Home > राज्य > अन्य > नागालैंड कैबिनेट का फैसला : अफ्सपा को हटाने के लिए केंद्र को लिखा जाएगा पत्र

नागालैंड कैबिनेट का फैसला : अफ्सपा को हटाने के लिए केंद्र को लिखा जाएगा पत्र

मोन जिला में परीक्षाएं अगले आदेश तक स्थगित

नागालैंड कैबिनेट का फैसला : अफ्सपा को हटाने के लिए केंद्र को लिखा जाएगा पत्र
X

कोहिमा। नगालैंड के मोन जिला में शनिवार और रविवार की घटना के बाद से राज्य सरकार लगातार कई कदम उठा रही है। इसी कड़ी में नगालैंड कैबिनेट की मंगलवार को आपात बैठक हुई। इसमें कई निर्णय लिए गए। इनमें नगालैंड से सशस्त्र बल विशेष शक्ति अधिनियम, 1958 (अफ्सपा) को तुरंत निरस्त करने के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखने का फैसला प्रमुख है। यह जानकारी राज्य सचिवालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में राज्य सरकार के प्रवक्ता और योजना मंत्री नीबा क्रोनू ने दी।

राज्य सरकार के प्रवक्ता नीबा क्रोनू ने कहा कि मोन जिले में सेना की कथित गोलीबारी और उसके बाद की घटना पर चर्चा करने के लिए आपातकालीन कैबिनेट बैठक बुलाई गई। सरकार ने उठाए गए कदमों की जानकारी कैबिनेट को दी। सरकार ने बताया कि आईजीपी की अध्यक्षता में एक विशेष जांच दल का गठन किया गया है। इसमें चार अन्य सदस्य शामिल किए गए हैं। कैबिनेट ने फैसला किया है कि एसआईटी अपनी जांच पूरी कर एक महीने के अंदर रिपोर्ट सौंपे।

अफ्स्पा समाप्ति का प्रस्ताव -

उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल ने राज्य से सशस्त्र बल विशेष शक्ति अधिनियम, 1958 (अफ्सपा) को तुरंत निरस्त करने के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखने का भी फैसला किया है। साथ ही कैबिनेट ने राष्ट्रपति को कोन्याक संघ द्वारा प्रेषित मांगों का समर्थन करने का निर्णय लिया है।

प्रवक्ता ने कहा कि मोन जिला में मौजूदा स्थिति के कारण जिला उपायुक्त द्वारा जारी निषेधाज्ञा को ध्यान में रखते हुए मोन जिला स्कूल शिक्षा निदेशालय ने सूचित किया है कि सभी सरकारी और निजी स्कूलों (राज्य बोर्ड, सीबीएसई) की 6 दिसम्बर से आयोजित होने वाली परीक्षाओं को अगले आदेश तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। परीक्षाओं के पुनर्निर्धारण के संबंध में आगे के निर्देश नियत समय में जारी किए जाएंगे।

हार्नबिल महोत्सव का समापन -

नगालैंड सरकार के प्रवक्ता क्रोनू के मुताबिक आयुक्त और सचिव आई किटो झिमोमी (आईआरएस) ने घोषणा की है कि राज्य कैबिनेट ने हॉर्नबिल महोत्सव को बंद करने का फैसला किया है। उन्होंने समय पूर्व महोत्सव को बंद करने के लिए नगालैंड सरकार की ओर से माफी मांगी है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि यह घटना पर्यटकों को फिर से नगालैंड आने के लिए हतोत्साहित नहीं करेगी। उन्होंने पर्यटकों से नगालैंड के लोगों के साथ सहानुभूति रखने का आह्वान किया। झिमोमी ने यह भी कहा कि आज से सभी उत्सव बंद हो जाएंगे, हालांकि कलकारों और शिल्पकारों द्वारा चलाए जा रहे फूड स्टॉल और स्टॉल खुले रहेंगे।

Updated : 2021-12-11T11:50:30+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top