेत नोकिया ने भी हिस्सा लिया है।

राजधानी दिल्‍ली के एयरोसिटी में आयोजित इस तीन दिवसीय इंडिया मोबाइल कांग्रेस की शुरुआत राष्ट्रगान के साथ हुई। केंद्रीय संचार, इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद द्वारा इसके उद्घाटन किये जाने के बाद टेलीकॉम सेक्रेटरी अंशु प्रकाश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संदेश पढ़ा। इस अवसर पर ट्राई के चेयरमैन आरएस शर्मा, सीओएआई के राजन मैथ्यूज, भारती एयरटेल के रवि गांधी, फेसबुक की मोनिका देसाई,आईटीयू से मैलकॉम जॉनसन सहित कई दिग्गज मोबाइल और टेलीकॉम कंपनियों के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे।

मोबाइल कांग्रेस के पहले दिन रिलायंस जियो बोर्ड के निदेशक महेंद्र नाहटा ने यहां टेलिकॉम सेक्टर की ग्रोथ और सफलता के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि भारत ने पिछले 20 सालों में टेलिकॉम के क्षेत्र में बहुत तरक्‍की की है। मौजूदा समय में भारतीय टेलिकॉम सेक्टर हमारी अर्थव्यवस्था का सबसे तेजी से बढ़ने वाले क्षेत्रों में से एक है। सस्ते डेटा की बात को लेकर भी उन्होंने कहा कि हम गर्व के साथ कह सकते हैं कि हमारे बीच डिजिटल डिवाइड खत्म हो गया है।

उन्‍होंने कहा कि दुनिया में भारत सबसे तेजी से वायरलेस ब्रॉडबैंड कम्युनिकेशन देने वाला देश है। इस सेक्टर को बदलने में रिलायंस जियो का अहम योगदान रहा है। वहीं, रिलायंस जियो ने देश में सबसे बड़े ऑप्टिकल फाइबर फुटप्रिंट के साथ बेहतरीन 4जी इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करने के लिए 50 बिलियन डॉलर का निवेश किया है। उन्‍होंने कहा कि रिलायंस जियो के 4जी कवरेज और भारत सरकार द्वारा शुरू की जा रही भारत ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क की वजह से गांव-गांव में ब्रॉडबैंड सर्विस लोगों तक पहुंच रही है। इससे गांवों में ई-लर्निंग और ई-कॉमर्स को बढ़ावा मिलेगा जिससे डिजिटल इंडिया के उद्देश्यों को पूरा करने में मदद मिलेगी। हालांकि, चर्चा के अनुरुप हुवावे के प्रतिनिधि ने फिलहाल 5जी के बारे में बात नहीं किया। लेकिन, यह बताया कि पिछले 20 साल से डाटा देने उपलब्‍ध कराने का काम हुवावे कर रही है जिसमें इंडियन ऑयल भी हम सर्विस मुहैया कराते हैं।

Updated : 14 Oct 2019 2:10 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top