Home > राज्य > अन्य > लॉकडाउन में घर से बाहर निकली पांच लड़कियों से गैंगरेप, एक की हत्या

लॉकडाउन में घर से बाहर निकली पांच लड़कियों से गैंगरेप, एक की हत्या

लॉकडाउन में घर से बाहर निकली पांच लड़कियों से गैंगरेप, एक की हत्या
X

झारखंड। कोरोना वायरस से बचने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के बीच झारखंड से शर्मसार कर देने वाली खबरें सामने आ रही है। यहां अलग अलग जगहों पर लॉकडाउन में घर से बाहर निकली लड़कियों से सामूहिक दुष्कर्म जैसी वारदात को अंजाम दिया गया है। पहली घटना खूंटी जिले के कर्रा इलाके में हुई जबकि दूसरी घटना गुमला टाउन थाना इलाके में। दोनों जगहों पर दो-दो लड़कियों को हवस का शिकार बनाया गया है। वहीं देवघर में ठढ़ियारा गांव में लॉकडाउन के बीच घर से बाहर निकली एक छात्रा की सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई।

गुमला की घटना में 12 युवकों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज है। वहीं कर्रा की घटना में नौ लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है। पुलिस ने सभी नौ को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार लोगों छह नाबालिग हैं। खूंटी एसपी ने बताया कि पीड़िताओं को मेडिकल जांच के लिए भेजा गया है। जानकारी के अनुसार कर्रा की घटना को दो अप्रैल को तब अंजाम दिया गया जब दोनों लड़किया अपनी सहेलियों के साथ सरनाबाड़ी के पास बैठकर बातचीत कर रही थीं। इसी बीच गांव के नौ युवक वहां पहुंचे। वे नाबालिगों को पकड़ने लगे, परंतु तीन नाबालिग भाग निकलीं। दो नाबालिगों को हैवानों ने पकड़ लिया और जंगल की ओर ले गए जहां घटना को अंजाम दिया। उधर, गुमला में गैंगरेप की घटना को तब अंजाम दिया गया जब लड़कियां गांव के ही स्कूल के पास से दो दोस्तों से मिलकर लौट रहीं थीं।

झारखंड के देवघर में ठढ़ियारा गांव में लॉकडाउन के बीच घर से बाहर निकली छात्रा की सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई। छात्रा के शरीर पर पांच जगह धारदार हथियार से वार किए गए। उसके मुंह, आंख, जांघ व नाजुक अंग पर वार के निशान मिले हैं। पुलिस ने पिता की शिकायत पर तीन नामजदों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

मृतका के पिता की ओर से पुलिस को दिए गए बयान के अनुसार छात्रा आठ अप्रैल को दोपहर तीन बजे साइकिल से पास के गांव में पुराने कपड़े सिलाने गई थी। इसके बाद लौटकर घर नहीं आयी। खोजबीन करने पर भी कुछ भी पता नहीं चला। पिता ने मोहनपुर थाने में गुरुवार को गुमशुदगी की शिकायत दर्ज करायी। पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया। इसी बीच ग्रामीणों से मिली जानकारी के आधार पर गांव निवासी एक व्यक्ति को शिवनगर निवासी एक व्यक्ति के घर भेजा गया परंतु वह घर पर नहीं मिला। शुक्रवार सुबह खोजबीन के दौरान भगवानपुर-घोरमारा रोड पर सरैया जंगल में क्षत-विक्षत अवस्था में छात्रा की लाश मिली। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची।

मृतका के पिता ने पुलिस को बताया कि जब वह और उनकी पत्नी घर पर नहीं होते थे, उस वक्त शिवनगर निवासी विष्णु यादव पहुंचता था। उसे गांव निवासी जागेश्वर यादव और रीतलाल यादव बुलाते थे। उन्होंने इन्हीं तीनों पर पुत्री के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस ने तीनों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज की है

Updated : 11 April 2020 5:49 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top