Top
Home > स्वदेश विशेष > भाजपा का शक्ति केंद्र सिर्फ दीनदयाल परिसर : तोमर

भाजपा का शक्ति केंद्र सिर्फ दीनदयाल परिसर : तोमर

कोरोना से भारत ने लड़ी शनदार लड़ाई, मोदी के नेतृत्व में देश बनेगा आत्मनिर्भर

भाजपा का शक्ति केंद्र सिर्फ दीनदयाल परिसर : तोमर
X

भाजपा जीतेगी, कांग्रेस के पास प्रत्याशी नहीं, अपने ही बोझ से गिरी कांग्रेस की सरकार

नई दिल्ली/विशेष प्रतिनिधि। केंद्रीय कृषि एवं पंचायती राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, टीम मोदी के पहले पांच मंत्रियों में से एक माने जाते हैं। बेहद परिश्रमी, संगठन के जमीनी कार्यकर्ता एवं मित्रभाषी श्री तोमर ने अपने जन्मदिन से ठीक एक दिन पहले 'स्वदेश' के विशेष आग्रह पर लंबी बातचीत की। श्री तोमर ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना से भारत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अब तक शानदार लड़ाई लड़ी है और देश उनके नेतृत्व में शीघ्र ही आत्मनिर्भर बनेगा। श्री तोमर ने कहा कि उपचुनाव में भाजपा की विजय सुनिश्चित है। कांग्रेस के पास तो उम्मीदवार ही नहीं है। केंदीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस का यह आरोप निराधार है कि सरकार भाजपा ने गिराई है।

'स्वदेश' से बातचीत में श्री तोमर ने कहा कि वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा में आने से कोई नया शक्ति केंद्र प्रदेश में नहीं बना है। भाजपा संगठन आधारित राजनीतिक दल है और हम सबके लिए शक्ति केंद्र सिर्फ प्रदेश का भाजपा कार्यालय दीनदयाल परिसर ही है। श्री तोमर ने कहा कि कोरोना वायरस के सामुदायिक विस्तार को रोकने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रणनीति सभी राज्यों के सहयोग से पूर्णतः सफल रही है। उन्होंने कहा कि इस वैश्विक महामारी के संकट में देश की जनता ने जो अभूतपूर्व जागरूकता व अनुशासन दिखाया, वह एक नई एकता के नए इतिहास का सृजन है। उन्होंने कहा कि यह प्रधानमंत्री मोदी की दूरदर्शिता, साहसपूर्ण नीति व उनके व्यक्तित्व व कृतित्व का ही नतीजा है कि महामारी के इस दौर में भारत की साख व प्रतिष्ठा सारी दुनिया में बढ़ी है। 'स्वदेश' के साथ विशेष बातचीत में श्री तोमर ने कहा कि प्रवासी मजदूरों से संबंधित सरकार के पास न तो जानकारी का अभाव था और न ही समन्वय की कमी थी। लेकिन, बदले हुए हालातों में लाॅकडाउन घोषित करके आम आदमी की जान बचाना सरकार की पहली प्राथमिकता थी। इसलिए, जो व्यक्ति जहां था, उसे वहीं रोका गया। किसी व्यक्ति को कोई परेशानी हो इसके लिए राज्य सरकारों को एसडीआरएफ का पैसा भेजा गया।

केंद्रीय कृषि एवं पंचायती राज मंत्री तोमर ने उन तमाम आरोपों को मिथ्या एवं वास्तविकता से परे बताया है, जिसमें कहा जा रहा है कि मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार को गिराने में भाजपा का हाथ है। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में भाजपा को कांग्रेस से महज चार सीटें कम मिली थीं लेकिन पार्टी ने उदारता दिखाई और कांग्रेस सरकार बनाने का मौका दिया। लेकिन, वह अपने ही बोझ से गिर गई। जहां तक नई सरकार के गठन का सवाल है तो विपक्षी दल की भूमिका में होने के कारण मेरी पार्टी की यह जिम्मेदारी थी कि राजनैतिक परिस्थितियों को संज्ञान में रखा जाए और उस दायित्व का भाजपा ने निर्वाह किया। परिणामस्वरूप सरकार बनी और शिवराज सिंह चैहान के नेतृत्व में यह सरकार गांव, गरीब और किसानों के लिए बढ़िया काम कर रही है।

संकट के इस कालखंड में ग्रामीण विकास मंत्रालय ने जनता के हित में क्या कदम उठाए हैं? इस सवाल के जवाब श्री तोमर ने कहा कि मंत्रालय ने विविध आयामी कदम उठाए हैं। मसलन, मनरेगा योजना के तहत रोजगार प्रदान करने के लिए एक लाख एक हजार पांच सौ करोड़ रूपए व्यय किया जाएगा। अब तक 31 हजार करोड़ रूपए राज्यों को जारी कर दिए गए हैं। इसके अलावा प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत भी एक लाख 25 हजार करोड़ रूपए खर्च किए जाने का प्रावधान है। प्रधानमंत्री आवास योजना भी इसी कड़ी का हिस्सा है। इसके अलावा तमाम मदों में खच्र किए जाने की योजना है। मसलन, फसल बीमा योजना के तहत किसानों को बड़ी राशि भुगतान की जा रही है। खरीफ फसलों के लिए सहायता राशि, कृषि अवसंरचना के लिए एक लाख करोड़ रूपए, मछली पालन विकास के लिए 20 हजार करोड़, फूड प्रोसेसिंग के लिए दस हजार करोड़ रूपए, प्शु पालन के लिए 15 हजार करोड़ रूपए, मधु मक्खी पालन के लिए 500 करोड़ रूपए से किसानों की मदद किए जाने का प्रावधान है।

भाजपा सरकार के गठन के बाद नए शक्ति केंद्र के सवाल पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भाजपा मध्य प्रदेश संगठन का शक्ति केंद्र दीनदयाल परिसर है और सत्ता का केंद्र मुख्यमंत्री होते हैं और किसी केंद्र की कल्पना भाजपा में नहीं है। शेष हम सभी कार्यकर्ता हैं। नए मित्र भाजपा में आए हैं। सभी का स्वागत है। वे भाजपा में समरस होंगे। उपचुनाव में पार्टी के प्रदर्शन के सवाल पर उन्होंने कहा कि भाजपा जीतेगी कांग्रेस को उम्मीदवार ही नहीं मिल रहे हैं।

बाॅक्स में -

मेरा निर्णय मैं नहीं लेता

श्री तोमर ने एक अन्य प्रश्न के उत्तर में कहा कि स्वयं के विषय में वह कभी निर्णय नहीं लेते। संगठन जो दायित्व देता है, वह निर्वहन करने का प्रयास रहता है। श्री तोमर ने कहा कि भाजपा एक लोकतांत्रिक दल है और सभी निर्णय विचार विर्मश के बाद ही लिए जाते हैं।

Updated : 2020-06-12T20:10:19+05:30

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top