Top
Home > टेक अपडेट > जानिए, ऐपल ने सैमसंग को क्यों चुकाया ₹7100 करोड़ का जुर्माना

जानिए, ऐपल ने सैमसंग को क्यों चुकाया ₹7100 करोड़ का जुर्माना

जानिए, ऐपल ने सैमसंग को क्यों चुकाया ₹7100 करोड़ का जुर्माना
X

नई दिल्ली। ऐपल और सैमसंग भले ही स्मार्टफोन मार्केट में एक-दूसरे के प्रतिद्वंदी हों, लेकिन शायद आपको जानकारी ना हो कि ऐपल अपने आईफोन स्मार्टफोन्स के लिए सैमसंग से डिस्प्ले खरीदती है। हालांकि कम डिस्प्ले खरीदने के चलते ऐपल को हर्जाना चुकाना पड़ा है। 9to5Mac के मुताबिक, डिस्प्ले सप्लाई चेन कंसल्टेंट की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है।

रिपोर्ट के मुताबिक, ऐपल ने सैमसंग को करीब 950 मिलियन डॉलर (करीब 7156 करोड़ रुपये) का जुर्माना दिया है। सैंमसंग ऐपल को OLED डिस्प्ले की सप्लाई करती है। जुर्माने से मिली रकम का फायदा सैमसंग को यह हुआ कि कि कंपनी के डिस्प्ले बिजनेस की दूसरी तिमाही का रेवेन्यू काफी बढ़ गया है। इतना ही नहीं, लॉस में चल रही कंपनी अब प्रॉफिट में आ गई है।

बता दें कि यह पहली बार नहीं जब ऐसा हुआ है। पिछले साल भी कम डिस्प्ले पैनल्स खरीदने के चलते ऐपल को मोटी रकम चुकानी पड़ी थी। उस समय कंपनी ने सैमसंग को 684 मिलियन डॉलर दिए थे। इस साल Covid-19 के चलते कमजोर काम और बिक्री के कारण ऐपल ज्यादा आईफोन नहीं बेच पाई है। दरअसल एक रिपोर्ट की मानें तो सैमसंग और ऐपल के बीच हर साल एक तय लिमिट की डिस्प्ले खरीदने की डील है। उससे कम डिस्प्ले पैनल्स खरीदने पर ऐपल को हर्जाना देना पड़ता है।

ऐसा कहा जा रहा है कि अब ऐपल आईफोन की डिस्प्ले के लिए सैमसंग की जगह कोई नया सप्लायर ढूंढ रही है। इस बात की पुष्टि तो नहीं हुई है, लेकिन कुछ रिपोर्ट्स में बताया गया है कि ऐपल चीन के BOE टेक्नॉलजी ग्रुप के साथ बातचीत कर रही है। अगर बात आगे बढ़ती है तो 2021 में आने वाले आईफोन्स में नई कंपनी के डिस्प्ले पैनल्स देखने को मिल सकते हैं।

Updated : 15 July 2020 6:48 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top