Top
Home > स्वदेश विशेष > स्मृति शेष : महाराज बाड़े पर किया अनशन तो पुलिस ने उठाया

स्मृति शेष : महाराज बाड़े पर किया अनशन तो पुलिस ने उठाया

आदर्श राजनीतिक जीवन जिया स्व. कैलाश जोशी ने

स्मृति शेष : महाराज बाड़े पर किया अनशन तो पुलिस ने उठाया

ग्वालियर, विशेष प्रतिनिधि। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता स्व कैलाश जोशी का ग्वालियर से भी गहरा नाता रहा है, उनके द्वारा लगभग 35 वर्ष पूर्व महाराज बाड़े पर किए गए अनशन को आज भी याद किया जाता है। जब अनशन के दौरान उनका स्वास्थ्य बिगड़ा तो प्रशासन के हाथ-पैर फूल गए और पुलिस ने उठाकर न सिर्फ उनका अनशन तुड़वाकर जूस पिलाया, बल्कि जेल तक पहुंचा दिया था।

यह मामला हिरण वन कोठी कांड से जुड़ा हुआ है,जिसपर वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पूर्व सांसद सरदार स्व संभाजीराव आंग्रे का कब्जा था, किंतु कांग्रेस सरकार के रहते स्व माधवराव सिंधिया के लोगों ने जबरन उसपर कब्जा कर लिया था। जिसके विरोध में श्री जोशी ग्वालियर आए और महाराज बाड़े पर तंबू तानकर अनशन शुरू कर दिया।उनके अनशन से उस समय प्रदेश की सरकार और जिला प्रशासन के हाथ-पैर फूल गए,क्योंकि जब अनशन को 10 दिन से अधिक होने पर उनका स्वास्थ्य बिगड़ने लगा। ऐसे में सरकार के इशारे पर तत्कालीन एडीएम धर्मवीर सिंह ने पुलिस से उन्हें उठवाकर जबरन अनशन तुड़वाया। इसके अलावा भी कई ऐसे उदाहरण हैं, जिसमें आज भी श्री जोशी को याद किया जाता है। वरिष्ठ भाजपा नेता जय सिंह कुशवाह बताते हैं कि श्री जोशी जब किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे, तब उनके किसान मोर्चा के अध्यक्ष रहते वह ग्वालियर प्रवास पर आए थे और भिंड रवाना हो रहे थे। तब उन्होंने मुझसे कहा कि सुबह-सुबह ब्राह्मण को खाली-पीली साथ ले जा रहे हो, कुछ दान दक्षिणा मिलेगी कि नहीं। फिर क्या था हम भिंड क्षेत्र के गांव गांव घूमे तो प्रत्येक घर से उन्हें 100 रुपए एवं श्रीफल देकर तिलक किया गया। लौटते में यह राशि 5 हजार रुपए हो गई, जो उन्होंने तत्काल मुझे पार्टी फंड के लिए दे दी। इसी तरह भाजपा के जिला उपाध्यक्ष रामेश्वर भदौरिया बताते हैं कि जब प्रदेश में दिग्विजय सिंह की सरकार थी और विधानसभा चुनाव सिर पर थे, तब श्री जोशी प्रदेश अध्यक्ष रहते ग्वालियर में संभाग स्तरीय बैठक लेने आए थे। उस समय उन्होंने श्री जोशी से उनके घर चलकर भोजन करने का आग्रह किया तो श्री जोशी ने उस निमंत्रण को सहज स्वीकार कर लिया और सारे नेताओं को साथ लेकर उनके पीएनटी कॉलोनी थाटीपुर स्थित निवास पर भोजन करने पधार गए थे।

Updated : 24 Nov 2019 9:06 PM GMT
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top