Top
Home > देश > केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन ने पीएम को लिखा खत, यूएई में फंसे प्रवासी भारतीयों को निकालें

केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन ने पीएम को लिखा खत, यूएई में फंसे प्रवासी भारतीयों को निकालें

केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन ने पीएम को लिखा खत, यूएई में फंसे प्रवासी भारतीयों को निकालें

तिरुवनंतपुरम। कोरोना वायरस के चलते इस वक्त दुनिया के अधिकतर देश इस महामारी की गिरफ्त में आ चुके हैं। ऐसे में भारत में उन प्रवासियों की चिंता बढ़ गई है जो विदेशों में फंसे हुए हैं। केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन ने नरेन्द्र मोदी को गुरुवार को खत लिखते हुए यूएई में फंसे प्रवासी भारतीयों की तरफ ध्यान खींचा है। केरल सीएम ने पत्र लिखकर पीएम से आग्रह किया है कि वे यूएई सरकार के साथ इस मुद्दे को उठाएं।

इधर, बहराइच से सांसद रह चुके केरल के मौजूदा राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खां ने जिले से अपना लगाव जाहिर करते हुए लॉकडाउन एक कारण केरल में फंसे बहराइच के कामगारों को सहायता और सुरक्षा के इंतजाम कराए।

बहराइच जिले की पयागपुर सीट से विधायक सुभाष त्रिपाठी ने केरल के एर्नाकुलम में फंसे बहराइच जिले के विशेश्वरगंज निवासी श्रमिकों की व्यथा के बारे में बताते हुए इस सिलसिले में उन्हें एक ईमेल करके मदद मांगी थी। इसका उन्होंने पूरी संजीदगी से न सिर्फ जवाब दिया बल्कि उन कामगारों तक मदद भी पहुंचाई।

त्रिपाठी ने बृहस्पतिवार को बताया, '' उनके विधानसभा क्षेत्र के हजारों लोग देश के विभिन्न प्रांतों में नौकरी कर रहे हैं। लाकडाउन में ज्यादातर लोग तो वापस आ चुके हैं लेकिन क्षेत्र के विशेश्वरगंज इलाके के संसाधन विहीन करीब 1,200 लोग विभिन्न राज्यों में फंसे हुए हैं। विधायक ने बताया, ''केरल राज्य कोरोना वायरस के संक्रमण से अधिक प्रभावित है। इस कारण वहां फंसे अपने लोगों की चिंता ज्यादा है। केरल के एर्नाकुलम जिले में विशेश्वरगंज के कुछ लोग फंसे हुए हैं।

त्रिपाठी ने बताया, '' केरल में फंसे बहराइच के लोगों के लिए वहां के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खां को पिछले दिनों ईमेल के जरिए पत्र भेजा तो उन्होंने तत्काल संवेदनशीलता दिखाते हुए केरल के अधिकारियों से विशेश्ववरगंज के सभी लोगों की तलाश कर उन्हें सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

उन्होंने बताया, '' कुछ ही घंटों में उनके पास सहायता पहुंच गयी। इस बारे में उन्होंने ईमेल किए गए पत्र के माध्यम से जानकारी भी दी। विधायक ने गत पांच अप्रैल को भेजा गया खां का पत्र सार्वजनिक करते हुए बताया कि राज्यपाल ने एर्नाकुलम में मौजूद बहराइच के लोगों को सहायता पहुंचाने व उनके सुरक्षित होने की सूचना ईमेल द्वारा मुझे दी है। मालूम हो कि आरिफ मोहम्मद खां का बहराइच से काफी पुराना नाता रहा है। वर्ष 1984 में यहां से सांसद चुने जाने के बाद वह 2004 तक बहराइच से ही लोकसभा चुनाव लड़ते रहे।

Updated : 2020-04-09T20:33:35+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top