Top
Home > राज्य > अन्य > बंगाल में हिंसा और भ्रष्टाचार शासन का हिस्सा : राज्यपाल

बंगाल में हिंसा और भ्रष्टाचार शासन का हिस्सा : राज्यपाल

बंगाल में हिंसा और भ्रष्टाचार शासन का हिस्सा : राज्यपाल

नई दिल्ली। तृणमूल कांग्रेस और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निशाने पर रहने वाले राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने गुरुवार को अपने पहले यूट्यूब वीडियो में पश्चिम बंगाल सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। राज्यपाल ने यहां तक कहा कि हिंसा और भ्रष्टाचार बंगाल में शासन का हिस्सा हो चुका है।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल के रूप में 1 साल पूरा करने के मौके पर गवर्नर ने यूट्यूब पर पहला वीडियो अपोलड किया। इसमें पीएम मोदी, केंद्रीय मंत्रियों, लोकसभा स्पीकर, देश-विदेश के मेहमानों और उनके अलग-अलग स्थानों के दौरे की तस्वीरें दिखाई गई हैं और धनखड़ का वॉइस ओवर है। कई तस्वीरें ममता बनर्जी की भी हैं, लेकिन स्क्रिप्ट को निश्चित तौर पर वह पसंद नहीं करेंगी।

धनखड़ ने टीएमसी सरकार की तुलना 1980 में बनी सत्यजीत रेप की मशहूर फिल्म 'हिरक राजार देशे' (डायमंड किंग का देश) से की, जिसमें दिखाया गया है कि कैसे अपने हीरों के खानों से मुग्ध राजा किसानों, मजदूरों और विद्यार्थियों को गुलाम समझता है और फिर जनता की क्रांति से हटाया जाता है।

बंगाल के इतिहास, विरासत और लोगों की तारीफ करते हुए धनखड़ ने कहा, ''शासन के कुछ पहलू चिंता का विषय हैं। पुलिस संरक्षण के तहत हिंसा, भ्रष्टाचार और गुंडागर्दी शासन का हिस्सा बन गए हैं। मुझे यकीन है कि सत्यजीत रे इसे कभी पसंद नहीं करते कि जो उन्होंने अपनी फिल्म में दिखाया वह कभी उनके प्रदेश पश्चिम बंगाल में होगा।''

राज्यपाल ने आगे कहा, ''यह लोकतांत्रिक मूल्यों का गंभीर ह्रास है। महिलाओं के अधिकारों से समझौता किया गया है, पुलिस द्वारा ऑपरेशन का डर सभी में व्याप्त है, इससे व्यापार, उद्योग शिक्षा और सर्विस सेक्टर में तेज गिरावट आई है। हमारे युवाओं और कार्यबल की भगदड़ डरावना है और इसे रोकने की जरूरत है।'' धनखड़ ने यह भी कहा कि लोकतंत्र को सामान्य करने के लिए निष्पक्ष चुनाव आवश्यक है, लेकिन संस्थागत धांधली से यह संभव नहीं है।

Updated : 31 July 2020 5:24 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top