Home > राज्य > अन्य > पंजाब में नए मंत्रिमंडल का गठन, रेत माफिया आरोपी गुरजीत सिंह को बनाया कैबिनेट मंत्री

पंजाब में नए मंत्रिमंडल का गठन, रेत माफिया आरोपी गुरजीत सिंह को बनाया कैबिनेट मंत्री

पंजाब में नए मंत्रिमंडल का गठन, रेत माफिया आरोपी गुरजीत सिंह को बनाया कैबिनेट मंत्री
X

चंडीगढ़। एक सप्ताह तक मंथन के बाद कांग्रेस हाईकमान ने पंजाब मंत्रिमंडल में नए सदस्यों के नाम पर हरी झंडी दे दी। रविवार शाम साढ़े चार बजे 15 नए मंत्रियों को शपथ दिलाई गयी। मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी के साथ, उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा और ओ.पी. सोनी पहले चरण में शपथ ले चुके हैं।

चन्नी मंत्रालय में शामिल किए जा रहे मंत्रियों में सात नए चेहरों को जोड़ा गया है, जबकि आठ मंत्री अमरिंदर टीम के सदस्य रह चुके हैं। नए मुख्यमंत्री ने पांच पुराने मंत्रियों को बाहर ही रखने का फैसला किया है। हटाए जा रहे मंत्री गुरप्रीत कांगड़, बलबीर सिद्धू, सुंदर शाम अरोड़ा, राणा गुरमीत सोढ़ी, साधु सिंह धर्मसोत शमिल हैं। वैसे एक और नाम पर भी पेच फंसा हुआ है।

विस्तार में विवादास्पद पूर्व मंत्री राणा गुरजीत सिंह, एक कथित रेत खनन माफिया को भी शामिल किया गया। 2017 के विधानसभा चुनावों में सबसे अमीर उम्मीदवार गुरजीत सिंह को 2017 में कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली सरकार में सिंचाई और बिजली मंत्री के रूप में शामिल किया गया था। नवांशहर में 26.51 करोड़ रुपये के रेत खनन के ठेके हथियाने का आरोप लगने के बाद बमुश्किल नौ महीने बाद ही उन्हें इस्तीफा देना पड़ा था। आज मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के नेतृत्व वाली सरकार में उन्हें फिर से जगह मिली है।




Updated : 2021-10-12T16:01:01+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top