Home > राज्य > अन्य > भारत का सबसे बड़ा सेप्टिक टैंक परसराम झील

भारत का सबसे बड़ा सेप्टिक टैंक परसराम झील

भारत का सबसे बड़ा सेप्टिक टैंक परसराम झील
X

नरसिंहगढ़। राजधानी भोपाल की कोख में बसी धार्मिक, इतिहासिक नगरी मालवा ए कश्मीर नरसिंहगढ़ की खूबसूरती की वीनस परसराम झील को विधायक राजवर्धन सिंह,सीनियर समाजसेवी, चिंतक,प्रकर्ति प्रेमी श्याम उपध्याय, बीके गुप्ता, जीएस परमार आदि भारत का सबसे बड़ा सेप्टिक टैंक मानते है। इसकी ठोस वजह भी है।

पिछले 40 सालों में आबादी के विस्फोट, अवैध निर्माण, झील में को दूषित करने के जिम्मेदार 06 नाले। ये नाले 40 हजार आबादी की गंदगी सीधे झील में उंडेल देते है। सेकड़ो भवन सेप्टिक टैंक बनाने की बजाय सीधे झील के हवाले मल्ल कर देते है। नतीजन जल में पारा सहित अन्य घातक रसायनों ने ऑक्सीजन का बंटाधार कर दिया। जल जीव पनप ही नही पाते। किसी जमाने मे आबाद रहने वाले घाट अब उठती बदबू की वजह से किसी को चहल कदमी नही करने देते।

झील का कायाकल्प करने के लिए विधायक राजवर्धन सिंह ने कार्ययोजना को अंतिम रूप दिया है। कार्ययोजना को बिंदुवार अमली जामा पहनाया श्याम उपाध्याय, बीके गुप्ता आदि ने। एसडीएम भी चेतन्य ओर सक्रिय है। मगर नोकरशाही की किंतु, परन्तु सबसे बड़ा रोड़ा लगता है।

झील को शुद्ध,निर्मल करना कठिन नही है। जरूरत है। झील में गंदगी उंडेलने वाले 06 नालों का रुख झील के नाके की तरफ करने ओर मल्ल फेकने वाले घरो की मुश्के कसने की। विधायक सिंह का दावा है कि यदि नगर के व्यापक हित ओर भविष्य को देखते हुए निर्णय ले तो कोई बहुत बड़े खर्च की जरूरत नही लगती। बाल अब प्रशासन के पाले मे है। प्रशासन तकनीकी ज्ञाताओं को सक्रिय कर दे तो मंसूबे बरदान में बदल सकते है।

Updated : 13 July 2021 5:30 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top