Top
Home > स्वदेश विशेष > हम भी चाहते हैं सिंधिया को मिले महत्वपूर्ण जिम्मेदारीः पूर्व केंद्रीय मंत्री पचौरी

हम भी चाहते हैं सिंधिया को मिले महत्वपूर्ण जिम्मेदारीः पूर्व केंद्रीय मंत्री पचौरी

हम भी चाहते हैं सिंधिया को मिले महत्वपूर्ण जिम्मेदारीः पूर्व केंद्रीय मंत्री पचौरी
X

पूर्व केंद्रीय मंत्री से स्वदेश की विशेष बातचीत

ग्वालियर/राजीव अग्रवाल। पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुरेश पचौरी कांग्रेस के कद्दावर नेताओं में से एक हैं। प्रदेश में होने वाले किसी भी निर्णय में उनकी अहम भूमिका रहती है। उन्हें ब्राह्मणों का नेता भी माना जाता है। स्वदेश से विशेष भेंट में शुक्रवार को श्री पचौरी ने कहा कि श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया प्रदेश के वरिष्ठ एवं प्रभावी नेता हैं, हम भी चाहते हैं कि उन्हें कोई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जाए। वहीं मुख्यमंत्री कमलनाथ सरकार के एक वर्ष पूर्ण करने पर उन्होंने कहा कि अंक देने का काम जनता का है, जहां तक काम का सवाल है तो सरकार 365 वचन पूर्ण कर चुकी है। उनसे हुई चर्चा के अंश इस तरह हैं।

सवालः केंद्र सरकार द्वारा लोकसभा एवं राज्यसभा में नागरिकता संशोधन कानून पास किया जा चुका है,फिर इसका विरोध क्यों?

सुरेश पचौरीःहम इस कानून का राजनीतिक विरोध नहीं कर रहे, चूंकि इसे धर्म के आधार पर लाया गया है और संविधान की प्रस्तावना के विपरीत है, इसलिए विरोध हो रहा है।कायदे से इस बिल को लाने के पूर्व सभी राज्यों से विचार विमर्श कर सहमति लेना चाहिए थी, किंतु अब जब बिल पास हो चुका, उसके बाद केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर जी कह रहे हैं कि हम राज्य सरकारों से बात करेंगे, जबकि अब बातचीत का कोई औचित्य नहीं है।

सवालः प्रदेश में कमलनाथ सरकार को एक वर्ष पूर्ण हो गया है, आप उन्हें कितने अंक देंगे।

सुरेश पचौरीः प्रदेश सरकार को अंक देने का काम महान जनता का है। जहां तक कमलनाथ सरकार के कामकाज की बात है तो 365 दिनों के भीतर उन्होंने लगभग 365 वचन पूर्ण कर दिखाए हैं। वे जनता के समक्ष अपना रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत कर रहे हैं। यह सरकार काम और वायदे पूरे कर रही है।

सवालः किसानों को 10 दिन के भीतर कर्ज माफी की बात कही गई थी, किंतु अभी तक किसी भी किसान का 2 लाख रुपए का कर्जा माफ नहीं हुआ।

सुरेश पचौरीः यह सवाल कर आपने मुझे स्पष्टीकरण देने का मौका दिया, इसके लिए धन्यवाद। भाजपा ने वर्ष 2003 में किसानों का 50 हजार रुपए तक का कर्ज माफी करने की बात कही थी, किंतु वह कुछ नहीं कर सकी,इसलिए हम उनकी भूल को सुधार कर किस्तों में ऋण माफी कर रहे हैं। पहले चरण में 2 लाख किसानों का 50 हजार रुपए तक का कर्ज माफ हुआ है। दूसरे चरण में एक लाख का कर्ज माफ होगा। इसे चरणबद्ध तरीके से चलाया जा रहा है और किसानों के खाते में इसका ब्यौरा भी दिया जा रहा है। वित्तीय स्थिति अच्छी न होने के बावजूद कमलनाथ ने अन्नदाताओं के लिए पहला निर्णय लिया, जिसकी प्रसन्नता हो रही है।

सवालः मुख्यमंत्री कमलनाथ के पास दो पद हैं,जबकि उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष पद छोड़ने की पेशकश की थी?

सुरेश पचौरीः मुख्यमंत्री बनते ही कमलनाथ ने सोनिया गांधी एवं राहुल गांधी के समक्ष प्रदेश अध्यक्ष पद छोड़ने का प्रस्ताव रखा था। किंतु इसपर अंतिम निर्णय इन नेताओं को ही लेना है। इसके बारे में मैं कुछ बोलूंगा तो उनके अधिकारों का हनन होगा।

सवालः वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की बात चली थी और अब राज्यसभा में लाने की चर्चा है, आप क्या कहेंगे?

सुरेश पचौरीःयह बात सही है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया प्रदेश के वरिष्ठ एवं प्रभावी नेता हैं। उन्हें समय-समय पर जो भी जिम्मेदारी दी गईं, उसे उन्होंने बड़े ही अच्छे तरीके से निभाया है।

सवालः फिर भी प्रदेश में उन्हें कोई पद क्यों नहीं दिया जा रहा?

सुरेश पचौरीः हम सब भी चाहते हैं कि श्री सिंधिया को प्रदेश में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी मिले।

सवालः प्रदेश के बहुचर्चित हनीट्रैप मामले में सीआईडी ने न्यायालय में जो चालान पेश किया है, उसमें बड़े राजनेताओं, अधिकारियों के नाम उड़ा दिए गए। जिससे जांच की निष्पक्षता पर सवाल उठ रहे हैं?

सुरेश पचौरीः मुझे इसकी कोई जानकारी नहीं है, यह प्रशासकीय स्तर का मामला है।

सवालः बीते रोज भोपाल में कांग्रेस सेवा दल ने वीर सावरकर को लेकर इतिहास से काट छांट कर कुछ साहित्य आपत्तिजनक परोसा है, जिसपर हंगामा हो रहा है?

सुरेश पचौरी : वीर सावरकर की अलग-अलग भूमिकाएं रही हैं, पहली आजादी के आंदोलन में योगदान की और दूसरी क्षमादान की।इसके अलावा में उनके बारे में कुछ नहीं कहूंगा। जहां तक कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ प्राथमिकी की बात है तो ऐसा होने दो तब हम उसकी प्रतिक्रिया देंगे।

Updated : 2020-01-04T06:15:41+05:30
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top