Top
Home > स्वदेश विशेष > दिल्ली में अब तक इतनी जगह लग चुकी है आग, ये हैं आंकड़े

दिल्ली में अब तक इतनी जगह लग चुकी है आग, ये हैं आंकड़े

दिल्ली में अब तक इतनी जगह लग चुकी है आग, ये हैं आंकड़े

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में रानी झांसी रोड स्थित फिल्मिस्तान के निकट अनाज मंडी इलाके में रविवार सुबह तीन मंजिला एक इमारत में भीषण आग लग गई, जिसमें 43 लोगों की मौत हो गई। बचाव और अग्निशमन विभाग के दस्तों ने कई लोगों को बचाया है, जिनमें से कई की हालत गंभीर है। ताजा सूचना के मुताबिक आग में 56 से अधिक लोग घायल हुए हैं। साथ ही दर्जनों लोगों को एलएनजेपी, हिंदू राव और राएमएल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मौके पर पहुंची 30 दमकल गाड़ियों ने आग पर काबू पा लिया है लेकिन बताया जा रहा है कि राहत अभियान अभी भी जारी है। आइए जानते हैं दिल्ली में होने वाली उन सभी आग से होने वाली बड़ी दुर्घटनाओं के बारे में जिसमें कई लोगों ने अपनी जान गवां दी।

दिल्ली में आग की घटनाएं-

10 जनवरी 2016 : दिल्ली के न्यू उस्मानपुर इलाके में 10 जनवरी 2016 शनिवार की रात भीषण आग लगने से एक ही परिवार के 3 बच्चों की मौत हो गई थी जबकि एक बच्चा घायल हुआ था। इस आग में करीब एक दर्जन झुग्गियां जलकर खाक हो गई थीं। यह हादसा शॉर्ट सर्किट की वजह से हुआ जिसके बाद खाना पकाने वाली तीन गैस सिलिंडरों में विस्फोट हो गया।

26 अप्रैल 2016 : दिल्ली में फिक्की की इमारत में स्थित नेशनल म्यूजियम ऑफ नेचुरल हिस्ट्री में 26 अप्रैल 2016 को देर रात भीषण आग लग गई थी। बताया जाता है कि इस आग में म्यूजियम में रखे कई दस्तावेज जलकर खाक हो गए थे।

02 मई 2016 : ओखला सब्जी मंडी में 02 मई 2016 को सोमवार दोपहर को एक बिजली के खंभे में शॉर्ट सर्किट होने से निकली चिंगारी से भीषण आग लग गई थी। चिंगारी से पहले मंडी की दीवार से सटे कूड़े में आग लगी, फिर यह आग आसपास प्लास्टिक के क्रेट में फैलती चली गई। बताया गया कि इस आग में 250 झुग्गियां जलकर खाक हुई थीं।

07 नवंबर 2016 : 07 नवंबर 2016 की रात सदर बाजार में भीषण आग लगने से कम से कम 500 झुग्गियां जलकर खाक हो गईं थीं। इस आग में करीब 700 लोग बेघर हुए थे जबकि 4 लोग घायल हो गए थे। दमकल अधिकारियों के अनुसार उस इलाके में स्थित पटाखों के गोदाम में आग लगने से वहां रखे कुछ एलपीजी सिलेंडर फट गए जिसके बाद स्थिति और बिगड़ गई थी।

23 मई 2017 : दिल्ली के चांदनी चौक के कटरा धूलिया इलाके में 23 मई 2017 को भीषण आग लगने से वहां मौजूद 80 दुकानें जलकर खाक हो गई थीं। वहां मौजूद कारोबारियों की मानें तो इस आग में करोड़ों रुपये के कपड़े जल गए थे। इस आग के बुझाए जाने के बाद अगल दिन मंगलवार सुबह यह पूरी इमारत भरभरा कर गिर पड़ी। इस इमारत में कपड़े की लगभग 80 दुकानें थी।

05 नवंबर, 2017 : सदर बाजार में लगी आग में 75 वर्षीय एक महिला और उनकी पोती की मौत हो गई थी। इस घटना में इस परिवार के 6 अन्य सदस्य घायल हुए थे। जिन्हें आरएमएल और एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

28 नवंबर 2017 : दिल्ली के तिमारपुर इलाके में 28 नवंबर 2017 मंगलवार को भीषण आग लगने से 5 बसें जलकर खाक हो गईं थीं। इनमें तीन लग्जरी बसें भी थीं। यह घटना सुबह लगभग आठ बजे तिमारपुर पुलिस स्‍टेशन पार्किंग क्षेत्र में हुई थी।

12 दिसंबर 2017 : निहाल विहार में 12 दिसंबर 2017 को मकान के ग्राउंड फ्लोर पर फोम के गोदाम में अचानक लगी आग से दम घुटने से एक महिला व किशोरी की मौत हो गई, जबकि दो अन्य लोग घायल हुए थे।

Updated : 2019-12-08T14:29:21+05:30
Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top