Top
Home > स्वदेश विशेष > चुनावी नतीजे: तीन राज्यों में भाजपा के लिए शुभ संकेत नहीं

चुनावी नतीजे: तीन राज्यों में भाजपा के लिए शुभ संकेत नहीं

चुनावी नतीजे: तीन राज्यों में भाजपा के लिए शुभ संकेत नहीं
X

नई दिल्ली/स्वदेश वेब डेस्क। मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिज़ोरम में मंगलवार सुबह से जारी मतगणना के रुझानों को देखें तो तस्वीर अब लगभग साफ होने लगी है। भारतीय जनता पार्टी तीन प्रमुख राज्यों में पिछड़ती नज़र आ रही है। कांग्रेस दो राज्यों में बीजेपी से आगे निकल चुकी है, जबकि मध्य प्रदेश में भी कांग्रेस ने अच्छी बढ़त बना ली है। रुझान सत्ता परिवर्तन का संकेत दे रहे हैं। राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ तीनों ही राज्यों में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार है, लेकिन नया जनादेश संकेत दे रहा है कि भाजपा के लिए तीनों राज्यों में आज का दिन अच्छा नहीं है।

राजस्थान और छत्तीसगढ़ के रुझान बता रहे हैं कि दोनों राज्यों में कांग्रेस की सरकार बननी तय है। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को दो तिहाई बहुमत मिल सकता है। राजस्थान में भी कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत मिलने के संकेत मिल रहे हैं। वहीं, मध्य प्रदेश में कांग्रेस को भाजपा से थोड़ी-सी बढ़त मिलती दिखाई दे रही है। रूझानों से संकेत मिल रहे हैं कि कांग्रेस अपने सहयोगी दलों के साथ बहुमत का आंकड़ा छू सकती है। पहले मध्य प्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस में कांटे की टक्कर दिख रही थी। यहां सीट और वोट प्रतिशत दोनों में तकरीबन बराबरी का मुकाबला चल रहा है, लेकिन अब एक बार फिर तस्वीर बदल गई है। भाजपा 106 सीटों पर कांग्रेस 114 सीटों पर आगे चल रही है। जबकि यहां बीएसपी चार सीटों पर और अन्य दल-स्वतंत्र उम्मीदवार छह सीटों (कुल 10 सीटों) पर आगे चल रहे हैं। ऐसे में बीएसपी राज्य में किंगमेकर बन सकती है।

उधर तेलंगाना में केसीआर को इतनी बढ़त मिल गई है कि वो स्पष्ट बहुमत की ओर जाते दिख रहे हैं। तेलंगाना में केसीआर को दो तिहाई से भी ज्यादा सीटें मिलती दिख रही हैं। कांग्रेस यहां 20 सीटों पर सिमट गई है, जबकि बीजेपी अपना खाता खोलने जा रही है। इसके अलावा मंगलवार के चुनाव परिणाम देश में आम चुनावों से पहले एक मूड बनाने का काम भी करेंगे, इसलिए भी राजनीतिक दलों और देशभर के लोगों की इन चुनाव परिणामों पर नज़र है। मोदी के कामकाज से लेकर इनमें से अधिकतर राज्यों में भाजपा की सरकार के प्रति लोगों का जनादेश साबित होगा आज का चुनाव परिणाम।

राजस्थान विधानसभा में कुल 200 सीटें हैं, लेकिन यहां एक प्रत्याशी की मौत हो जाने के कारण कुल 199 सीटों पर मतगणना का काम चल रहा है। राज्य में भाजपा और कांग्रेस के बीच ज़बरदस्त टक्कर है। रुझानों से स्पष्ट है कि वसुंधरा राजे का सत्ता में लौटना मुश्किल है। राजस्थान में कांग्रेस ने बढ़त बनाए रखी है। अब यहां पर सवाल उठ रहे हैं कि यहां सीएम सचिन पायलट बनेंगे या अशोक गहलोत?

छत्तीसगढ़ में रमन सिंह के नेतृत्ववाली भाजपा सरकार ने भी 15 साल का कार्यकाल पूरा कर लिया है, लेकिन 15 साल के बाद अब चावल बाबा की विदाई लगभग तय दिख रही है। कांग्रेस को यहां दो तिहाई बहुमत मिलता दिख रहा है। वहीं रुझानों के मुताबिक बीजेपी को 20 से भी कम सीटें मिलने जा रही हैं। तेलंगाना की 119 सीटों के लिए मतगणना के रुझानों से स्पष्ट है कि टीआरएस को दो तिहाई से भी ज्यादा सीटें मिलने जा रही हैं। रुझानों से साफ दिख रहा है कि टीआरएस की लोकप्रियता अभी भी लोगों के बीच बनी हुई है।

यही मामला मिजोरम का है, जहां सत्तारूढ़ कांग्रेस का मुकाबला मिजो नेशनल फ्रंट से है, जबकि बीजेपी अलग मैदान में है।यहां मिजो नेशनल फ्रंट को बहुमत मिलता दिख रहा है। कांग्रेस यहां चार सीटों पर आगे है, वहीं बीजेपी यहां भी खाता खोलती दिख रही है।

Updated : 2019-01-05T14:23:14+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top