Home > स्वदेश विशेष > सच्चे साथ व बात वाले योगी आदित्यनाथ

सच्चे साथ व बात वाले योगी आदित्यनाथ

लेखक : नरेंद्र सिंह राणा, उत्तरप्रदेश भाजपा के वरिष्ठ नेता

सच्चे साथ व बात वाले योगी आदित्यनाथ
X

वेदों की उदघोषणा है जहाँ सत्य है वहा कृष्ण है जहाँ कृष्ण है वहाँ विजय है।सत्य बराबर तप नही झूठ बराबर पाप ,जाके हृदय सच है ताके हृदय आप ।आप यानी परमात्मा।यद्यपि राजनीति में भरस्टाचार को खत्म करेंगे भरस्टाचारियो को जेल भेजेंगे ,माफियाओ व अपराधियों को सजा देंगे आदि वादे बातें केवल चुनाव के समय ही राजनीतिक पार्टियों व उनके नेताओं द्वारा अक्सर कही जाती रही है।गरीबी समाप्त करेंगे ,मंहगाई रोकेंगे व बेरोजगारी खत्म कर देंगे ये भी वादे तथाकथित नेताओं के मुख से सुनाई देते है लेकिन परिणामस्वरूप सब हवा हवाई साबित होते आये थे तब तक जब तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नही बने थे।

ऐतिहासिक तारीख 19 मार्च 2017 गवाह बनी जब महात्मा महायोगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री की शपथ ली।मुख्यमंत्री बनते ही उन्होंने अपने इरादे साफ साफ जाहिर करते हुए कहा कि गुंडागर्दी बर्दाश्त नही की जाएगी व भरस्टाचार पर उनकी सरकार की नीति जीरो टॉलरेंस की रहेगी।आज सरकार के लगभग 4वर्ष 6 माह के कार्यकाल पर नजर डाले तो योगी जी ने शपथग्रहण के समय जो जो कहा था वह सब पूरा होते देखा जा सकता है।अपराधियों की नानी याद दिला दी कही उनकी अवैध सम्पत्तियो पर योगी प्रसासन का बुल्डोजर चला तो कही गाड़ी पल्टी और कहि अपराधी गले में तकती डालकर जान की भीख मांगते थाने में गिड़गिड़ाते देखे गए।जो माफिया भाग गए थे उनको खोज कर पकड़ा गया तो सैकड़ो की संख्या में उनका यानी दुर्दांत अपराधियों का राम नाम सत्य किया गया।पंजाब प्रांत से एक माफिया को उत्तरप्रदेश लाने के लिये सुप्रीमकोर्ट तक कानूनी लड़ाई लड़ी गयी कामयाब होकर ही दम लिया और कुख्यात माफिया को उत्तरप्रदेश लाया गया।

माफियाओं व अपराधियों की अवध सम्पत्तियो को जब्त कर नीलाम किया गया। हजारो करोड़ की अवध सम्पत्ति जब्त की गई। प्रदेश के 100%माफियाओं को जेल में डाला गया है।सरकारी व निजी सम्पतियों को अपराधियों व माफियाओं के चुंगुल से छुड़ाया गया है।माफियाओं व अपराधियों पर योगी राज का हंटर बद्दस्तूर जारी है।प्रदेश के शिर्ष से शिर्ष अधिकारी हो कर्मचारी हो यदि भरस्टाचार में उनकी भूमिका पाई गई तो उनको भी नही बक्सा गया यानी आईएएस व आईपीएस अधिकारीयो को भी सजा दी गई है।जैसे को तैसा वाली नीति है महाराज योगी आदित्यनाथ जी की।उनके निजी जीवन की बात करे तो जो उनका जीवन मुख्यमंत्री बनने से पहले था वैसा ही आज भी बना हुआ है।किसी भी विवाद की जड़ हमारे धर्म ग्रंथों में जो बताई गई है वह है जर जोरू और जमीन लेकिन जो इनसे दूर रहता है वह सदा सुखी रहता है। उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने में मुख्यमंत्री योगी जी ने कड़ी मेहनत की है जिसका जीता जागता प्रणाम है कि जिस उत्तरप्रदेश से निजी उद्योग पलायन कर रहे थे वे रुके है यही नही कई लाख करोड़ का निवेश भी निजी उद्योगों में हुआ है निरन्तर हो रहा है।

विकास का प्रदेश विश्वास का प्रदेश अब उत्तरप्रदेश बन गया है।सोशल मीडिया का जमाना है जो आईने की भांति है।जो कर्म करोगे उसका वैसा ही परिणाम मिलेगा यह नियति का नियम उत्तरप्रदेश में योगी जी ने सच्च कर दिखाया है।विश्व की सबसे बड़ी महामारी क्रोना पर योगी सरकार के प्रभारी नियंत्रण पर देश ही नही दुनिया मे योगी जी की वाहवाह हो रही है।विकास का रोल मॉडल भी बन कर दिखाया है योगी सरकार ने।स्वास्थ्य के छेत्र की बात करे तो योगी सरकार ने नए मेडिकल कॉलेज बनाने में रिकॉर्ड कायम किया है।योगी जी ने 3 दर्जन से अधिक मेडिकल कालेज अपने कार्यकाल में बनाने का रिकॉर्ड बनाने जा रही है। AIIMS की स्थापना गोरखपुर व रायबरेली में हो गयी है। शीघ्र ही नए मेडिकल कॉलेज सुचारूरूप से काम करने लगेंगे।लखनऊ सहित जेवर कुसीनगर को अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बना दिया गया है।

श्री अयोध्या जी व बाबा भोलेनाथ की नगरी वारणसी को भी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा बनाने का काम जारी है।मुरादाबाद,बरेली,प्रयागराज,झांसी व कानपुर में भी हवाई अड्डो के आधुनिकीकरण का काम जोर सोर से जारी है।सड़क मार्ग की बात करे तो पूर्वांचल एक्सप्रेसवे व बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे इसी वर्ष जनता के लिए खोल दिये जाएंगे।देश के सबसे लंबे माँगंगा एक्सप्रेसवे को भी बनाने की मंजूरी योगी जी ने दे दी है।सड़कों का तो मानो जाल बिछा दिया है योगी सरकार ने। अब बात विकास के लिए एक और अति महत्वपूर्ण छेत्र की करे तो वह है बिजली।पिछले 4वर्ष 6 माह के योगी सरकार के कार्यालय को देंखें तो कही पर भी बीजली को लेकर कोई आंदोलन आदि नही हुआ है यहाँ तक कि बात बात पर योगी सरकार को कोसने वाले विपक्षी नेता भी कही बीजली नही मिल रही है ऐसी मांग करते नही देखे गए इसका सीधा सा मतलब यही निकलता है कि योगी जी ने बिजली की मार से जूझ रहे प्रदेश को राहत दी है।

यह सब कैसे सम्भव हुआ इस पर मैं कुछ उल्लेखनीय जानकारी पाठकों को देना चाहूंगा वह यह है कि इस बिजली यानी ऊर्जा के छेत्र में इतना भरस्टाचार था कि उसकी जितनी आलोचना की जाये कम है।एक समय ऐसा भी था जब NTPC से जो सस्थि यानी सब्सिडी पर बिजली केंद्रसरकार उत्तरप्रदेश को देती थी वह न लेकर प्राइवेट बीजली कम्पनियों से महंगे दामों पर लगभग दोगुने दामो पर बिजली खरीदने का गोरखधंधा बदस्तूर जारी था।जो बीजली NTPC 4 से 5 रुपये यूनिट की दर से देता था उसको ना लेकर 9 से 10 रुपये में निजी बीजली कम्पनियों से बसपा व सपा की सरकार खरीद रही थी कयो खरीद रही थी यह जानना जरूरी है जी हाँ क़्योंकि प्रति यूनिट कमीशन निजी कम्पनियों से मिलता था।करोड़ों नही अरबो की जन धन की खुलेआम लूट सपा व बसपा की सरकारों ने की थी।यह जानकारी आमजन को बिल्कुल न के बराबर है कि दिन की अपेक्षा रात में बीजली सस्ती बिकती है क़्योंकि रात में दिन की अपेक्षा खपत कम होती है लेकिन कमीशन के कारण पूर्वव्रती सरकारे निजी कम्पनियों से एक रेट पर करार करती थी।यह सब लूट का कारोबार योगी जी ने समाप्त कर दिखाया है।

Updated : 14 Sep 2021 10:06 AM GMT
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top