Top
Home > स्वदेश विशेष > यह लोकतंत्र का महा उत्सव है... मोदी ने फिर रचा इतिहास

यह लोकतंत्र का महा उत्सव है... मोदी ने फिर रचा इतिहास

- काशी में मोदी के रोड शो में उमड़ा अपार जन सैलाब - काशी की जनता ने प्रधानमंत्री के लिए बिछाए पलक पांवड़े

यह लोकतंत्र का महा उत्सव है... मोदी ने फिर रचा इतिहास
X

वाराणसी/नई दिल्ली। वैसे तो भोले की नगरी काशी हमेशा ही उल्लासित रहती है लेकिन आज का दिन खास है। क्योंकि पांच वर्ष पहले यहां के वोटरों ने जिसे अपना आशीर्वाद देकर प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठाया था, गुरुवार को फिर वही नरेंद्र भाई दामोदर दास मोदी मां गंगा, भोले बाबा और काशी की जनता से आशीर्वाद लेने आए।

इस सांस्कृतिक नगरी का आज शाम जो नजारा था, उसे बयां कर पाना आसान नहीं है। बाबा की इस नगरी में पूरे पूर्वांचल से ही नहीं बल्कि दुनियाभर से हजारों लोग यहां पहुंचे। पीएम मोदी को देखने व उनकी सेल्फी लेने को यहां पर अपार जन सैलाब उमड़ा। हर कोई रंग-बिरंगी पोशाक और भगवा रंग में रंगा हुआ था। जबर्दस्त उल्लास और उत्साह से लोग प्रधानमंत्री पर पुष्प बरसा उनका स्वागत कर रहे थे। लोकतंत्र के इस महा उत्सव में एक बार फिर से मोदी के स्वागत और रोड शो ने इतिहास रच दिया। यह मोदी के वर्ष 2014 के काशी के रोड शो को कहीं पीछे छोड़ गया है।

काशी के इस नजारे को देखकर तो ऐसा लगता है कि भोले बाबा पीएम मोदी पर पूरी तरह से प्रसन्न हैं और उन पर अपनी कृपा बरसा दी है। तभी तो काशी की जनता प्रधानमंत्री के लिए पलक पांवड़े बिछा कर उन्हें सिर आंखों पर बैठा लिया। यह कहने में कोई गुरेज नहीं कि यह मोदी के विश्वास, उल्लास, संकल्प और खुशी का उत्सव है।

माथे पर तेज, आंखों में चमक, आत्मविश्वास से भरपूर, दृढ़ संकल्प और भरोसे लबरेज प्रधानमंत्री मोदी की आंखें जनता को बखूबी पढ़ रहीं थीं कि वह क्या चाहती है। राजनीति के असली योद्धा ब्रांड मोदी बन चुके पीएम मेगा शो करने में निपुण हैं। वे देश में ही नहीं अपितु विदेश में भी इस तरह के बड़े आयोजन कर दुनिया में अपनी धमक पैदा करते रहते हैं। आज काशी की सड़कें व गलियां ही नहीं बल्कि घरों की छतों-बारजों पर भी उनके स्वागत को लोगों का हुजूम उमड़ा था। जिधर भी निगाह जा रही थी, उधर महिलाओं, बच्चों और पुरुषों की भारी भीड़ दिख रही थी। मोदी-मोदी के नारों और पुष्प वर्षा से काशी अह्लादित हो रही थी। लोगों में गजब का उल्लास, उत्साह और जोश था, जो पूरे वातावरण को बहुत ही भावमय बना रहा था।

मोदी जन सैलाब में महिलाओं, बच्चों और लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन करते। वह बीएचयू से अस्सी घाट तक अपने रोड शो के दौरान मुस्कराकर अपना स्नेह जताते रहे। हर कोई उन्हें अपने मोबाइल में कैद करने को आतुर था। मोदी लोगों के अपार स्नेह और लगाव को अपनी आंखों में समाये जा रहे थे। मीडिया भी इस ऐतिहासिक पल को कैमरे में कैद करने से नहीं चूक रहा था।

प्रधानमंत्री मोदी गुरुवार को दोपहर बाद वाराणसी पहुंचे। सबसे पहले शाम 5.21 बजे उन्होंने काशी विश्वविद्यालय में महामना पंडित मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी। पूरी श्रद्धा से जनता का सिर झुकाकर अभिवादन किया। 5.20 बजे उन्होंने अपना रोड शो शुरू किया। करीब साढ़े पांच घंटे में साढ़े छह किलोमीटर के रोड शो के बाद वे शाम 7.30 बजे अस्सी घाट पहुंचे और गंगा आरती में शामिल हुए। प्रधानमंत्री मोदी शुक्रवार को अपना नामांकन दाखिल करेंगे।

Updated : 25 April 2019 3:14 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top